Marwar ki mast malaai-मारवाड़ की मस्त मलाई compleet

Discover endless Hindi sex story and novels. Browse hindi sex stories, adult stories ,erotic stories. Visit mz.skoda-avtoport.ru
rajaarkey
Platinum Member
Posts: 3125
Joined: 10 Oct 2014 04:39

Re: Marwar ki mast malaai-मारवाड़ की मस्त मलाई

Unread post by rajaarkey » 13 Dec 2014 16:46

मारवाड़ की मस्त मलाई पार्ट --14



गतांक से आगे........................

हमारा स्टे 3 दिन ज़ियादा हो गया और इन्न सारे दीनो मे शॉपिंग के साथ साथ चुदाई भी फुल चलती रही. वापिस आने के टाइम पे इत्तेफ़ाक़ से ट्रेन के ए/सी के फर्स्ट क्लास कॉमपार्टमेंट मे

हमारा कूप अलग से था जहा और कोई नही आने वाला था और सिर्फ़ हमारे लिए ही रिज़र्व था. हम ने कूप को अंदर से बंद कर लिया और हयदेराबाद आने तक नंगे ही रहे और बस चुदाई ही करते रहे. अभी हम पूना तक हीपहुँचते थे और मैं बाथरूम से बाहर निकला तो पिंकी का फोन आया और आंटी उस से खूब हंस हंस के बातें कर रही थी और अपनी सेहत का ख़याल रखने के लिए बोल रही थी और उसको मुबारक बाद दे रही थी. फोन कट करने के बाद आंटी बोहोत ख़ुसी के साथ किसी 16 साल की लड़की की तरह से मेरे नंगे बदन से लिपट गयी और बोली आज मैं बोहोत खुश हू. थॅंक्स राजा यू आर ग्रेट आइ लव यू वेरी मच राजा तो मैं ने बोला के अरे आंटी आख़िर हुआ क्या अब बोलो तो सही तो उन्हो ने बोला के एक बड़ी ज़बरदस्त खुशख़बरी है तो मैं ने पूछा के क्या ? तो उन्हो ने मेरे गले लगते हुए कान मे धीरे से बोला के पिंकी प्रेग्नेंट हो गई है तो मैं ने बोला के वाउ आंटी अब आप नानी बनने वाली हो तो वो मुझे किस करते हुए बोली के राजा मुझे पता है के यह तुम्हारी मेहेरबानी के ही कारण हुआ है थॅंक्स राजा तुम ने पिंकी को वो खुशी दी है जो उसका शोहेर भी उसको नही दे सका और अब वो तुम्हारी संतान को जनम देने वाली है राजा और मेरे होटो को चूमते हुए बोली के तुम भी तो बाप बन ने वाले हो राजा. तो मैं ने कहा के अरे आंटी यह क्या बोल रही हो आप इस मे मेरा क्यों थॅंक्स बोल रही हो और मैं ने ऐसा क्या कर दिया पिंकी के साथ तो उन्हो ने मस्ती मे मेरे लंड को अपने हाथ से पकड़ के दबाते हुए बोला के तुम क्या समझते हो राजा के मुझे कुछ मालूम नही है. अरे मैं तो तुम्हारे और पिंकी के बारे मे सब कुछ जानती हू और मुझे तो यह भी मालूम है के तुम ने पिंकी को सब से पहले कब और कहा चोदा था तो मेरी आँखें हैरत से खुली की खुली रह गयी तो वो बोली के मुझे गंगू बाई ने सब कुछ बता दिया था. उसने ही तो वो खून से भीगी चादरो को धोया था और गंगू बाई को तो यह भी पता लग गया है के तुम ने पिंकी को और लक्ष्मी को एक साथ चोदा और उनकी भी सील तोड़ी है वो तो लक्ष्मी की सील तोड़ने पे तुम्हारे ऊपेर बोहोत गुस्से मे थी के उसकी इतनी छोटी बेटी को तुम ने चोद डाला पर मैं ने पैसे दे दिला के बात को संभाल लिया और अब मुझे तुम्हारा यह मूसल देख के पता चला के पिंकी आख़िर तुम्हारी इतनी दीवानी क्यों है. मैं असचर्या से आंटी की बातें सुन रहा था. आंटी फिर से बोली के मुझे तो तुम्हारे और शांति के बारे मे भी मालूम है. शांति के नाम से वो कुछ उदास हो गयी. मैं ने पूछा तो बोली के मुझे मालूम है राजा मैं ने उसको बोहोत दीनो तक स्नान करते टाइम नंगा देखा है और मुझे पता है के वो भी किसी काम का नही है और उसकी हालत पिंकी के शोहेर लाला से कम नही है तो मैं ने बोला के आंटी मैं ने उसको कितनी टाइम बोला के चलो किसी डॉक्टर से बात कर लेते है तो उसने मना कर दिया और बोला के मैं मर जाउन्गा पर डॉक्टर के पास नही जाउन्गा. यह सुन के आंटी की आँख से आँसू बहने लगे तो मैं ने उनको अपनी बाँहो मे ले लिया और उनके आँसू को अपने होटो से ले कर पीने लगा और अपनी बाँहो मे ले के बोला के आंटी आप फिकर ना करो सब ठीक हो जाएगा तो उन्हो ने कहा के क्या ठीक हो जायगा और कैसे ठीक हो जाएगा राजा तो मैं ने बोला के देखते है आंटी शादी तो हो जाने दो हो सकता है के शादी के बाद पायल के साथ रहते रहते शांति ठीक हो जाए नही तो मैं उसको किसी भी तरह से मना लूँगा और किसी डॉक्टर से कन्सल्ट करलेंगे तो आंटी ने कहा के ठीक है मुझे यकीन है तुम तीनो मिल के कोई ना कोई सल्यूशन ज़रूर निकाल लोगे और नही तो राजा तुम्है फिर से मेरी मदद करनी होगी और हमारे खानदान की लाज रखनी होगी तो मैं ने बोला आंटी हो सकता है के पायल समझ जाए और वो किसी ना किसी तरह से हालात से समझोता कर ले तो आंटी ने बोला के नही राजा मुझे मालूम है कोई भी जवान लड़की सेक्स के मामले मे समझोता नही कर सकती और मुझे से बहतेर कौन जान सकता है के लड़की अपने जज़्बात पे काबू नही रख सकती उसकी चूत को तो किसी आछे मोटे तगड़े लंड का सुख चाहिए ही चाहिए और जब तक के उसकी चूत मे लंड की गरम गरम मलाई नही गिर जाती वो कभी भी सुखी नही रह सकती और पायल तो अभी बिल्कुल जवान लड़की है और सेक्सी भी है तो वो कैसे सबर कर सकती है तो मैने ने बोला आंटी छोड़ो ना अब वो सब बाद मे देखते है अभी तो हमारे पास जितना टाइम हे उसका भरपूर उपयोग तो करे तो आंटी मुस्कुरा दी और बोली के हा यह भी ठीक है फिर पता नही कितने दीनो बाद चोदने का मोका मिले तो चलो आजओ और चोद डालो एक बार फिर से अपनी चुड़क्कड़ आंटी को.

मैने उनको सीट पे लिटा के उनकी चूत को चूसा, आंटी तो जैसे पागल हो जाती थी चूत पे मूह रखते ही उनकी गंद उठ गयी और अपनी चूत को मेरे मूह से रगड़ने लगी और साथ मेी सस्स्स्स्स्स्स्स्सस्स आअहह उउउउउउउउउउउ जैसी मस्ती मे भरी आवाज़े भी निकालती जा रही थी. उनकी चूत को चाट चाट के झाड़ा दिया और फिर उनकी टाँगो के बीच मिशनरी पोज़िशन ले के उनकी टाइट चूत को चोदना शुरू कर दिया तो आंटी बोली के राजा आज मुझे जितना ज़ोर से चोद सकते हो चोदो और एक बार फिर से मेरी चूत को चोद चोद के फाड़ डालो तो मैं ने अपने हाथो से ट्रेन की खिड़की के लोहे के रोड को पकड़ लिया और फिर पूरी ताक़त से आंटी की चूत अपने मूसल लंड से चुदाई करता रहा पूरा लंड चूत के बाहर तक निकाल निकाल के मारता तो आंटी के मूह से हप्प्प्प्प हप्प्प ह्ह्ह्ह्न्न्न्न्न जैसी आवाज़ें निकल जाती. इतनी पवरफुल चुदाई से आंटी के आँखो से एक बार फिर से खुशी का पानी निकल के उनके गालो से होता हुआ ट्रेन की सीट पे गिरने लगा. अब आंटी की टाँगें मेरी गंद से लिपटी हुई थी और वो अपने हाथो से मुझे अपने बदन से दबा रही थी और

अपनी टाँगो से मुझे अपनी तरफ खेच रही थी और मेरे बदन से बड़ी ज़ोर से लिपटी हुई अपनी गंद उचका उचका के बड़े मज़े से चुद्वति रही और तकरीबन आधे घंटे की मस्त पवरफुल चुदाई के बाद मेरी मलाई रेडी हो गयी इतने टाइम मे आंटी तो शाएद 4 या 5 बार झाड़ चुकी थी और मेरे फाइनल झटके तो बोहोत ही पवरफुल थे जिस से आंटी का पूरा बदन अर्तक्वेक जैसा हिल रहा था और फिर मेरे लंड मे से गरम गरम मलाई की मोटी मोटी धारियाँ निकल के आंटी की चूत को भरने लगी और मेरी मलाई आंटी की चूत के अंदर गिरते ही उनका बदन एक बार फिर से बहुत ज़ोर से काँपने लगा और वो मुझ से लिपट के झड़ने लगी और बोहोत देर तक झड़ती चली गयी. मेरे लंड को आंटी की चूत के मसल्स निचोड़ निचोड़ के एक एक ड्रॉप मलाई का चूसने लगे और दोनो की मलाई निकलने के बाद हम दोनो शांत हो गये. सारी रात का सफ़र था पर हम रात भर जागते और चुदाई करते ही रहे थे. सुबह ट्रेन नामपल्ली स्टेशन पर पहुँच गयी और हमै लेने के लिए शांति कार ले कर आया था. ट्रेन से उतरने से पहले आंटी ने मुझे कसम दी के मैं किसी तरह से भी शांति और पायल की मदद करू तो मैं ने हा करदी और बोला के आंटी अगर आप की यही इक्चा है तो मैं जैसा आप कहेगी मैं वैसा ही करूँगा और उनकी शादी को टूटने नही दूँगा तो आंटी खुश हो गयी और फिर हम ट्रेन से उतर कर कार मे बैठ के घर आ गये.

--

साधू सा आलाप कर लेता हूँ ,

मंदिर जाकर जाप भी कर लेता हूँ ..

मानव से देव ना बन जाऊं कहीं,,,,

बस यही सोचकर थोडा सा पाप भी कर लेता हूँ

आपका दोस्त

राज शर्मा

(¨`·.·´¨) ऑल्वेज़

`·.¸(¨`·.·´¨) कीप लविंग &

(¨`·.·´¨)¸.·´ कीप स्माइलिंग !

`·.¸.·´ -- राज

Mast Marwari Malaai ( MMM )--paart--14

Hamara stay 3 din ziada ho gaya aur inn sare dino mai shopping ke sath sath chudai bhi full chalti rahi. Wapis aane ke time pe ittefaq se train ke A/C ke first class compartment mai

hamara coupe alag se tha jaha aur koi nahi aane wala tha aur sirf hamare liye hi reserve tha. Ham ne coupe ko ander se band kar lia aur Hyderabad aane tak nange hi rahe aur bass chudai hi karte rahe. Abhi ham Poona tak hi pohochte the aur mai bathroom se baher nikla to Pinky ka phone aaya aur aunty us se khoob hans hans ke batein kar rahi thi aur apni sehat ka khayal rakhne ke liye bol rahi thi aur usko Mubarak bad de rahi thi. Phone cut karne ke baad aunty bohot khusi ke sath kisi 16 saal ki ladki ki tarah se mere nange badan se lipat gayee aur boli aaj mai bohot khush hu. Thanks Raja you are great I Love you very much Raja to mai ne bola ke arey aunty aakhir hua kia hui bolo to sahi to unho ne bola ke ek badi zabardast khushkhabri hai to mei ne poocha ke kia ? to unho ne mere gale lagte hue kaan mai dheere se bola ke Pinky pregnant ho gai hai to mai ne bola ke Wow aunty ab aap naani banne wali ho to wo mujhe kiss karte hue boli ke Raja mujhe pata hai ke yeh tumhari meherbani ke hi karan hua hai Thanks raja tum ne Pinky ko wo khushi di hai jo uska shoher bhi usko nahi de saka aur ab wo tumhari santan ko janam dene wali hai Raja aur mere hoto ko choomte hue boli ke tum bhi to baap nan ne wale ho Raja. To mai ne kaha ke arey aunty yeh kia bol rahi ho aap iss mei mera kyon thanks bol rahi ho aur mai ne aisa kia kar dia pinky ke sath to unho ne masti mei mere Lund ko apne hath se pakad ke dabate hue bola ke tum kia samajhte ho Raja ke mujhe kuch malum nahi hai. Arey mai to tumhare aur pinky ke bare mai sab kuch janti hu aur mujhe to yeh bhi malum hai ke tum ne Pinky ko sab se pehle kab aur kaha chod tha to meri aankhein hairat se khuli ki khuli reh gayi to wo boli ke mujhe Gangu Bai ne sab kuch bata dia tha. Usne hi to wo khoon se bheegi chadaro ko dhoya tha aur Gangu Bai ko to yeh bhi pata lag gaya hai ke tum ne Pinky ko aur Lachmi ko ek sath choda aur unki bhi seal todi hai wo to lachmi ki seal todne pe tumhare ooper bohot gusse mai thi ke uski itni choti beti ko tum ne chod dala par mai ne paise de dila ke baat ko sambhal lia aur ab mujhe tumhara yeh musal dekh ke pata chala ke Pinky aakhir tumhari itni deewani kyon hai. Mai ascharaay se aunty ki batein sun raha tha. Aunty phir se boli ke mujhe to tumhare aur Shanti ke bare mai bhi malum hai. Shanti ke naam se wo kuch udas ho gayi. Mai ne poocha to boli ke mujhe malum hai Raja mai ne usko bohot dino tak snan karate time nanga dekha hai aur mujhe pata hai ke wo bhi kisi kaam ka nahi hai auruski halat Pinky ke shoher Lala se kam nahi hai to mai ne bola ke aunty mai ne usko kitni time bola ke chalo kisi doctor se bat kar lete hai to usne mana kar dia aur bola ke mai mar jauga par doctor ke pas nahi jaunga. Yeh sun ke aunty ki aankh se aansoo behne lage to mai ne unko apni baho mai le lia aur unke aansoo ko apne hoto se le kar peene laga aur apni baho mai le ke bola ke aunty aap fikar na karo sab theek ho jayega to unho ne kaha ke kia theek ho jayga aur kaise theek ho jayega Raja to mai ne bola ke dekhte hai aunty shadi to ho jane do ho sakta hai ke shadi ke baad Payal ke sath rehte rehte Shanti theek ho jaye nahi to mai usko kisi bhi tarah se mana lunga aur kisi doctor se consult karlenge to Aunty ne kaha ke theek hai mujhe yakeen hai tum teeno mil ke koi na koi solution zaroor nikal loge aur nahi to Raja tumhai phir se meri madad karni hogi aur hamare khandaan ki laaj rakhni hogi to mai ne bolake aunty ho sakta hai ke Payal samajh jaye aur wo kisi na kisi tarah se halaat se samjhota kar le to aunty ne bola ke nahi Raja mujhe malum hai koi bhi jawan ladki sex ke mamle mai samjhota nahi kar sakti aur mujhe se behter koun jaan sakta hai ke ladki apne jazbaat pe kaboo nahi rakh sakti uski choot ko to kisi ache mote tagde Lund ka sukh chahiye hi chahiye aur jab tak ke uski choot mai Lund ki garam garam malai na gir jati wo kabhi bhi sukhi nahi reh sakti aur payal to abhi bilkul jawan ladki hai aur sexy bhi hai to wo kaise sabar kar sakti hai to maine ne bola aunty chhoro na ab wo sab baad mai dekhte hai abhi to hamare pas jitna time hei uska bharpoor upyog to kare to aunty muskura di aur boli ke haa yeh bhi theek hai phir pata nahi kitne dino baad chodne ka moka mile to chalo aajao aur chod dalo ek bar phir se apni chudakkad aunty ko.

Mai unko seat pe lita ke unki choot ko choosa, aunty to jaise pagal ho jati thi choot pe muh rakhte hi unki gand uth gayee aur apni choot ko mere muh se ragadne lagi aur sath mei ssssssssssss aaahhhhhhhhhhhhh uuuuuuuuuuu jaisi masti mai bhari awazin bhi nikalti ja rahi thi. Unki Choot ko chaat chaat ke jhada dia aur phir unki tango ke beech missionary position le ke unki tight choot ko chodna shuru kar dia to aunty boli ke Raja aaj mujhe jitna zor se chod sakte ho chodo aur ek baar phir se meri choot ko chod chod ke phaad dalo to mai ne apne hatho se train ki khidki ke lohe ke rod ko pakad lia aur phir poori takat se aunty ki choot apne Musal Lund se chudai karta rha poora Lund choot ke baher tak nikal nikal ke maarta to aunty ke muh se hhhppppp hhhhppp hhhhnnnnn jaisi awazein nikal jati. Itni powerful chudai se aunty ke aankho se ek bar phir se khushi ka pani nikal ke unke galo se hota hua train ki seat pe girne lagi. Ab Aunty ki tangein meri gand se lipti hui thi aur wo apne hatho se mujhe apne badan se daba rahi thi aur

apni tango se mujhe apni taraf khech rahi thi aur mere badan se badi zor se lipti hui apni gand uchka uchka ke bade maze se chudwati rahi aur takreeban aadhe ghante ki mast powerful chudai ke bad meri malai ready ho gayee itne time mei aunty to shaed 4 ya 5 baar jhad chuki thi aur mere final jhatke to bohot hi powerful the jis se aunty ka poora badan earthquake jaisa hil raha tha aur phir mere Lund mai se garam garam malai ki moti moti dhariyan nikal ke aunty ki choot ko bharne lagi aur meri malai aunty ki choot ke ander girte hi unka badan ek baar phir se bohto zor se kaanpne laga aur wo mujh se lipat ke jhadne lagi aur bohot der tak jhadti chali gayee. Mere Lund ko aunty ki choot ke muscles nichod nichod ke ek ek drop malai ka choosne lage aur dono ki malai nikalne ke bad ham dono shant ho gaye. Sari raat ka safar tha par ham raat bhar jagte aur chudai karte hi rahe the. Subah train Nampally station par pohoch gayi aur hamai lene ke liye Shanti car le kar aaya tha. Train se utarne se pehle aunty ne mujhe kasam di ke mai kisi tarah se bhi Shanti aur payal ki madad karu to mai ne haa kardi aur bola ke aunty agar aap ki yehi iccha hai to mai jaisa aap kahegi mai waisa hi karunga aur unki shaadi ko tootne nahi doonga to aunty khush ho gayee aur phir ham train se utar kar car mai baith ke ghar aa gaye.


rajaarkey
Platinum Member
Posts: 3125
Joined: 10 Oct 2014 04:39

Re: Marwar ki mast malaai-मारवाड़ की मस्त मलाई

Unread post by rajaarkey » 13 Dec 2014 16:48

मारवाड़ की मस्त मलाई पार्ट --15



गतांक से आगे........................

शाँतिलाल की शादी

फाइनली वो दिन भी आ गया जब शांति की शादी हो रही थी. ससुराल से गिफ्ट मे शांति को एक दम से नया फुल्ली फर्निश्ड लग्षूरीयस डबल स्टोरी बंगला जिसका बॅकयार्ड तकरीबन आधा कीलोमेटेर होगा जिस्मै एक छोटा सा गार्डेन और एक प्राइवेट स्विम्मिंग पूल भी था जो हयदेराबाद के आउट्स्कियर्ट मे पिक्कनिक स्पॉट शमीरपेट पे बनाया गया था जसकी हर चीज़ किसी वर्जिन की तरह से अनटच्ड थी और जहा उनके हनिमून का इंतेज़ाम किया गया था वो बंगला मिला और एक नयी ब्रांड न्यू शोरुम से ली हुई ज़ीरो किलोमेटेर वाली एरकॉनडिशंड फुल्ली ऑटोमॅटिक इंनोवा कार मिली और साथ मे ढेर सारे पैसे और सोना वगैहरा.

शांति शादी के मंडप मे बैठा था. गोलडेन कलर की स्पेशल मारवाड़ी शेरवानी और चूड़ी दार पाजामा और सर पे गोलडेन मोटी और स्टोन्स से चमकती पगड़ी मे शांति बोहोत स्मार्ट लग रहा था. उसका कलर भी एक दम से गोरा हो गया था. ऊपेर से तो पूरी जवानी मे लग रहा था पर पता नही उसका दिल क्या कह रहा था और उसकी नुन्नि का क्या हाल हो रहा था.

पायल उसके करीब घूँघट निकाले बैठी बे इंतेहा खूबसूरत लग रही थी. पायल का रंग तो क्या बताउ दोस्तो बॅस यूँ समझ लो के दूध मे किसी ने थोड़ी सी केसर मिला दी हो, उसके गाल किसी कश्मीरी सेब की तरह गुलाबी लग रहे थे जिस्मै मुस्कुराते समय दो जान लेवा डिंपल्स भी पड़ जाते, उसकी लाइट ब्राउन कलर की बड़ी बड़ी हिरनी जैसी आँखें थी, जब धीरे से मुस्कुराती तो उसके मोटी जैसे दाँत अपनी चमक बिखेर देते, वो लाल चमकती हुई सारी पहेने थी जिस पे मोटी और चमकदार तराशे हुए स्टोन्स लगे थे जो रोशनी मे हीरे जैसे चमक रहे थे. माँग मे गोल्ड और डाइमंड का टीका था, नाक मे हीरे की लौंग जो हर लम्हा रोशनी से चमक रही थी. हाथों मे नगो के कड़े और सोने की चूरियाँ. मेरा यकीन करे मैं ने इतनी खूबसूरत दुल्हन आज से पहले कभी नही देखी. इन शॉर्ट वो आसमान से उतरी कोई अप्सरा लग रही थी. मंडप मे बैठे कितने ही नौजवानो के लंड उसकी खूबसूरती देख के अकड़ गये होंगे या पानी छोड़ चुके होंगे पता नही और मेरे लंड का हाल तो मत पूछो बोहोत ही बुरा हाल था उसको बस बड़ी मुस्किल से काबू मे रखा हुआ था. आज दुल्हन बनी पायल नॉर्मल फॉर्मल पायल से बिल्कुल ही अलग लग रही थी जिस पे से नज़र हट ही नही रही थी.

दिन भर मारवाड के रीति रिवाज के मुताबिक रसम वाघहैरा चलते रहे उधर गेस्ट्स के लिए खाना पीना चलता रहा. रात भी बोहोत हो गयी थी.

शांति और पायल की शादी कंप्लीट हो गयी तो फिर रात तकरीबन 2 बजे के करीब शांति और पायल को उनके सजे सजाए कमरे मे ले जाने लगे तो शांति ने मेरा हाथ पकड़ लिया और मेरे से धीरे से बोला के हे राज यार अब मैं क्या करू मुझे तो बोहोत डर लग रहा है तो मैं ने बोला के यार फिकर ना कर सब ठीक हो जाएगा. कॉन्फिडेन्स के साथ जा और पहले उसको चूम चाट के अच्छी तरह से गरम कर दे उसके बाद अपने लंड को उसकी गरम और गीली चूत मे घुसा दे तो उसका चेहरा लाल हो गया और बोला के तुझे तो सब पता है ना यार तो मैं ने बोला के अरे फिकर ना कर और सुन डरे गा तो कुछ भी नही कर सके गा इसी लिए डर मत्त और एक दम से कॉन्फिडेन्स से जा कोई प्राब्लम नही होगी और ऐसा कुछ हुआ तो मुझे कॉल कर लेना मैं लास्ट मिनिट्स एमर्जेन्सी टिप्स दे दूँगा. अभी तो मैं अपने घर जा रहा हू लैकिन तू मेरे कू कभी भी कॉल करले कोई प्राब्लम नही तेरे लिए मैं सब कुछ करूँगा तो उसने बोला के सच सब कुछ करेगा तो मैं ने कहा हा यार सब कुछ करूँगा तो उसने पूछा पक्का तो मैं ने बोला के हा यार पक्का तो फिर उसने बोला के तो फिर चल ना मेरे कमरे मे हमारे साथ, तू साथ रहेगा तो मेरी हिम्मत रहेगी तो मैने बोला के अरे यार यह क्या पागलो जैसी बात कर रहा है सारा घर

मेहमानो से भरा है तेरे सारे रिलेटिव्स आए हुए है तू ऐसी बात कर रहा है. पागल ना बन और जा अपने कमरे मे और मेरे कू जब मर्ज़ी आए कॉल कर्लेना मैं जाग रहा हू तू किसी बात की फिकर ना कर.

शांति और पायल को उनके कमरे तक छोड़ने के लिए पिंकी भी आई हुई थी. पिंकी पायल का हाथ पकड़े हुए थी और शांति मेरा हाथ पकड़ा हुआ मुझ से बातें कर रहा था. जैसे ही शांति और पायल अपने कमरे मे गये, पिंकी मेरे साथ लिपट गयी और रोने लगी तो मैने बोला के अरे यह क्या कर रही हो ऐसे शुभ अवसर पर तुम रो रही हो तो उसने बोले के मेरे प्यारे प्यारे राजा यह मेरी खुशी के आँसू है मैं आज बे इंतेहा खुश हू तुम्हारा दिया हुआ तोहफा अब मेरी जान के अंदर पल रहा है मैं तुम्हारा जितना भी शुक्रिया अदा करू कम है. तुम मेरे भगवान हो मेरे राजा और मैं तुम्हारी पूजा करने लगी हू अब और आइ लव यू फ्रॉम दा बॉटम ऑफ माइ हार्ट आंड सोल मेरे राजा तुम ने मुझे मा बनने का सुख दिया है. मेरी सूनी कोख मे अपना बीज डाल दिया है जिसे मैं हमेशा अपने कलेजे से लगा कर रखूँगी तो मैं ने कहा के आइ लव यू वेरी मच पिंकी और उसको चूमने लगा फिर हम दोनो वापस नीचे आगाये और मैं अपने घर चला गया और कपड़े चेंज कर के सोने के लिए बिस्तर मे लेट गया और सोचने लगा के अब शांति और पायल क्या कर रहे होंगे. यह सोचते सोचते मेरी आँख लग गयी. आक्च्युयली मैं केयी दीनो से शादी के कामो मे बिज़ी था इसी लिए अब थकान से मुझे नींद आ गयी थी और मैं गहरी नींद सो गया.

सुबह 11 बजे के करीब डोर बेल से आँख खुली, देखा तो पिंकी खड़ी थी. मैं ने उसको अंदर बुला लिया और डोर को लॉक कर दिया. मॉर्निंग एरेक्षन से मेरा लौदा अकड़ चुका था और मेरी बॉक्सर्स शॉर्ट्स मे टेंट बना हुआ था तो पिंकी मेरे लंड को हाथ से पकड़ते हुए बोली के आहहा राजा शाएद इसे कोई चूत नही मिली मारने के लिए इसी लिए यह इतना तड़प रहा है तो मैं ने बोला के यह तुम्हारी चूत के लिए ही तो तड़प रहा है मेरी पिंकी जान. मुझे पता था के पिंकी को डॉक्टर्स ने बेड रेस्ट बताया हुआ है इसी लिए उसको चोदने का सलवाल ही नही उठ ता था. मैं बाथरूम मे जाते हुए पिंकी को बोला के मैं अभी शवर ले के आता हू तो उसने कहा के ठीक है मैं जब तक तुम्हारे लिए ब्रेकफास्ट बना देती हू. मेरे बाथरूम से बाहर आने तक ब्रेकफास्ट रेडी था. हम दोनो ने साथ ही ब्रेकफास्ट किया और कॉफी पीने लगे तो मैं ने पूछा के तुम्हारे हज़्बेंड लाला और सास का क्या हाल है तो उसने बोला के लाला का तो वोही हाल है डिन्नर के बाद 10 मिनिट के अंदर सुव्वर ( पिग ) जैसे सो जाता है और सास ठीक है तुम्है बोहोत याद करती रहती है और मुन्नी से चूत का मसाज भी रेगौलर करवाती है तो मैं ने कहा के हा मैं आउन्गा किसी दिन टाइम निकाल के और उनको चोदुन्गा. मैं सुनीता देवी को पहले ही 5 – 6 बॉटल्स का शॅंपेन और विस्की का स्टॉक दे चुका था इसी लिए अभी वोही स्टॉक यूज़ कर रही थी. ब्रेकफास्ट के बाद प्लेट्स वाघहैरा क्लीन कर के पिंकी मेरे रूम मे आ गयी और हम दोनो किस करने लगे और पिंकी तो फॉरन ही मेरे लंड को पकड़ लिया और बोला के आइ मिस उर लंड राजा. मैं कैसे रहू इसके बिना डेलिवरी तक तो अपनी चूत को कैसे संभाल पाउन्गि बिना इश्स लंड के तो मैं ने बोला के पिंकी तुम्हाई डॉक्टर ने बेड रेस्ट बोला है तो चुदाई तो मैं नही करूँगा हम कोई रिस्क नही ले सकते हा हम 69 मैं एंजाय करेंगे और फिर दोनो नंगे हो गये और 69 मे वो मेरा लंड चूसने लगी और मैं उसकी चूत. थोड़ी देर मे ही हम दोनो एक दूसरे के मूह मे खल्लास हो गये. पिंकी ने बड़े मज़े से मेरी मलाई खाई. थोड़ी देर पिंकी मेरे बेड पे ही मुझ से लिपट के लेटी रही. करवट लेते हुए मेरे लंड को अपनी चूत मे घिस्सती भी रहती और कभी कभी खुशी से रोती भी रही. तकरीबन 2 बजे के करीब वो अपने घर चली गयी.

लगभग 3 बजे के करीब पूजा आंटी का फोन आया बोल रही थी के लंच वही खाना है तो मैं ने पूछा के क्या हाल है दूल्हा और दुल्हन का आंटी, तो वो बोली के पता नही अभी तक तो नीचे नही आए है तो मैं ने बोला के आप का क्या हाल है तो धीरे से बोली के बस मेरी चूत तुम्हारे लंड के लिए तड़प रही है और मुझे तुम्हारी बोहोत याद सता रही है हो सका तो आज रात आउन्गि तुम्हारे घर पे तो मैं ने बोला के ठीक है मेरी आंटी जान मैं वेट करूँगा.

मैं एक बार फिर से शवर ले के रेडी हो गया और शांति के घर चला गया. सारे मेहमान तो खाना खा चुके थे बस शांति, पायल और पिंकी ही रह गये थे. थोड़ी देर मे पता चला के शांति का कमरा खुल गया है और फिर हम चारो के लिए लंच टेबल ऊपेर ही लगा दी गयी है. हम चारो डाइनिंग टेबल पे बैठे थे. मेरे राइट साइड मे पिंकी और हमारे सामने शांति और पायल. पायल ने लाइट क्रीम कलर का मल्टिकॉलोवर्ड एम्बरॉडिओरी वाला कुर्ता पहना था. बे इंतेहा गोरी थी, उसके हॉट पहले से ही गुलाबी थे उसके ऊपेर हल्की सी नॅचुरल शेड की लिपस्टिक बोहोत ही अछी लग रही थी जी कर रहा था के बॅस ऐसे वलप्चयस लिप्स को मूह मे ले के चूस डालु. उसकी माँग सेंदुर से सजी थी. ज्यूयलरी के नाम पे बस एक नाज़ुक सी गोलडेन चैन और उसमे छोटा सा डाइमंड वाला फ्लवर लॉकेट उसके बूब्स के दरमियाँ झूल रहा था. उसके हाथो मे बोहोत ही फर्स्ट क्लास बोहोत नाज़ुक डिज़ाइन वाली मेहन्दी लगी हुई थी उसकी उंगलिओ मे डाइमंड के रिंग्स थे और नाक मे एक छोटे से

डाइमंड की नथ जो थोड़ी सी रोशनी मे भी चमक जाती थी. उसके पैरो मे गोल्ड की घुंघरू वाली चैन पड़ी थी जिस से चलते समय मधुर म्यूज़िक आती थी. पायल बे इंतेहा खूबसूरत लग रही थी. दोस्तो उसकी खूबसूरती को शब्दो मे बयान नही किया जा सकता.

शांति और पायल दोनो थके थके लग रहे थे और पायल कुछ उदास भी लग रही थी. शांति बड़े प्यार से पायल को अपने हाथो से उसकी प्लेट मे के खाना डाल डाल के खिला रहा था और इधर पिंकी जो मेरे राइट साइड मे बैठी हुई थी, लेफ्ट हॅंड से मेरे लंड को पकड़ के दबा रही थी जिस से मेरा दिमाग़ खराब हो रहा था. लंड था के फुल अकड़ चुका था मेरा मंन कर रहा था के पिंकी अब मूठ मार मार के मेरी क्रीम निकाल दे बॅस. मैं अपना ध्यान बटाने के लिए बाते करने लगा और पूछा के शांति अछी तरह से सोया या नही तो वो मुस्कुरा दिया इतने मे पिंकी बोली के अरे ऐसे कैसे सो जाता, कोई अपनी सुहाग रात मे सोता है क्या ? तो मैने हंस के पूछा क्यों तुम भी रात भर जागती रही थी क्या अपनी सुहाग रात पर तो वो मुस्कुरा दी पर कुछ बोली नही. खैर ऐसे ही जोक्स मे खाना ख़तम हो गया. पायल और पिंकी उठ के कमरे मे चले गये और टेबल पे मैं और शांति ही बैठे रह गये तो मैं ने पूछा क्या रहा शांति कैसी गुज़री रात तेरी तो वो उदास मूह बना के बोला के यार क्या बताउ वोही पुराना हाल है. कुछ भी नही हुआ यार मेरा पानी तो एक ही मिनिट के अंदर निकल गया. मैं ने बोहोत कोशिश की पर कंट्रोल नही हुआ तो मैं ने पूछा के सुना तो सही के कैसे किया तू ने तो उस ने बोला के जब हम बेड पे लेट गये तो मैं ने उसको किस किया और धीरे धीरे दोनो ने एक दूसरे के कपड़े निकाले उसके बाद मैं उसके बूब्स से खेलने लगा और फिर चूसने लगा. उसकी चूत पे हाथ लगाया, देखा तो वो पूरी तरह से गीली हो चुकी थी और बे इंतेहा गरम हो गई थी और फिर उसने मेरी नुनु को पकड़ लिया और दबाया तो यह थोड़ी सी एरेक्ट हुई और बॅस फॉरन ही उसके हाथ मे ही मैं खल्लास हो गया तो मैं ने बोला के मैं ने तेरे कू वियाग्रा की टेबल दी थी वो खाया क्या तो उसने बोला के हा खाया था तकरीबन आधा घंटा पहले दूध के साथ. फिर क्या हुआ तो वो बोला के उस से इतना हुआ के पहले टाइम झड़ने के बाद थोड़ी देर मे फिर थोड़ा सा एरेक्षन हुआ और फिर जैसा तुम ने बोला था मैने उसको फुल प्रिपेर किया, उसके बूब्स को खूब चूसा और उसकी चूत को भी चॅटा, उसके बाद 69 की पोज़िशन मे आया और उसकी चूत को चाट चाट के फुल गीली बना दिया और वो 2 – 3 टाइम झाड़ गयी और उसने मेरी फुल्ली एरेक्ट 3 इंच की नुनु को मूह मे ले के चूसा तो मैं उसके मूह मे फॉरन ही झाड़ गया. वो सेक्स की गर्मी से छटपटा रही थी उसने मुझे इशारे से बोला के अब कुछ करो तो मैने पलट के उसकी चूत पे लंड को रखा और अपनी उंगली से उसकी

सूपदे को अंदर करने की कोशिश किया पर उस टाइम तक उसका पूरा एरेक्षन ख़तम हो चुका था और मैं कुछ नही कर सका तो मैं ने बोला के चल यार मेरी बात मान ले किसी डॉक्टर से बात कर लेते है तो वो गुस्से से बोला के मैं किसी डॉक्टर वोक्टोर के पास जाने वाला नही और जब तक तू मेरे साथ है मुझे कोई प्राब्लम नही है तो मैं हंस केबोला तेरी मर्ज़ी और फिर मैं खामोश हो गया.

Mast Marwari Malaai ( MMM )--paart--15

Shantilal Ki Shadi

Finally wo din bhi aa gya jab shanti ki shadi ho rahi thi. Sasural se Gift mai Shanti ko ek dum se naya fully Furnished Luxurious double storey Bangla jiska backyard takreeban aadha kilometer hoga jismai ek chota sa garden aur ek private swimming pool bhi tha jo Hyderabad ke outskirt mai picknick spot Shameerpet pe banaya gaya tha jski har cheez kisi virgin ki tarah se untouched thi aur jaha unke honeymoon ka intezam kia gaya tha wo bangla mila aur ek nayi brand new showroom se li hui zero kilometer wali airconditioned fully automatic Innova car mili aur sath mai dher sare paise aur sona aghaira.

Shanti shadi ke mandap mai baitha tha. Golden colour ki special Marwari sherwani aur chudi dar pajama aur sar pe golden moti aur stones se chamakti pagdi mai shanti bohot smart lag rahat ha. Uska colour bhi ek dum se gora ho gaya tha. Ooper se to poori jawani mai lag raha tha par pata nahi uska dil kia keh raha tha aur uski Nunu ka kia haal ho raha tha.

Payal uske kareeb ghoonghaat nikale baithi be inteha khubsurat lag rahi thi. Payal ka rang to kia batau dosto bass yun samajh lo ke doodh mai kisi ne thodi si kesar mila di ho, uske gaal kisi kashmiri seb ki tarah gulabi lag rahe the jismai muskurate samay do jaan leva dimples bhi pad jate, uski light brown colour ki badi badi hirni jaisi aankhein thi, jab dheere se muskurati to uske moti jaise daant apni chamak bikher dete, wo laal chamakti hui saree pahene thi jis pe moti aur chamakdaar taraashe hue stones lage the jo roshni mai heere jaise chamak rahe the. Maang mai gold aur diamond ka teeka tha, naak mai heere ki loung jo har lamha roshni se chamak rahi thi. Haathon mei nago ke kade aur sone ki chooriyan. Mera yakeen kare mai ne itni khubsurat dulhan aaj se pehle kabhi nahi dekhi. In short wo aasmaan se utri koi apsara lag rahi thi. Mandap mai baithe kitne hi noujawano ke Lund uski khubsurti dekh ke akad gaye honge ya pani chhor chuke honge pata nahi aur mere Lund ka haal to mat pooch bohot hi bura haal tha usko bas badi muskhil se kabu mai rakha hua tha. Aaj dulhan bani payal normal formal payal se bilkul hi alag lag rahi thi jis pe se nazar hat hi nahi rahi thi.

Din bhar Marwar ke reeti riwaj ke mutabik rasam waghaira chalte rahe udhar guests ke liye khaana peena chalta raha. Raat bhi bohot ho gayi thi.

Shanti aur Payal ki shadi complete ho gayi to phir raat takreeban 2 baje ke kareeb Shanti aur Payal ko unke saje sajaye kamre mai le jane lage to Shanti ne mera hath pakad lia aur mere se dheere se bola ke hey raj yaar ab mai kia karu mujhe to bohot dar lag raha hai to mai ne bola ke yaar fikar na kar sab theek ho jayega. Confidence ke sath ja aur pehle usko choom chaat ke acchi tarah se garam kar de uske bad apne Lund ko uski garam aur geeli choot mai ghusa de to uska chehra laal ho gaya aur bola ke tujhe to sab pata hai na yaar to mai ne bola ke arey fikar na kar aur sunn dare ga to kuch bhi nahi kar sake ga isi liye darr matt aur ek dum se confidence se ja koi problem nahi hogi aur aisa kuch hua to mujhe call kar lena mai last minutes emergency tips de dunga. Abhi to mai apne ghar ja raha hu laikin tu mere ku kabhi bhi call karle koi problem nahi tere liye mai sab kuch karunga to usne bola ke sach sab kuch karega to mai ne kaha kr haa yaar sab kuch karunga to usne poocha pakka to mai ne bola ke haa yaar pakka to phir usne bola ke to phir chal na mere kamre mai hamare sath, tu sath rahega to meri himmat rahegi to maine bola ke arey yar yeh kia pagalo jaisi bat kar raha hai sara ghar

mehmano se bhara hai tere sare relatives aye hue hai tu aisi bat kar raha hai. pagal na ban aur ja apne kamre mai aur mer ku jab marzi aye call karlena mai jaag raha hu tu kisi baat ki fikar na kar.

Shanti aur Payal ko unke kamre tak chhorne ke liye Pinky bhi ayi hui thi. Pinky Payal ka hath pakde hue thi aur Shanti mera hath pakda hua mujh se batein kar raha tha. Jaise hi Shanti aur Payal apne kamre mai gaye, Pinky mere sath lipat gayee aur rone lagi to maine bola ke arey yeh kia kar rahi ho aise shubh awsar par tum ro rahi ho to usne bole ke mere pyaare pyaare Raja yeh meri khushi ke ansoo hai mai aaj be inteha khush hu tumhara dia hua tohfa ab meri jaan ke ander pal raha hai mai tumhara jitna bhi shukriya ada karu kam hai. Tum mere bhagwan ho mere raja aur mai tumhari pooja karne lagi hu ab aur I love you from the bottom of my heart and soul mere raja tum ne mujhe maa banne ka sukh dia hai. Meri sooni kookh mai apna beej dal dia hai jise mai hamesha apne kaleeje se laga kar rakhungi to mai ne kaha ke I love you ver much pinky aur usko choomne laga phir ham dono wapas neeche aagaye aur mai apne ghar chala gaya aur kapde change kar ke sone ke liye bistar mai let gaya aur sochne laga ke ab shanti aur payal kia kar rahe honge. Yeh sochte sochte meri aankh lag gayee. Actually mai kayee dino se shadi ke kaamo mai busy tha isi liye ab thankaan se mujhe neend aa gayee thi aur mai gehri neend so gaya.

Subah 11 baje ke kareeb door bell se aankh khuli, dekha to Pinky khadi thi. Mai ne usko ander bula lia aur door ko lock kar dia. Morning erection se mera Louda akad chuka tha aur meri boxers shorts mai tent bana hua tha to Pinky mere Lund ko hath se pakadte hue boli ke aahhaa raja shaed ise koi choot nahi mili maarne ke liye isi liye yeh itna tadap raha hai to mei ne bole ke yeh tumhari choot ke liye hi to tadap raha hai meri pinky jaan. Mujhe pata tha ke Pinky ko doctors ne bed rest bataya hua hai isi liye usko chodne ka salwal hi nahi uth ta tha. Mai bathroom mai jate hue pinky ko bola ke mai abhi shower le ke aata hu to usne kaha ke theek hai mai jab tak tumhare liye breakfast bana deti hu. Mere bathroom se baher aane tak breakfast ready tha. Ham dono ne sath hi breakfast kia aur coffee peene lage to mai ne poocha ke tumhare husband Lala aur saas ka kia haal hai to usne bola ke Lala ka to wohi haal hai dinner ke bad 10 minute ke ander suwwar ( pig ) jaise so jata hai aur saas theek hai tumhai bohot yaad karti rehti hai aur munni se choot ka massage bhi regaular karwati hai to mai ne kaha ke haa mai aunga kisi din time nikal ke aur unko chodunga. Mai Sunita Devi ko pehle hi 5 – 6 bottles ka champaigne aur whisky ka stock de chuka tha isi liye abhi wohi stock use kar rahi thi. Breakfast ke bad plates waghaira clean kar ke pinky mere room mai aa gayee aur ham dono kiss karne lage aur pinky to foran hi mere Lund ko pakad lia aur bola ke I miss ur Lund raja. Mai kaise rahu iske bina delivery tak to apni choot ko kaise sambhal paungi bina iss Lund ke to mai ne bola ke Pinky tumhai doctor ne bed rest bola hai to chudai to mai nahi karunga ham koi risk nahi le sakte haa ham 69 mai enjoy karenge aur phir dono nange ho gaye aur 69 mai wo mera Lund choosne lagi aur mai uski choot. Thodi der mai hi ham dono ek doosre ke muh mai khallas ho gaye. Pinky ne bade maze se meri malai khaayee. Thodi der pinky mere bed pe hi mujh se lipat ke leti rahi. Karwat lete hue mere Lund ko apni choot mai ghissti bhi rehti aur kabhi kabhi khushi se roti bhi rahi. Takreeban 2 baje ke kareeb wo apne ghar chali gayi.

Lagbhag 3 baje ke kareeb Pooja aunty ka phone aaya bol rahi thi ke lunch wahi khana hai to mai ne poocha ke kia haal hai dulha aur dulhan ka aunty, to wo boli ke pata nahi abhi tak to neeche nahi aye hai to mai ne bola ke aap ka kia haal hai to dheere se boli ke bass meri choot tumhare Lund ke liye tadap rahi hai aur mujhe tumhari bohot yaad sata rahi hai ho saka to aaj raat aungi tumhare ghar pe to mai ne bola ke theek hai meri aunty jaan mai wait karunga.

Mai ek bar phir se shower le ke ready ho gaya aur shanti ke ghar chala gaya. Sare mehmaan to khana kha chuke the bas Shanti, payal aur pinky hi reh gaye the. Thodi der mai pata chala ke Shanti ka kamra khul gaya hai aur phir ham chaaro ke liye lunch table ooper hi laga di gayee hai. Ham charo dining table pe baithe the. Mere right side mai Pinky aur hamare samne Shanti aur Payal. Payal ne light cream colour ka multicoloured embrodiory wala kurta pehna tha. Be inteha gori thi, uske hot pehle se hi gulabi the uske ooper halki si natural shade ki lipstick bohot hi achi lag rahi thi ji kar raha tha ke bass aise voluptuous lips ko muh mai le ke choos dalu. Uski maang sendur se saji thi. Jewellery ke naam pe bas ek nazuk si golden chain aur usmai chota sa diamond wala flower locket uske boobs ke darmiyan jhool raha tha. Uske hatho mai bohot hi first class bohot nazuk design wali mehndi lagi hui thi uski unglio mai Diamond ke rings the aur naak mai ek chote se

diamond ki nath jo thodi si roshni mai bhi chamak jati thi. Uske pairo mai Gold ki ghunghru wali chain padi thi jis se chalte samay madhur music aati thi. Payal be inteha khubsurat lag rahithi. Dosto Uski khubsurti ko shabdo mai bayan nahi kia ja sakta.

Shanti aur Payal dono thake thake lag rahe the aur Payal kuch udas bhi lag rahi thi. Shanti bade pyar se Payal ko apne hatho se uski plate mai ke khana dal dal ke khila raha tha aur idhar Pinky jo mere right side mai baithi hui thi, left hand se mere Lund ko pakd ke daba rahi thi jis se mera dimagh kharab ho raha tha. Lund tha ke full akad chuka tha mera mann kar raha tha ke Pinky ab muth mar mar ke meri cream nikal de bass. Mai apna dhayan bataane ke liye bate karne laga aur poocha ke Shanti achi tarah se soya ya nahi to wo muskura dia itne mei Pinky boli ke arey aise kaise so jata, koi apni suhaag raat mai sota hai kia ? to mai hans ke poocha kyon tum bhi raat bhar jagti rahi thi kia apni suhag raat par to wo muskura di par kuch boli nahi. Khair aise hi jokes mai khana khatam ho gaya. Payal aur Pinky uth ke kamre mai chale gaye aur table pe mai aur Shanti hi baithe reh gaye to mai ne poocha kia raha Shanti kaisi guzri rat teri to wo udas muh bana ke bola ke yaar kya batau wohi purana haal hai. Kuch bhi nahi hua yaar mera pani to ek hi minute ke ander nikal gaya. Mai ne bohot koshish ki par control nahi hua to mai ne poocha ke suna to sahi ke kaise kia tu ne to us ne bola ke jab ham bed pe let gaye to mai ne usko kiss kia aur dheere dheere dono ne ek doosre ke kapde nikale uske bad mai uske boobs se khelne laga aur phir choosne laga. Uski choot pe hath lagaya, dekha to wo poori tarah se geeli ho chuki thi aur be inteha garam ho gai thi aur phir usne meri nunu ko pakad lia aur dabaya to yeh thodi si erect hui aur bass foran hi uske hath mai hi mai khallas ho gaya to mai ne bola ke mai ne tere ku VIAGRA ki table di thi wo khaya kia to usne bola ke haa khaya tha takreeban aadha ghanta pehle doodh ke sath. Phir kia hua to wo bola ke us se itna hua ke pehle time jhadne ke bad thodi der mai phir thoda sa erection hua aur phir jaisa tum ne bola tha mai usko full prepare kia, uske boobs ko khub choosa aur uski choot ko bhi chata, uske bad 69 ki position mai aaya aur uski choot ko chaat chaat ke full geeli bana dia aur wo 2 – 3 time jhad gayi aur usne meri fully erect 3 inch ki nunu ko muh mai le ke choosa to mai uske muh mai foran hi jhad gaya. Wo sex ki garmi se chatpatai rahi thi usne mujhe ishare se bola ke ab kuch karo to mai palat ke uski choot pe lund ko rakha aur apni ungli se uski

supade ko ander karne ki koshish kia par us time tak uska poora erection khatam ho chuka tha aur mai kuch nahi kar saka to mai ne bola ke chal yaar meri baat maan le kisi doctor se bat kar lete hai to wo gusse se bola ke mai kisi doctor woctor ke pas jane wala nahi aur jab tak tu mere sath hai mujhe koi problem nahi hai to mai hans ke teri marzi aur phir mai khamosh hogaya.


rajaarkey
Platinum Member
Posts: 3125
Joined: 10 Oct 2014 04:39

Re: Marwar ki mast malaai-मारवाड़ की मस्त मलाई

Unread post by rajaarkey » 13 Dec 2014 16:49

मारवाड़ की मस्त मलाई पार्ट --16



गतांक से आगे........................

उधर कमरे मे पायल और पिंकी बाते कर रहे थे. वो दोनो तो पहले से ही पक्के फ्रेंड्स थे, पिंकी ने पूछा बोल पायल कैसी रही तेरी सुहाग रात तो पायल पिंकी से लिपट गयी और उसके कंधे पे अपना सर रख के रोने लगी तो पिंकी घबरा गयी और पूछा अरे अरे यह क्या कर रही है पायल, क्या हुआ तेरे कू कुछ तो बोल ना, शांति ने कुछ बोला तेरे कू तो वो उस से लिपट के बोहोत देर तक रोती रही और पिंकी उसके सर को अपने हाथ से सहला के उसको तसल्ली देती रही. जब पायल का रोना थोड़ा कम हुआ तो उसने पूछा के क्या हुआ पायल बता ना तो उस ने बताया के पिंकी पहले तो तेरे भाई का लिंग बोहोत ही छोटा सा ही है और उसमे बिल्कुल भी दम नही है मैं क्या करू समझ मे नही आ रहा है मैं तेरे भाई से बोहोत प्यार करती हू पिंकी तो पिंकी ने बोला के अरे पगली इतनी सी बात पे रोती है अरे कभी एग्ज़ाइट्मेंट मे भी हो जाता है और नया नया मामला है ना थोड़े दीनो मे अड्जस्ट हो जाएगा तू क्यों फिकर करती है और फिर राजा भी तो है ना उस से बोल के कुछ ना कुछ सल्यूशन निकालेंगे चल अब रोना धोना बंद कर और नहा धो के रेडी हो जा नीचे सब लोग वेट कर रहे होंगे. और फिर पायल और शांति नहा धो के रेडी हो के नीचे आ गये और सब मेहमान और रिश्तेदार बातें करने लगे. दूसरे दिन सारे गेस्ट्स अपने अपने घरो को वापस चले गये.

उस रात तकरीबन 12 बजे के बाद पूजा आंटी का फोन आया और बोहोत ही धीमी आवाज़ से बोली के राजा मैं आ रही हू डोर खुला रखो तो मैं ने डोर खोल दिया और रूम मे अंधेरा कर के वेट करने लगा. थोड़ी ही देर मे आंटी आ गयी और मेरे से लिपट गयी और बोली के राजा तुम्हारी याद बोहोत आती है रातो मे तो मैं तड़पति हू और अपनी चूत की गर्मी को अपने हाथो से मसल मसल के शांत करती हू अब और देर ना करो और इस प्यासी चूत की प्यास बुझा दो. हम दोनो कमरे मे आ गये और एक ही मिनिट के अंदर दोनो नंगे हो गये और पहले तो 69 पोज़िशन मे आंटी की चूत को चूस चूस के खल्लास किया और जब उनकी चूत से जूस निकल रहा था तब मेरे लौदे को बड़ी ज़ोर ज़ोर से चूसने लगी मुझे बोहोत ही मज़ा आ रहा था आज आंटी बोहोत जोश मे चूस रही थी ऐसा लग रहा था जैसे मेरे लंड के अंदर से सारी मलाई निचोड़ लेना चाहती हो और मैं उनके इस तरीके से चूसने से फॉरन ही उनके मूह मे झाड़

गया और लंड से क्रीम की पिचकारियाँ निकल निकल के उनके मूह मे गिरने लगी जिसे वो सब मज़े से पी गयी. मेरा लंड तो अभी भी फुल्ली एरेक्ट था. अब उनको नीचे चित्त लिटा के उनकी टाँगो को खोल दिया और उनके ऊपेर झुक के लंड को उनके गीली गरम चूत के सुराख मे रख के एक ही झटके मे लंड को उनकी बेचैन प्यासी चूत के अंदर घुसेड दिया और चोदना शुरू कर दिया. आंटी अपनी टाँगें मेरी बॅक से लपेटे और मेरी गर्दन मे अपनी बाँहे डाले बड़े मज़े से चुद्व रही थी. आंटी को वाइल्ड सेक्स पसंद था ववो बोल रही थी चोद्द्द्द डाल्ल राज्जाअ अओउर्र ज़्ज़ूर्ररर ज़्ज़ूर्र सीए फहाआड्द्ड़ द्दाल्ल्ल मेरि चूत्त्त क्कूव आअहह और ज़्ज़ूर्र सीईए ईईईईईईईई और मेरी बॅक पे लिपटी हुई टाँगो से मुझे अपनी अंदर खेच रही थी और मैं पूरा लंड को सूपदे तक निकाल निकाल के बोहोत ज़ोर ज़ोर से चोद रहा था. मेरा लंड जब उनकी चूत के अंदर घुसता तो उनकी चूत की पंखाड़िया भी लंड के डंडे के साथ अंदर जाती और लंड के डंडे के साथ ही वापस बाहर आ जाती. दीवानो की तरह से चोद रहा था और हम दोनो के बदन पसीने से शराबूर हो चुके थे मेरी नाक से पसीना टपकने लगा तो आंटी ने अपना मूह उठा के पसीने की बूँदो को अपने मूह मे ले के चाट लिया. चुदाई बड़ी तेज़ी से चल रही थी और आंटी अब तक 4 – 5 बार झाड़ चुकी थी उनकी चूत उनके चूत रस्स से बोहोत गीली हो चुकी थी और अब मैं भी आने ही वाला था मैं ने स्पीड और बढ़ा दी और पूरी ताक़त से पागलो की तरह से चोदने लगा और फिर एक फाइनल झटका मारा तो मुझे लगा के मेरा मूसल लंड उसकी चूत को फाड़ता हुआ बचे दानी के अंदर घुस्स गया है और मेरे लंड से गरम गरम और गाढ़ी गाढ़ी मलाई की मोटी मोटी धारियाँ निकल निकल के उनकी बचे दानी को भरने लगी. मेरी मलाई आंटी की चूत मे गिरते ही वो एक बार फिर से झड़ने लगी और मेरे से बोहोत ज़ोर से लिपट गयी. मैं उनके बदन के ऊपेर गिर गया और थोड़ी देर तक उनके सीने पे ही पड़ा रहा दोनो के साँसें गहरी चल रही थी. थोड़ी देर के बाद आंटी उठ गयी और मुझसे लिपट के प्यार करने लगी और जाते जाते बोली के कल सुबह ब्रेकफास्ट मेरे साथ ही करना कल पायल और शांति को उनके बंगले पे भेजने का प्लान है हनी मून के लिए तुम्है और पिंकी को भी जाना होगा उनके साथ तो मैं ने बोला के ठीक है मैं सुबह आ जाउन्गा और मुझे किस करते हुए और लंड को अपनी मुट्ठी मे पकड़ के दबाते हुए आंटी चुदवा के वापस चली गयी और मैं भी बेड पे लेट के गहरी नींद सो गया.

सुबह 10 बजे के करीब फोन की बेल से आँख खुली. आंटी बड़ी धीमी आवाज़ मे बोली के अभी तक सो रहे हो क्या मेरी जान, मैं तुम्हारा इंतेज़ार कर रही हू जल्दी से आजओ मेरे राजा रात का मज़ा अभी तक मेरे बदन मे है और फिर बोली

कल रात का थॅंक्स तो मैं ने बोला के अरे आंटी जान थॅंक्स बोलने की कोई ज़रूरत नही , यू आर मोस्ट वेलकम आप किसी भी टाइम बोलो मैं आपके लिए हमेशा रेडी हू तो उन्हो ने फोन पे ही एक किस दिया और बोली के जल्दी से आ जाओ पूजा की जान और फिर फोन काट दिया.

मैं नहा धो के फ्रेश हो के उनके घर चला गया. टेबल लगी हुई थी. सब गेस्ट्स वापस जा चुके थे अब सिर्फ़ घर वाले ही रह गये थे. शांति और पायल भी नीचे आ गये थे. सब ने नाश्ता किया और फिर कॉफी पीते पीते इधर उधर की बातें करने लगे. शांति और पायल को हनिमून के लिए उनके शमीरपेट वाले बॅंगलो पे भेजने की तय्यरी चल रही थी. आंटी बोली के शांति और पायल चले जाए. लक्ष्मी साथ चली जाएगी जो खाना पका देगी और दूसरे काम कर देगी. कंतिलाल सेठ को तो इन्न बातो की परवाह नही थी. उनकी दुकान पिछले 4 – 5 दीनो से बंद थी उनको तो बस दुकान खोलने की जल्दी पड़ी थी और वो बोले के मैं तो दुकान को जा रहा हू तुम लोग डिसाइड कर्लो और अगर पिंकी भी जाना चाहे तो उसको भेज दो साथ मे तो पिंकी बोली के नही मैं नही जा सकती मुझे आजकल उल्टी कुछ ज़ियादा ही हो रही है और मेरा डॉक्टर के पास अपायंटमेंट भी है और अगर किसी को कोई ऑब्जेक्षन नही हो तो राजा को भेज दो उनके साथ तो कांतिलाल सेठ बोले के हा यह ठीक रहेगा, पूछ लो राजा से, शांति और पायल से अगर उनको कोई प्राब्लम नही है तो राजा को ले जाएँ उन दोनो को कुछ कंपनी भी मिल जाएगी. मे ने ऊपरी दिल से बोला के आंटी यह इनका हनिमून है और मैं उनकी प्राइवसी के चलते कबाब मे हड्डी नही बनना चाहता तो शांति ने बोला के अरे यार ऐसी क्या बात है तुम हमारी फॅमिली से अलग थोड़ा ही हो और अगर तुम साथ रहोगे तो कुछ कंपनी भी रहेगी फिर शांति ने पायल से पूछा तो पायल धीमी से मुस्कान के साथ आहिस्ता से बोली के राजा साथ चले तो मुझे तो कोई प्राब्लम नही है चल सकते है हमारे साथ हमे भी कंपनी मिल जयगी. जब शांति और पायल ने दोनो ने राजा के नाम को आक्सेप्ट कर लिया तो यही डिसाइड किया गया के शांति, पायल, लक्ष्मी और मैं हम चारो वाहा रहेंगे थोड़े दीनो तक और फिर यह सब डिसाइड होने के बाद इतमीनान की साँस लेते हुए कांतिलाल सेठ दुकान चले गये. शाम 5 बजे तक निकलने का प्रोग्राम बना था. मैं भी तय्यारी करने के लिए अपने घर आ गया और उधर आंटी, पिंकी और लक्ष्मी मिल के शांति और पायल का समान पॅक करने लगे.

प्रोग्राम के मुताबिक शाम के 5 बजे के आस पास हम चारो नयी चमकती इंनोवा मे बैठ के बंगलो की तरफ चल दिए. बंगलो पहुँचने तक रात के तकरीबन 7:30 – 8:00 बज गये थे. बंगलो को देखते ही हम सब के मूह से वाउ निकला. बड़ा ज़बरदस्त बंगला था जिस के ऊपेर छोटे छोटे

रंगीन बल्ब्स का डिज़ाइन बना हुआ था और सारे बल्ब रोशन थे अंधेरे मे दुल्हन बहा हुआ था बांग्ला. गेट से अंदर आने के बाद भी तकरीबन 250 मीटर के बाद बंगला शुरू होता था. 2 फ्लोर का बोहोत बड़ा मकान था जिस के कमरे भी बोहोत बड़े बड़े थे. बहुत ज़ियादा ज़मीन होने की वजह से कमरे, सीट आउट्स, किचन, बाथरूमस वाघहैरा सब ही बोहोत बड़े बड़े बनाए गये थे. एक दम से इनडिपेंडेंट यूनिट था यह. बंगलो के पीछे बोहोत दूर तक गार्डेन फैला हुआ था और एक बोहोत ही बड़ा एग शेप्ड स्विम्मिंग पूल भी था. आक्च्युयली यह बंगला मैन रोड से 1 किलोमेटेर अंदर की तरफ था जहा जाने के लिए इन के फार्महाउस जैसी एक प्राइवेट रोड बनी हुई थी. गेट के साथ ही आउटहाउस जहा एक चौकीदार शेम्यू रहता था. बूढ़ा था अकेला ही रहता था. अंदर आने के बाद बोहोत बड़ा सा सिट्टिंग पोर्षन जहा पे 3 सोफा सेट पड़े हुए थे जिनके बीच ग्लास टॉप वाली 3 सेंटर टेबल्स भी पड़ी हुई थी. बड़ा सा किचन जिस्मै सारी सुवेधाएँ मौजूद थी, फ्रिड्ज, ओवेन, माइक्रोवेव एट्सेटरा. एस्पेशली प्रेआप्रेड हनिमून रूम बोहोत ही बड़ा था और सब से लास्ट वाला जहा से बंगलो का पीछे वाला हिस्सा था जहा से स्विम्मिंग पूल और गार्डेन नज़र आता था. यह रूम बोहोत खुसबुदार फूलो से अछी तरह से सज़ा हुआ था. क्वीन साइज़ डबल बेड जिसपे गुलाबी रंग की फ्लवर वाली रेशमी चदडार बिछी हुई थी. पायल को डॅन्स का बोहोत शोक था, वो बड़ी अछी ट्रेंड डॅन्सर थी और उसको वेस्टर्न स्लो डॅन्स भी बोहोत ही पसंद था इसी लिए अंदर की तरफ बेडरूम के करीब एक अलग से बना हुआ डॅन्सिंग रूम था जहा कंप्लीट लेटेस्ट म्यूज़िक सिस्टम और लाइटिंग सिस्टम लगा हुआ था जैसा के किसी फिल्म स्टूडियो मे होता है वैसे कंप्लीट सिस्टम्स लगे हुए थे और वाहा एक फर्स्ट क्लास फुल राउंड डॅन्स फ्लोर बना हुआ था.

घर को हम एक घंटे तक घूम के देखते और एक एक चीज़ की तारीफ करते रहे. शांति और पायल का हनिमून रूम तो नीचे ही था पर मेरे लिए फर्स्ट फ्लोर पे एक रूम सेट किया हुआ था और लक्ष्मी के लिए भी ग्राउंड फ्लोर पे ही एक रूम था लैकिन शांति और पायल की प्राइवसी के चलते लक्ष्मी को भी फर्स्ट फ्लोर पे बने हुए मैड’स रूम मे से एक रूम दे दिया गया. ग्राउंड फ्लोर से फर्स्ट फ्लोर तक जाने के लिए जो स्टेरकेस बना हुआ था वाहा पे एक डोर भी लगा हुआ था जिसे बंद करने से ग्राउंड और फर्स्ट फ्लोर एक दम से अलग हो जाते थे. और वही स्टेरकेस पे एक डोर बेल भी लगी हुई थी जिसे बजा के फर्स्ट फ्लोर पे किसी को भी किसी ज़रूरत के लिए पुकारा जा सकता था. रात के खाने के बाद हम तीनो घूमने के लिए गार्डेन मे निकल गये और लक्ष्मी खाना खा के बर्तन वाघहैरा धो के ऊपेर अपने कमरे मे सोने के लिए चली गयी. पायल और शांति किसी लवर्स की तरह एक दूसरे के हाथो मे हाथ डाले चल रहे थे कभी कभी कोई रोमॅंटिक बात एक दूसरे के कान मे कर के मुस्कुराने लगते. काफ़ी देर

तक बाहर गार्डेन और स्विम्मिंग पूल के पास घूमने के बाद मैं ने बोला के तुम लोग यही गार्डेन मैं बैठ जाओ और चाँदनी रात के फुल मून को एंजाय करो और मुस्कुराते हुए बोला के और हा रोमॅन्स भी करो मैं अब तुम दोनो के बीच मे कबाब मे हड्डी नही बनना चाहता, मैं जा रहा हू सोने के लिए. यह कह कर मैं चला आया और ग्राउंड फ्लोर और फर्स्ट फ्लोर के बीच के डोर को अंदर से लॉक कर दिया ता के कोई बिना बताए के ऊपेर ना आ सके और अपने कमरे मे आ गया. अपने कमरे की लाइट खोली, देखा तो मेरे बेड पे लक्ष्मी नंगी लेटी मेरा इंतेज़ार कर रही थी. मैं पायल की खूबसूरती देख के वैसे ही पागल हो चुका था और अब लक्ष्मी को अपने बेड पे नंगी लेट देख के तो मेरा लंड एक दम से अटेन्षन मे आ गया. मैं ने पूछा के अगर शांति कमरे मे आ जाता तो क्या करती, क्या ऐसे ही नंगे लेटे रहती तो उसने मुस्कुराते हुए मुझे विंडो से बाहर देखने के लिए बोला, विंडो से बाहर देखा तो शांति और पायल एक झाड़ के नीचे खड़े एक दूसरे से लिपटे किस्सिंग कर रहे थे इसे देख के लक्ष्मी ने बोला के मैं ने देख लिया था के आप अकेले ही आ रहे हो इसी लिए मैं आपके लिए रेडी हो गयी मेरी चुदाई भी बोहोत दीनो से नही हुई ना और मेरी चूत बोहोत ही प्यासी हो गयी है इसे अपने लंड का पानी पीला कर इसकी प्यास को बुझा दो और यह बोहोत भूकि है इसे अपने लंड की मलाई खिला दो और मेरा हाथ पकड़ के बिस्तर मे खेच लिया. उसके पास से फ्रेश साबुन की खुश्बू आ रही थी. लगता था के किचन के काम कर के वो भी नहा धो के मेरे पास चुदवाने आई है ता के पसीने की स्मेल ना आए.

यह 5 – 6 महीनो मैं लक्ष्मी कुछ ज़ियादा ही जवान लगने लगी थी. उसके बूब्स भी थोड़े बड़े हो गये थे. चूत का पेडू भी कुछ उठ गया था. ळैकिन अभी भी उसकी कमसिन चूत बोहोत प्यारी लग रही थी. उसने मुझे लिटाया और पागलो की तरह से चूमने लगी और बोल रही थी के कितना तड़पाया है आपने मुझे मैं शब्दो मे बता नही सकती अब मेरे से और सहन नही होता बस अब पेल दो अपना मूसल मेरी गरम प्यासी चूत के अंदर और बड़ी तेज़ी से मेरे कपड़े निकालने लगी. थोड़ी ही देर के अंदर हम दोनो नंगे बिस्तर मे एक दूसरे से लिपटे पड़े हुए थे.

Mast Marwari Malaai ( MMM )--paart--16

Udhar kamre mai Payal aur Pinky bate kar rahe the. Wo dono to pehle se hi pakke friends the, Pinky ne poocha bol Payal kaisi rahi teri suhag raat to Payal Pinky se lipat gayee aur uske kandhe pe apna sar rakh ke rone lagi to Pinky ghabra gayee aur poocha arey arey yeh kia kar rahi hai Payal, kia hua ter ku kuch to bol na, kis shanti ne kuch bola tere ku to wo us se lipat ke bohot der tak roti rahi aur Pinky uske sar ko apne hath se sehlaa ke usko tasalli deti rahi. Jab Payal ka rona thoda kam hua to usne poocha ke kia hua Payal bata na to us ne bataya ke Pinky pehle to tere bhai ka Ling bohot hi chota sa hi hai aur usmai bilkul bhi dam nahi hai mai kia karu re samajh mai nahi aa raha hai mai tere bhai se bohot pyar karti hu pinky to Pinky ne bola ke are pagli itni si bat pe roti hai arey kabhi excitement mai bhi ho jata hai aur naya naya mamla hai na thode dino mai adjust ho jayega tu kyon fikar karti hai aur phir Raja bhi to hai na us se bol ke kuch na kuch solution nikalenge chal ab rona dhona band kar aur naha dho ke ready ho ja neeche sab log wait kar rahe honge. Aur phir Payal aur Shanti naha dho ke ready ho ke neeche aa gaye aur sab mehman aur rishtedar batein karne lage. Doosrey din sarey guests apne apne gharo ko wapas chale gaye.

Uss raat takreeban 12 baje ke baad Pooja Aunty ka phone aaya aur bohot hi dheemi awaz se boli ke Raja mai aa rahi hu door khula rakho to mai ne door khol dia aur room mai andhera kar ke wait karne laga. Thodi hi der mai aunty aa gayee aur mere se lipat gayee aur boli ke Raja tumhari yaad bohot aati hai raato mai to mai tadapti hu aur apni choot ki garmi ko apne hatho se masal masal ke shant karti hu ab aur der na karo aur iss pyasi choot ki pyas bujha do. Ham dono kamre mai aa gaye aur ek hi minute ke ander dono nange ho gaye aur pehle to 69 position mai aunty ki choot ko choos choos ke khallas kia aur jab unki choot se juice nikal raha tha tab mere Loude ko badi zor zor se choosne lagi mujhe bohot hi maza aa raha tha aaj aunty bohot josh mai choos rahi thi aisa lag raha tha jaise mere Lund ke ander se saari malai nichod lena chahti ho aur mai unke iss tareeke se choosne se foran hi unke muh mai jhad

gaya aur Lund se cream ki pichkariyan nikal nikal ke unke muh mai girne lagi jise wo sab maze se pii gayee. Mera Lund to abhi bhi fully erect tha. Ab unko neeche chitt lita ke unki tango ko khol dia aur unke ooper jhuk ke Lund ko unke geeli garam choot ke surakh mai rakh ke ek hi jhatke mai Lund ko unki bechain pyaasi choot ke ander ghused dia aur chodna shuru kar dia. Aunty apni tangein meri back se lapete aur meri gardan mai apni bahe dale bade maze se chudwa rahi thi. Aunty ko wild sex pasand tha wwo bol rahi thi chhodd daall raajjaaa aauurr zzoorrrr zzoorr seee phhaaaddd ddaalll meriii chhhoot kkooo aaahhh aur zzoorr seeeee iiiiieeeeeee aur meri back pe lipti hui tango se mujhe apni ander khech rahi thi aur mai poora Lund ko supade tak nikal nikal ke bohot zor zor se chod raha tha. Mera Lund jab unki choot ke ander ghusta to unki choot ki pankhadiya bhi Lund ke dande ke sath ander jati aur Lund ke dande ke sath hi wapas baher aa jati. Deewano ki tarah se chod raha tha aur ham dono ke badan paseene se sharaabur ho chuke the meri naak se paseena tapakne laga to aunty ne apna muh utha ke paseene ki boondo ko apne muh mai le ke chaat lia. Chudai badi tezi se chal rahi thi aur aunty ab tak 4 – 5 baar jhad chuki thi unki choot unke choot rass se bohot geeli ho chuki thi aur ab mai bhi aane hi wala tha mai ne speed aur badha di aur poori taakat se pagalo ki tarah se chodne laga aur phir ek final jhatka mara to mujhe laga ke mera musal Lund uski choot ko phaadta hua bache dani ke ander ghuss gaya hai aur mere Lund se garam garam aur gaadhi gaadhi malai ki moti moti dhariyan nikal nikal ke unki bache dani ko bharne lagi. Meri malai aunty ki choot mai girte hi wo ek bar phir se jhadne lagi aur mere se bohot zor se lipat gaye. Mai unke badan ke ooper gir gaya aur thodi der tak unke seene pe hi pada raha dono ke saansein gehri chal rahi thi. thodi der ke bad aunty uth gayi aur mujhse lipat ke pyar karne lagi aur jaate jaate boli ke kal subah breakfast mere sath hi karna kal Payal aur Shanti ko unke bangle pe bhejne ka plan hai honey moon ke liye tumhai aur pinky ko bhi jana hoga unke sath to mai ne bola ke theek hai mai subah mai aa jaunga aur mujhe kiss karte hue aur Lund ko apni mutthi mai pakad ke dabaate hue aunty chudwa ke wapas chali gayi aur mai bhe bed pe let ke gehri neend so gaya.

Subah 10 baje ke kareeb phone ki bell se aankh khuli. Aunty badi dheemi awaz mai boli ke abhi tak so rahe ho kia meri jaan, mai tumhara intezar kar rahi hu jaldi se aajao mere Raja raat ka maza abhi tak mere badan mai hai aur phir boli

kal rat ka thanks to mai ne bola ke arey aunty jaan thanks bolne ki koi zaroorat nahi , you are most welcome aap kisi bhi time bolo mai aapke liye hamesha ready hu to unho ne phone pe hi ek kiss dia aur boli ke jaldi se aa jao pooja ki jaan aur phir phone kaat dia.

Mai naha dho ke fresh ho ke unke ghar chala gaya. Table lagi hui thi. Sab guests wapas ja chuke the ab sirf ghar wale hi reh gaye the. Shanti aur Payal bhi neeche aa gaye the. Sab ne nashta kia aur phir coffee peete peete idhar udhar ki batein karne lage. Shanti aur Payal ko honeymoon ke liye unke Shameerpet wale Bangalow pe bhejne ki tayyari chal rahi thi. Aunty boli ke Shanti aur Payal chale jaye. Laxmi sath chali jayegi jo khana paka degi aur doosre kaam kar degi. Kantilal Sait ko to inn baato ki parwah nahi thi. Unki dukan pichle 4 – 5 dino se band thi unko to bass dukan kholne ki jaldi padi thi aur wo bole ke mai to dukan ko ja raha hu tum log decide karlo aur agar Pinky bhi jana chahe to usko bhej do sath mai to Pinky boli ke nahi mai nahi ja sakti mujhe aajkal utli kuch ziada hi ho rahi hai aur mera doctor ke pas appointment bhi hai aur agar kisi ko koi objection nahi ho to Raja ko bhej do unke sath to Kantilal Sait bole ke haa yeh theek rahega, pooch lo Raja se, Shanti aur Payal se agar unko koi problem nahi hai to Raja ko le jayen un dono ko kuch company bhi mil jayegi. Mei ne oopri dil se bola ke aunty yeh inka Honeymoon hai aur mai unki privacy ke chalte kabab mai haddi nahi banna chahta to Shanti ne bola ke arey yaar aisi kia baat hai tum hamari family se alag thoda hi ho aur agar tum sath rahoge to kuch company bhi rahegi phir Shanti ne payal se poocha to Payal dheemi se muskan ke sath aahista se boli ke Raja sath chale to mujhe to koi problem nahi hai chal sakte hai hamare sath hamei bhi company mil jaygi. Jab Shanti aur Payal ne dono ne Raja ke naam ko accept kar lia to dinally yehi decide kia gaya ke Shanti, Payal, Laxmi aur mai ham charo waha rahenge thode dino tak aur phir yeh sab decide hone ke baad itmenan ki saans lete hue Kantilal Sait dukan chale gaye. Sham 5 baje tak nikalne ka programme bana tha. Mai bhi tayyari karne ke liye apne ghar aa gaya aur udhar Aunty, Pinky aur Laxmi mil ke Shanti aur Payal ka samaan pack karne lage.

Programme ke mutabik sham ke 5 baje ke aas paas ham charo nayee chamakti Innova mai baith ke bungalow ki taraf chal diye. Bungalow pohochne tak rat ke takreeban 7:30 – 8:00 baj gaye the. Bungalow ko dekhte hi ham sab ke muh se WOW nikla. Bada zabardast bangla tha jis ke ooper chote chote

rangeen bulbs ka design bana hua tha aur sare bulb roshan the andhere mai dulhan baha hua tha bangla. Gate se ander aane ke baad bhi takreeban 250 meter ke bad bangla shuru hota tha. 2 floor ka bohot bada makaan tha jis ke kamre bhi bohot bade bade the. Bohot ziada land hone ki wajah se kamre, sit outs, kitchen, bathrooms waghaira sab hi bohot bade bade banaye gaye the. Ek dum se Independent unit tha yeh. Bungalow ke peeche bohot door tak garden phaila hua tha aur ek bohot hi bada egg shaped swimming pool bhi tha. Actually yeh bangla main road se 1 kilometer ander ki taraf tha jaha jane ke liye in ke farmhouse jaisi ek private road bani hui thi. Gate ke sath hi Outhouse jaha ek choukidar Shamu rehta tha. Budha tha akela hi rehta tha. Ander aane ke bad bohot bada sa sitting portion jaha pe 3 sofa set pade hue the jinke beech glass top wali 3 center tables bhi padi hui thi. Bada sa kitchen jismai sari suvedhayen moujoud thi, Fridge, oven, Microwave etc. Especially preapred Honeymoon room bohot hi bada tha aur sab se last wala jaha se bungalow ka peeche wala hissa tha jaha se swimming pool aur garden nazar aata tha. Yeh room bohot khusbudar phoolo se achi tarah se saja hua tha. Queen size double bed jispe gulabi rang ki flower wali reshmi chaddar bichi hui thi. Payal ko dance ka bohot shok tha, wo badi achi trained dancer thi aur usko western slow dance bhi bohot hi pasand tha isi liye ander ki taraf bedroom ke kareeb ek alag se bana hua dancing room tha jaha complete latest music system aur lighting system laga hua tha jaisa ke kisi film studio mai hota hai waise complete systems lage hue the aur waha ek first class full round dance floor bana hua tha.

Ghar ko ham ek ghante tak ghoom ke dekhte aur ek ek cheez ki tareef karte rahe. Shanti aur Payal ka Honeymoon room to neeche hi tha par mere liye first floor pe ek room set kia hua tha aur Laxmi ke liye bhi ground floor pe hi ek room tha laikin Shanti aur Payal ki privacy ke chalte Laxmi ko bhi first floor pe bane hue Maid’s room mai se ek room de dia gaya. Ground floor se first floor tak jane ke liye jo staircase bana hua tha waha pe ek door bhi laga hua tha jise band karne se Ground aur first floor ek dum se alag ho jate the. Aur wahi staircase pe ek door bell bhi lagi hui thi jise baja ke first floor pe kisi ko bhi kisi zaroorat ke liye pukara ja sakta tha. Raat ke khane ke bad ham teeno ghoomne ke liye garden mai nikal gaye aur Laxmi khana kha ke bartan waghaira dho ke ooper apne kamre mai sone ke liye chali gayee. Payal aur Shanti kisi lovers ki tarah ek doosre ke hatho mai hath dale chal rahe the kabhi kabhi koi romantic bat ek doosre ke kaan mai kar ke muskurane lagte. Kaafi der

tak baher garden aur swimming pool ke paas ghoomne ke bad mai ne bola ke tum log yahi garden mai baith jao aur chandni raat ke full moon ko enjoy karo aur muskurate hue bola ke aur haa romance bhi karo mai ab tum dono ke beech mai kabab mai haddi nahi banna chahta, mai ja raha hu sone ke liye. Yeh keh kar mai chala aaya aur Ground floor aur first floor ke beech ke door ko ander se lock kar dia taa ke koi bina bataye ke ooper na aa sake aur apne kamre mai aa gaya. Apne kamre ki light kholi, dekha to mere bed pe Laxmi nangi leti mera intezar kar rahi thi. Mai Payal ki khubsurti dekh ke waise hi pagal ho chuka tha aur ab Laxmi ko apne bed pe nangi lete dekh ke to mera Lund ek dum se attention mai aa gya. Mai ne poocha ke agar Shanti kamre mai aa jata to kia karti, kia aise hi nange lete rehti to usne muskurate hue mujhe window se baher dekhne ke liye bola, window se baher dekha to Shanti aur Payal ek jhaad ke neeche khade ek doosre se lipte kissing kar rahe the ise dekh ke Laxmi ne bola ke mai ne dekh lia tha ke aap akele hi aa rahe ho isi liye mai aapke liye ready ho gayi meri chudai bhi bohot dino se nahi hui na aur meri choot bohot hi pyasi ho gayee hai ise apne Lund ka pani pila kar iski pyas ko bujha do aur yeh bohot bhooki hai ise apne Lund ki malai khila do aur mera hath pakad ke bistar mai khech lia. Uske pas se fresh sabun ki khushbu aa rahi thi. Lagta tha ke kitchen ke kaam kar ke wo bhi naha dho ke mere pas chudwane ayi hai taa ke paseene ki smell na aye.

Yeh 5 – 6 mahino mai Laxmi kuch ziada hi jawan lagne lagi thi. uske boobs bhi thode bade ho gaye the. Choot ka pedu bhi kuch uth gaya tha. Laikin abhi bhi uski kamsin choot bohot pyari lag rahi thi. Usne mujhe litaya aur pagalo ki tarah se choomne lagi aur bol rahi thi ke kitna tadapay hai aapne mujhe mai shabdo mai bata nahi sakti ab mere se aur sahan nahi hota bas ab pel do apna musal meri garam pyasi choot ke ander aur badi tezi se mere kapde nikalne lagi. Thodi hi der ke ander ham dono nange bistar mai ek doosre se lipte pade hue the.