Marwar ki mast malaai-मारवाड़ की मस्त मलाई compleet

Discover endless Hindi sex story and novels. Browse hindi sex stories, adult stories ,erotic stories. Visit mz.skoda-avtoport.ru
rajaarkey
Platinum Member
Posts: 3125
Joined: 10 Oct 2014 04:39

Re: Marwar ki mast malaai-मारवाड़ की मस्त मलाई

Unread post by rajaarkey » 13 Dec 2014 16:50

मारवाड़ की मस्त मलाई पार्ट --17



गतांक से आगे........................

दूल्हा दुल्हन जिनका हनिमून था वो तो गार्डेन मे रोमॅन्स कर रहे थे और जो साथ आए हुए थे वो हनिमून का मज़ा चुदाई कर के ले रहे थे. लक्ष्मी ने मुझे चित लिटा दिया और फॉरन ही मेरे लंड को अपने मूह मे ले के चूसने लगी. उसका गरम मूह मेरे लंड पे बोहोत अछा लग रहा था. वो मेरा लंड चूस रही थी और मैं उसके मस्त बूब्स को दबा रहा था. शाएद उसके बूब्स अब 30 या 32 के हो गये होंगे जिनपे छोटी सी निपल बोहोत अछी लग रही थी बोह्त कड़क थे उसके चुचियाँ.

फिर मैं ने उसके चूतदो को ठप थपाया जिस के चलते वो पलट गयी और मेरे ऊपेर 69 की पोज़िशन मे आ गयी. उसने शवर के टाइम पे चूत को भी अंदर से अछी तरह से धोया था इसी लिए उसकी चूत मे से भी साबुन की स्मेल आ रही थी. मेरी जीभ उसकी चूत से लगते ही वो पागल होगयी और मेरे मूह पे अपनी चूत पटाकने लगी. मेरे दाँत उसकी चूत से लग रहे थे और एक ही मिनिट के अंदर वो काँपने और झड़ने लगी. मेरा लंड उसके थ्रोट के अंदर तक चला गया था जिस के चलते उसके मूह से ग्ग्गह ग्ग्गह जैसे आवाज़ें निकल रही थी और इतना रोमॅंटिक सीन था के मेरे लंड से मलाई की पिचकारियाँ निकल के डाइरेक्ट उसके थ्रोट मे गिरने लगी. इतने दीनो से लंड को चूस्ते चूस्ते लक्ष्मी अब लंड चूसने मे एक्सपर्ट हो गई थी. वो मेरे ऊपेर पड़ी कांपति रही और झड़ती रही साथ मे मेरी मलाई खाती रही. थोड़ी देर का बाद जब उसका झड़ना ख़तम हुआ तो फिर भी वो मेरे ऊपेर वैसे ही लेटी रही और अब उसने मेरा लंड अपने मूह से निकाल दिया था और अपने हाथ मे पकड़ के मुथि मार के बोल रही थी के ऐसा मस्त लंड मुझे कहा मिलेगा बाबू तो मैं ने बोला के तू क्यों फिकर करती है तुझे जब मोका मिले मेरे से चुदवा लेना मैं तेरी छोटी सी टाइट चूत को कभी भी चोदने को तय्यार हू. वो इसी तरह से मेरे लंड से खेलती रही चूस्ति रही. मेरा लंड एक बार फिर से पूरी तरह से अकड़ चुका था. वो मेरे ऊपेर पलट गयी और मेरे लंड के सूपदे को अपनी चूत के सुराख मे टीका के एक ही झटके से लंड पे बैठ गयी और उसके मूह से ऊऊहह की आवाज़ आई और लंड उसकी चूत की गहराईओं मे गुम्म हो गया. वो मेरे ऊपेर झुकी हुई थी, मैं उसके बूब्स को चूस रहा था और अपनी गंद उठा उठा के अपने मूसल लंड से उसकी छोटी प्यारी चूत को चोद रहा था. वो जब मेरे लंड पे उछलती तो उसकी चुचियाँ डॅन्स करने लगती. थोड़ी देर तक वो मेरे ऊपेर ही उछलती रही और मेरे लंड को चोद ती रही. अब मेरी बारी थी, मैं ने उसको पलटा के नीचे पीठ के बल लिटा दिया और उसको टाइट पकड़ लिया उसकी टाँगें मेरे बॅक पे लपेटी हुई थी और मैं पूरी ताक़त से लक्ष्मी की टाइट चूत को चोद रहा था. वो फुल मस्ती मे आवाज़ें निकाल निकाल के चुदवा रही थी और बोल रही थी चोद डालो मेरी चूत को यह साली मुझे बोहोत सता ती है फाड़ डालो यह मदरचोड़ रंडी की चूत को आअहह ऊऊईईई म्‍म्माआअ आओउर्र ज़्ज़ूओरर ससीए आहह आऐईइसससी हहिईिइ म्‍म्मार्ररूव ब्बबाआबबुउउउ. मैं पूरे आधे घंटे तक उसको फुल स्पीड से चोदता रहा और वो शाएद 5 या 6 बार झाड़ चुकी थी जिस की वजह से उसकी चूत एक दम से गीली हो गयी थी और अब मेरा इतना बड़ा और मोटा मूसल लंड उसकी चूत मे बोहोत आसानी से अंदर बाहर हो रहा था. लंड को पूरा सूपदे तक बाहर खेच के निकाल निकाल के चोद रहा था और फिर एक बोहोत ही ज़ोर से झटका मारा तो लक्ष्मी के मूह से ज़ोर से ऊऊऊऊऊीीईईईईईईईईईई म्‍म्म्ममाआआअ निककला और मैं उसकी

बचे दानी के अंदर अपने लंड को घुसेड के गरम गरम गाढ़ी गाढ़ी पिचकारियाँ चोदने लगा. उस रात मैं ने लक्ष्मी को 3 बार और चोदा. उसके बाद हम दोनो एक ही बेड पे नंगे सो गये.

सुबह जब मैं तकरीबन 10 बजे उठा तो मुझे अपने आप को नंगा देख कर अचानक रात लक्ष्मी की चुदाई याद आई. देखा तो लक्ष्मी जा चुकी थी. मैं फ्रेश हो कर नीचे आया और डाइरेक्ट किचन मे चला गया जहा लक्ष्मी ब्रेकफास्ट को रेडी कर चुकी थी और टेबल पे लगाने की तय्यरी कर रही थी. मैं ने उसको पीछे से पकड़ लिया और उसके कड़क बूब्स को दबाने लगा और उसके नेक पे किस किया तो वो मस्त हो गयी और फिर हाथ नीचे डाल के उसकी चूत का मसाज किया तो उसकी टाँगें ऑटोमॅटिकली खुल गयी और अपना हाथ पीछे कर के मेरे आकड़े हुए लंड को पकड़ लिया और दबाने लगी. बाहर से पायल और शांति की बातो की आवाज़ आई तो मैं ने लक्ष्मी को छोड़ दिया और बाहर आ गया और वो दोनो को देख के गुड मॉर्निंग हनिमून कपल बोला तो दोनो मुस्कुरा दिए और हम टेबल पे बैठ के नाश्ता करने लगे. नाश्ते के दोरान मैं ने उनको पूछा के तुम लोग रातो को सोते भी हो या जागते ही रहते हो तो शांति और पायल दोनो मुस्कुरा दिए पर पायल की खामोश और खोई खोई सी मुस्कुराहट बोहोत कुछ बयान कर रही थी मैं ने दोनो को चियर अप किया कुछ जोक्स सुनाए कुछ अपने और शांति के स्कूल और कॉलेज की नट खाट बातें बताई और उस दिन पायल बोहोत हसी तो मैं ने कहा के देखो हस्ती हुई पायल कितनी अछी लगती है तो इस टाइम जब पायल मुस्कुराइ तो मैं समझ गया के यह रियल वाली खुशी की हँसी है और अब पायल सच मे एंजाय कर रही है. मे नाश्ता करते करते दोनो को अपने जोक्स और इधर उधर के क़िस्सो से एंटरटेन करता रहा. दोनो बिंदास हस्ते रहे. . नाश्ता करके हम कॉफी पी रहे थे उसके बाद कुछ गेम्स खेलने का प्रोग्राम बना. घर मे एक अछा ख़ासा बड़ा जिम भी था जहा एक कोने मे टेबल टेन्निस की टेबल भी पड़ी हुई थी, 6 – 8 बॅट्स और बॉल्स के 2 डिब्बे साइड की अलमारी मे रखे हुए थे. कॅरोम बोर्ड भी एक टेबल पे रखा हुआ था और भी बोहोत सारे इनडोर गेम्स थे, शटली कॉक का कोर्ट भी बना हुआ था. मैं टेबल टेन्निस बोहोत अछा खेलता था और कॉलेज का अथलेटिक चॅंपियन तो था ही साथ मे टेबल टेन्निस को भी अपने इंटर कोलीजिट मे रेप्रेज़ेंट कर चुका था और यह मेरा वन ऑफ दा फॅवुरेट गेम्स मे से एक था. नेक्स्ट कम्ज़ स्विम्मिंग. खैर. पहले टेबल टेन्निस खेला, शांति को तो थोड़ा बोहोत आता था हम दोनो खेलते रहे पर पायल को नही आता था तो वो हमे देखती रही. फिर कुछ देर के बाद डिसाइड किया के कॅरोम खेलते हैं तो पायल एक दम से खुश हो गयी और बच्चो जैसे उचकने लगी. पायल बोहोत ही एक्सपर्ट थी कारोम खेलने मे और

कॅरोम पायल का पसंदीदा गेम था. यूँ तो मैं कॅरोम खेलता था पर पायल की तरह एक्सपर्ट नही था. शान्ति को कॅरोम खेलना नही आता था इसी लिए मैं और पायल ही खेलने लगे. वो बड़े जोश मे खेल रही थी और मुझे हर गेम मे हरा रही थी. जीतने पर वो क्लॅपिंग कर के अपने दोनो हाथो की मुठियाँ बंद कर के हाथ को ऊपेर से नीचे यईससस्स कर के एंजाय करने लगती. ऐसे करती पायल एक दम से नन्न्हि बच्ची लगती वो गेम बोहोत एंजाय कर रही थी. थोड़ी देर के बाद हम वापस सिट्टिंग रूम मे आ गये और कुछ देर टीवी पे कोई फिल्म देखते रहे. डोपेहेर के तीन बजने वाले थे, लंच रेडी हो गया था. हम सब खाने को बैठ गये. लक्ष्मी ने खाना बोहोत ही टेस्टी बनाया था. सब ने पेट भर के खाना खाया और खाना खाने के बाद मैं ने शांति और पायल से बोला के तुम लोग थोड़ा रेस्ट ले लो और एक आँख बंद कर के बोला के अभी रेस्ट लेलो तो रात मे देर तक जाग के एंजाय कर सकते हो तो इस बात पे वो दोनो हस्ने लगे और बोले के ठीक है हम एक घंटा सो जाते है तो मैं ने बोला के ठीक है मैं भी ऊपेर अपने कमरे मे रेस्ट ले लेता हू ता के तुम लोगो को रात मे कंपनी दे सकु. लक्ष्मी बर्तन धोने मे और शाम के लिए कुछ लाइट नाश्ता बना ने मे बिज़ी हो गयी और मैं ऊपेर अपने कमरे मे आ के गहरी नींद सो गया.

शाम मे 6 बजे के करीब उठा, फ्रेश हो के नीचे आया, देखा तो शांति और पायल भी उसी वक़्त आए थे और टीवी के चॅनेल्स चेक कर रहे थे. ऐसे ही चेक करते करते एक अडल्ट चॅनेल लग गया जहा एक लड़का एक लड़की को बिस्तर मे लिटा के धना धन चोद रहा था और लड़की की मोनिंग की आवाज़े आ रही थी और देखते ही देखते उसने अपना लंबा मोटा लंड लड़की की चूत से बाहर निकाला और उसके लंड मे से मलाई की मोटी पिचकारी इतनी ज़ोर से निकली के लड़की के मूह और सर के बालों मे गिरी और बाकी की पिचकारियाँ उसके बूब्स पे और पेट पे गिरने लगी. पायल तो यह सब देख के दंग रह गयी, उसका मूह खुला का खुला रह गया और फिर शांति ने फॉरन ही चॅनेल चेंज कर दिया. हम तीनो कुछ देर तक कुछ भी नही बोल पाए और सन्नाटे मे बैठे थे के शांति के मोबाइल की घंटी बजी, आंटी का फोन था उन्हो ने पूछा कैसा चल रहा है, सब ठीक तो है ना, तो शांति ने कहा के हा मम्मी सब ठीक है और हम एंजाय कर रहे है, आंटी ने फिर पायल से बात की पायल भी बोली के वो बोहोत खुश है और एंजाय कर रही है फिर आंटी मेरे से बात करने लगी और पूछा के कैसा चल रहा है तो मैं ने बोला के हा सब ठीक ही है फिर बोली के तुम्हारी याद आ रही है राजा तो मैं कुछ नही बोला क्यॉंके शांति और पायल करीब ही बैठे थे आंटी ने फोन पे थोड़े से किस किए और फिर लाइन कट हो गयी. पायल ने अपनी मम्मी को फोन लगाया और उनसे बात करने लगी और बोली के यहा सब बोहोत अछा है मम्मी और

हम लोग एंजाय कर रही है. फिर हम लोग टीवी देखने लगे. थोड़ी देर के बाद शांति के पिताजी का फोन आया. शांति को बुला रहे थे के बोहोत ही इंपॉर्टेंट काम है शांति बोला के पिताजी कल सुबह आउ तो चलेगा तो उन्हो ने बोला के नही रात मे ही आना पड़ेगा क्यॉंके कोई एक बोहोत ही बड़ी कंपनी का डेलिगेशन आ रहा है और बिज़्नेस डिन्नर है और शांति का रहना बहुत ज़रूरी है. शांति ने पायल से बोला के उसको अर्जेंट मीटिंग के लिए जाना है तो वो बोली के मैं भी चलूंगी तो शांति बोला के अरे तुम घबराती क्यों हो यही इतमीनान से रहो मैं जल्दी ही वापस आ जाउन्गा जब तक राजा है ना यह तुम्हाई कंपनी देगा. यूँ समझो के राज मेरी जगह पे है शांति और राज एक ही हैं. राजा तुम्हारे साथ है तो यह समझो के शांति तुम्हारे साथ है. शांति ही राजा है और राजा ही शांति है. इस से बढ़ के मैं और क्या बोल सकता हू तुम भी राज का पूरा पूरा ख़याल रखना वो हमारे परिवार का ही एक हिस्सा है उसने बोहोत कुछ किया है हमारे परिवार के लिए, तुमने राजा का ख़याल रखा तो समझो के अपने शांति का ख़याल रखा, और ऐसे समझो के जिस चीज़ पे मेरा राइट है उस चीज़ पर राजा का भी राइट है. तुम उसके साथ हर वो चीज़ शेर कर सकती हो जो मेरे साथ शेर करती हो या मेरे साथ शेर करने का मंन करता है. बॅस इतना और कहूँगा के राजा तुम्हारा है और तुम राजा की हो उसके साथ जो करना चाहो करो, वो अपना ही है, वो जैसा कहेगा वैसा ही करना और आइ आम शुवर के राज भी तुम्हारा पूरा ख़याल रखेगा, तुम्है खुश रखेगा और तुमको मेरी कमी महसूस होने नही देगा. फिर हंसते हुए बोला के वैसे भी हनिमून कंप्लीट होने से पहले वापस जाना अछी बात नही है. पायल मान गयी और अपना राइट हॅंड शोल्डर तक उठा के जैसे मंत्री लोग एलेक्षन के बाद मंत्री बनने पर शपथ लेते है अपना पोर्टफोलीयो संभालने से पहले वैसे ही शपथ लेने के स्टाइल मे मुस्कुराते हुए शांति के सेंटेन्सस को रिपीट करते हुए बोली के आप फिकर मत कीजिए मैं राजा का पूरा ख़याल रखूँगी और ऐसे रखूँगी जैसे मैं शांति का ख़याल रखती हू और मैं भी यही समझूंगी के मेरे साथ राजा नही बलके शांति मेरे साथ है, राजा मेरा ही है और मैं राजा की हू और मैं उसके साथ वो ही सब कुछ करूँगी जो आपके साथ करना चाहती हू और यह जैसा कहेगा मैं वैसा ही करूँगी अब खुश ? इतना बोल कर वो हस्ने लगी तो शांति मेरे सामने ही उसके लिप्स पे एक ज़बरदस्त किस करते हुए बोला के पायल यू आर वंडरफुल और मैं तुम से बे इंतेहा प्यार करता हू तो पायल बोली के मैं भी तुम से उतना ही प्यार करती हू जितना तुम मुझ से करते हो. यह सुन के शांति खुश हो गया. शांति मेरे कू बोला के हे राज देख यार पायल का अछी तरह से ख़याल रखना तो मैं ने सर हिला के बोला के तू फिकर ना कर तेरे वापस आने तक मैं पायल का अछी तरह से ख़याल भी रखूँगा और उसको अछी कंपनी भी

दूँगा, उसको हमेशा खुश रखूँगा, जैसा तू ने कहा है वैसा ही करूँगा और उसको बिल्कुल भी बोर होने नही दूँगा और तुम्हारी कमी को बिल्कुल भी महसूस होने नही दूँगा, उसको एक मिनिट के लिए भी अपने से अलग भी नही करूँगा तुम बे फिकर हो के जाओ और अपना बिज़्नेस अटेंड करो ऐसे फॉरिन डेलिगेशन बार बार नही आते. यह सुनके उसके शांति के चेहरे पे इतमीनान आ गया और वो पायल को उसके लिप्स पे किस किया और कार ले के चला गया.

पायल कुछ देर तक गुम सूम सी बैठी रही फिर मैं ने बोला के अरे पायल तुम हनिमून मे ऐसे बैठी रहोगी तो कैसे चलगा यार तुमको तो हर पल एंजाय करना है. खाओ पिओ खेलो कूदो कुश रहो और एंजाय करो यार तो वो मुस्कुरा दी फिर बोली के चलो कॅरोम खेलते है तो मैं ने सोचा के यह उसका फॅवुरेट गेम है खेलना चाहिए ता के वो खुश हो जाए और हुआ भी ऐसा ही. पायल गेम पर गेम जीत ती रही और खुश हो ती रही. थोड़ी ही देर मैं उसका मूड एक दम से चेंज हो गया उसकी आँखो मे चमक आ गयी और वो फिर से एंजाय करने लगी. मैं ने पूछा के कार्ड्स खेलती हो तो उसने बोला के हा खेलती हू और फिर हम कार्ड्स मे रमी का गेम ही जानती हू फिर हम रमी ही खेलने बैठ गये. कभी पायल जीत लेती गेम तो कभी मैं जीत लेता. इसी तरह से टाइम गुज़रता रहा और फिर हम ने डिन्नर किया. पायल ने लक्ष्मी से बोला के कॉफी बना दो और फिर हम दोनो टीवी रूम मे आ के सोफे पे बैठ गये और टीवी देखने लगे. थोड़ी ही देर मे लक्ष्मी कॉफी ले के आ गयी और हम कॉफी पीने लगे. हमारे कॉफी ख़तम करने के बाद लक्ष्मी कॉफी की ट्रे वापस उठा के ले गयी और हमसे पूछा के कुछ और चाहिए क्या तो हम ने बोला के नही हमै अभी कुछ नही चाहिए तुम खाना खा लो और सफाई का काम ख़तम कर के सो जाओ तो उसने बोला के ठीक है बीबी कुछ भी चाहिए तो मुझे बोल देना हम ने कहा ओके बोल देंगे तुम फिकर ना करो.

रात के तकरीबन 8:00 या 8:30 बजे होंगे पायल ने बोला के चलो राज बाहर गार्डेन मे चलते है और थोड़ी फ्रेश एर मे बैठ के आते है और हम टीवी लॉंग से उठ कर बंगले के पिछले पोर्षन से बाहर निकल के गार्डेन मे आ गये और हरी हरी घांस मे घूमने लगे और इधर उधर की बातें करने लगे. बचपाने की बातें, कॉलेज की बातें, रिश्ते दारो की बातें, पिंकी की बातें, पायल के फ्रेंड्स की बातें वाघहैरा वाघहैरा यह सब बातें करते करते पायल मेरे से अछी तरह घुल मिल गयी थी और मुझे वो फिर से बचपन वाली पायल लगने लगी जिसके साथ कभी हम मस्ती किया करते थे. पायल अब मेरे हाथ मे हाथ डाल के घूमने लगी. गार्डेन मे रात के टाइम घूमना बोहोत अछा लग रहा था ठंडी और फ्रेश एर बोहोत अछी लग रही थी. तकरीबन आधे घंटे तक हम

गार्डेन मे घूमते रहे फिर मैं ने बोला के चलो किसी झाड़ के नीचे बैठ जाते है तो पायल ने बोला के हे राजा क्यों ना हम कार्ड्स का गेम यही गार्डेन मे बैठ के खेले तो मैं ने कहा के वेरी गुड, आइडिया बुरा नही है. मैं ने बोला के तुम यही ठहरो मैं अंदर जा के एक चदडार और कार्ड्स ले के आता हू तो उसने बोला का नही मैं भी चलती हू और फिर हम दोनो अंदर आ गये मैं ने बोला के एक मिनिट मैं पिशब करके आता हू और ऊपेर चला गया और पिशाब कर के अपने कपड़े चेंज किया और अपना पॅंट निकाल के बॉक्सर्स शॉर्ट्स और बानयन पहेन के नीचे आ गया, पायल ने भी चेंज कर लिया था अब वो एक पतला सा सलवार सूट पहने हुए थी और बोहोत ही खुसबसूरत लग रही थी. हम एक चदडार, कुछ खाने पीने की चीज़ें, पानी और जूस के बॉटल्स, छोटा सा म्यूज़िक प्लेयर और कार्ड्स ले के फिर से गार्डेन मे वापस आ गये. मुझे कल रात का एक्सपीरियेन्स था के लक्ष्मी रूम की विंडो से हमै देख सकती है इसी लिए मैं ने ऐसी जगह चूज़ की जहा हमै लक्ष्मी ना देख सके और वाहा पे ही एक पेड़ के नीचे चदडार बिछा के बैठ गये. अब मुझे यकीन था के लक्ष्मी हमै नही देख सकेगी. हम जहा बैठे थे वाहा बोहोत ज़ियादा अंधेरा भी नही था और बोहोत ज़ियादा उजाला भी नही था कुछ तो चाँद की रोशनी थी कुछ गार्डेन मे लॅंप पोस्ट लगे थे उनकी रोशनी ऐसे थी के बॅस धीमी सी रोशनी आ रही थी जिस्मै कार्ड्स तो आ सानी से देखे जा सकते थे और हम कार्ड्स खेलने लगे.

थोड़ी देर तक तो ऐसे ही खेलने लगे फिर मैं ने बोला के पायल क्यों ना कुछ बेट्टिंग की जाए यार तो उसने बोला के क्या बेट्टिंग होगी तो मैं ने बोला के सुनो, जो गेम हार जाएगा, उसको वो करना पड़ेगा जो जीतने वाला बोलेगा तो वो खुश हो गयी और क्लॅपिंग करते हुए बोली के वाह वंडरफुल आइडिया राजा. चलो स्टार्ट करो. पहले गेम पायल ने जीता उसने बोला के ओके राजा तुम मुझे कोई अछा सा गाना सूनाओ तो मैं ने बोला के ठीक है सुनाता हू पर मेरी आवाज़ अछी नही है तो उसने बोला कोई बात नही जैसा सुना सकते हो सूनाओ. मैं ने अपना गला सॉफ किया और गाने लगा

“तेरी प्यारी प्यारी सूरत को,

किसी की नज़र ना लगे,

चश्म ए बद्दूर,

यूँ ना अकेले फिरा करो,

सब की नज़र से बचा करो,

चाँद से ज़ियादा नाज़ुक हो तुम,

चाल संभाल कर चला करो.

मुखड़े को च्छूपा लो आँचल मैं,

कही मेरी नज़र ना लगे,

चश्म ए बद्दूर”

मैं गाना गा रहा था और उसकी तरफ ऐसे इशारे कर रहा था जैसे मैं उसकी खूबसूरती की तारीफ कर रहा हू, वो शरमा रही थी और गाना ख़तम हुआ तो बोली के वाह राजा वा तुम तो बोहोत अछा गा लेते हो, यह गाना कोन्सि फिल्म का है तो मैं ने बोला के यह एक बोहोत ही पुरानी फिल्म है “ससुराल” यह गाना उसी फिल्म का है और मुझे बे इंतेहा पसंद है तो वो बोली के हा गाना तो सच मे अछा और मीनिंग्फुल है.

नेक्स्ट गेम मे वो हार गयी तो मैं ने बोला के एक सेक्सी जोक सूनाओ तो वो शर्मा गयी और बोली के मुझे कोई सेक्सी जोक नही आता तो मैं ने कहा के ठीक है कोई दूसरा सिंपल नॉर्मल वाला जोक ही सुना दो तो उसने एक ऑर्डिनरी जोक सुनाया. फिर नेक्स्ट गेम मे वो जीत गयी और बोली के अब तुम मुझे एक सेक्सी जोक सूनाओ तो मैं ने बोला के देखो थोड़ा सा ओपन होगा तुम कुछ माइंड तो नही करोगी, तो उसने कहा के नही मुझे कोई प्राब्लम नही है तुम सूनाओ, तो मैं ने सुनाया

“वाइफ: डॉक्टर. मेरे पति के लंड पे मधु मक्खी ने काटा है”

डॉक्टर: “ओह!! सूज गया. दर्द भी है क्या?

वाइफ: “जी हां, लैकिन आप सिर्फ़ दर्द की दवा दो, सूजन रहने दो !!! जब मोटा लंड चूत के अंदर जाता है तो मुझे बोहोत अछा लगता है”

यह सुन के वो शरमा गयी और अपने मूह पे हाथ रख लिया और बोली तुम बड़े गंदे हो. खेल फिर शुरू हुआ, मैं एक बार फिर से हार गया. अब पायल को भी सेक्सी जोक्स मे मज़ा आने लगा था तो उसने कहा के एक और सेक्सी जोक सूनाओ तो मैं ने सुनाया

“नेवेर फक आ टेलिफोन ऑपरेटर, आफ्टर 3 मिनिट्स, शी’ल्ल से युवर टाइम ईज़ ओवर. नेवेर फक आ नर्स, शी’ल्ल से नेक्स्ट प्लीज़ बट फक आ टीचर, शी’ल्ल से इट’स गुड, नाउ रिपीट इट 5 टाइम्स”

वो फिर हस्ने लगी. अब वो मेरे सेक्स जोक्स को बे इंतेहा एंजाय करने लगी थी और उसकी आँखों मे एक नयी चमक भी आ गई थी. मैं एक और गेम फिर से जान बुझ के हार गया और उसने एक और सेक्स जोक के लिए बोला तो मैं ने यह जोक सुनाया

“एक पति ने पत्नी से कहा, चुदवाने का मूड हो तो मेरे लंड को हाथ मे पकड़ के 2 बार हिलाओ.

वाइफ ने पूछा और अगर मूड नही हो तो ?

पति ने बोला के अगर मूड नही हो तो लंड को मुथि मे पकड़ के 50 – 60 बार हिलाओ !!!

इतना सुनते ही वो बोहोत ज़ोर ज़ोर से हस्ने लगी और बोली सच मे राज बोहोत ही गंदे हो तुम. मेरा लंड एक दम से अकड़ के किसी मिज़ाइल की तरह से खड़ा हो गया था और मेरे बॉक्सर्स शॉर्ट्स मे टेंट बना दिया था. अब हम खेल नही रहे थे बॅस सेक्सी जोक्स सुना रहे थे वो बोहोत ही एंजाय कर रही थी थोड़ी थोड़ी देर मे जोक्स को याद कर कर के शरमा शरमा के हंस रही थी. मैं अपनी टाँगें सीधी कर के चदडार पे लेट गया और अपना हाथ अपने सर के नीचे रख लिया जिस से मेरे शॉर्ट्स के अंदर का टेंट सॉफ नज़र आने लगे. हम पिल्लो नही लाए थे इसी लिए बिना पिल्लो के ही पायल के सामने लेटा था तो उसने मेरे सर को अपने हाथ मैं पकड़ के अपनी मूडी हुई रान ( थाइ ) पे रख लिया और बोली के राजा यहा रख लो ना ऐसे लेटो गे तो सर मे दरद हो जाएगा. अब मेरा सर उसकी नरम रानो पे थे जिससे से मेरे लंड मे कुछ और ही सख्ती आ गयी और वो हिलने भी लगा था. मैं ने पायल की तरफ देखा तो पाया के वो मेरे लंड को चोर नज़रो से देख रही है. मैने अपने दोनो हाथ उसकी कमर के दोनो तरफ डाल के उसको पकड़ लिया और वो अपनी उंगलियाँ मेरे सर मे डाले मेरे बालो से खेल रही थी और बोहोत ही धीमी और सेक्सी आवाज़ मैं बोली के राजा थोड़े और सेक्सी जोक्स सूनाओ ना मज़ा आ रहा था तो मैं ने बोला के ठीक है पहले एक छोटी सी पोएम सुनाता हू तो वो बोली के ओके. मैं ने स्टार्ट किया .

पुसी पुसी लिट्ल स्टार

लेट मी रब इन दा सलवार

उप अबव दा लेग्स सो हाइ

ऑल्वेज़ वेट नेवेर ड्राइ

कम ऑन बेबी डॉन’ट फील शाइ

गिव मी बेबी वन मोर ट्राइ !!!!!

गिव मी बेबी वन मोर ट्राइ !!!!!

वो फिर हँसने लगी बोली कुछ और: तो मैने एक और जोक सुनाया

टीचर : “किया चीज़ मूह मे नही लेनी चाहिए”

स्टूडेंट : “जलता हुआ बल्ब”

टीचर : “क्यों”

स्टूडेंट : “कल रात मेरे मम्मी पापा से बोल रही थी बल्ब बुझाओगे तो मूह मे लूँगी”

उसने मेरे सर पे एक हल्की सी चपत लगयी और हँसने लगी.

तलवार और सलवार मे क्या समानता है पता है तुम्है ? तो वो बोली के नही तो मैं बोला के “दोनो के खुलने पे आदमी घायल हो जाता है वो बोली धत्त और हस्ने लगी. मैं ने बोला के अब तुम कुछ सूनाओ ना प्लीज़ तो उसने बोला के

देखो मुझे एक दो जोक्स ही आते तो है पर मैं ऐसे शब्द निकालने से शरमाती हू तो मैं ने बोला के अरे इस्मै शरमाने की क्या बात है जैसे हम हाथ को हाथ कहते है, आँख को आँख, पैर को पैर, पेट को पेट तो फिर लंड को लंड और चूत को चूत कहने मे कैसी शरम तो वो बोली के प्लीज़ ना राजा तो मैं ने बोला के प्लीज़ पायल मेरे से मत शरमाओ प्लीज़ और फिर यहा और कोई है भी तो नही ना जो हमे देख रहा हो या हमारी बातें सुन रहा हो और मैं प्रॉमिस करता हू के किसी से भी नही बोलूँगा तो वो शरमाते शरमाते रेडी हो गयी और बोली ठीक है सुनो तो मैं ने बोला के ठहरो एक बात और तो उसने पूछा क्या? तो मैं ने बोला के देखो जब भी मैं और तुम अकेले हो तो तुम आटीस्ट मेरे से नही शरमाना और चूत को चूत लंड को लंड बोलना मुझे गर्ल्स के मूह से यह शब्द सुनना बोहोत अच्छा लगता है तो वो हस्ने लगी और बोली के बोहोत खराब हो तुम मेरी ज़ुबान भी खराब करोगे फिर बोली के ओके मान लिया बाबा जैसा तुम कहोगे वैसे ही होगा अब जोक सुनो.

पायल का चेहरा शरम से लाल हो गया और उसने शरमाते शरमाते बोलना शुरू किया :

“इंटरव्यूवर : सरदरजी बताओ कोन्सि चीज़ तेज़ चलती है जिसके 4 पावं है.

सरदार : कार

इंटरव्यूवर : ग़लत, होंडा कार. ओके नेक्स्ट

वो क्या है जिसके 2 पहिए हैं और बोहोत तेज़ चलती है

सरदार : मोटर साइकल

इंटरव्यूवर : ग़लत यामेहा मोटर साइकल

नाउ सरदार पागल हो गया और बोला इंटरव्यू गया भोस्डे मे अब मेरे सवाल का जवाब दो.

सरदार : इधर बॉल उधर बाल बीच मे चाद

इंटरव्यूवर : चूत

सरदार : नही ग़लत “तेरी मा की चूत”

इतना सुनते ही मैं हँसने लगा और वो तो शरमाते हुए इतना हँसी और मेरे ऊपेर झुके के आ गयी जिस से उसके बूब्स मेरे चेहरे पे लगने लगे. मुझे उसके कड़क बूब्स अपने चेहरे पे बोहोत ही आछे लग रहे थे मेरा दिल कर रहा था के उसके बूब्स को पकड़ के दबा डालु और मूह मे ले के चूसना शुरू कर दू पर मैं ने ऐसा नही किया क्यॉंके मेरा प्लान तो कुछ और ही था.

--

साधू सा आलाप कर लेता हूँ ,

मंदिर जाकर जाप भी कर लेता हूँ ..

मानव से देव ना बन जाऊं कहीं,,,,

बस यही सोचकर थोडा सा पाप भी कर लेता हूँ

आपका दोस्त

राज शर्मा

(¨`·.·´¨) ऑल्वेज़

`·.¸(¨`·.·´¨) कीप लविंग &

(¨`·.·´¨)¸.·´ कीप स्माइलिंग !

`·.¸.·´ -- राज

Mast Marwari Malaai ( MMM )--paart--17

Dulha Dulhan jinka honeymoon tha wo to garden mai romance kar rahe the aur jo sath aye hue the wo honeymoon ka maza chudai kar ke le rahe the. Laxmi ne mujhe chit lita dia aur foran hi mere Lund ko apne muh mai le ke choosne lagi. Uska garam muh mere Lund pe bohot acha lag raha tha. Wo mera Lund choos rahi thi aur mai uske mast boobs ko daba raha tha. Shaed uske boobs ab 30 ya 32 ke ho gaye honge jinpe choti si nipple bohot achi lag rahi thi boht kadak the uske chuchian.

Phir mai ne uske chootado ko thap thapaya jis ke chalte wo palat gayee aur mere ooper 69 ki position mai aa gayi. Usne shower ke time pe choot ko bhi ander se achi tarah se dhoya tha isi liye uski chootmai se bhi sabun ki smell aa rahi thi. Meri jeebh uski choot se lagte hi wo pagal hogayee aur mere muh pe apni choot patakne lagi. Mere dant uski choot se lag rahe the aur ek hi minute ke ander wo kaanpne aur jhadne lagi. Mera Lund uske throat ke ander tak chala gaya tha jis ke chalte uske muh se ggghhhh ggghhhh jaise awazein nikal rahi thi aur itna romantic scene tha ke mere Lund se malai ki pichkariyan nikal ke direct uske throat mai girne lagi. Itne dino se Lund ko chooste chooste laxmi ab Lund choosne mai expert ho gai thi. Wo mere ooper padi kaanpti rahi aur jhadti rahi sath mai meri malai khati rahi. Thodi der ka bad jab uska jhadna khatam hua to phir bhi wo mere ooper waise hi leti rahi aur ab usne mera Lund apne muh se nikal dia tha aur apne hath mai pakad ke muthi maar ke bol rahi thi ke aisa mast Lund mujhe kaha milega babu to mai ne bola ke tu kyon fikar karti hai tujhe jab moka mile mere se chudwa lena mai teri choti si tight choot ko kabhi bhi chodne ko tayyar hu. Wo isi tarah se mere Lund se khelti rahi choosti rahi. Mera Lund ek bar phir se poori tarah se akad chuka tha. Wo mere ooper palat gayee aur mere Lund ke supade ko apni choot ke surakh mai tika ke ek hi jhatke se Lund pe baith gayee aur uske muh se oooohhhhhhhhhhh ki awaz ayi aur Lund uski choot ki gehraion mai gumm ho gaya. Wo mere ooper jhuki hui thi, mai uske boobs ko choos raha tha aur apni gand utha utha ke apne Musal Lund se uski choti pyari choot ko chod raha tha. Wo jab mere Lund pe uchalti to uski chuchian dance karne lagti. Thodi der tak wo mere ooper hi uchalti rahi aur mere Lund ko chod ti rahi. Ab meri bari thi, mai ne usko palta ke neeche peeth ke bal lita dia aur usko tight pakad lia uski tangein mere back pe lapeti hui thi aur mai poori takat se Laxmi ki tight choot ko chod raha tha. Wo full masti mai awazein nikal nikal ke chudwa rahi thi aur bol rahi thi chod dalo meri choot ko yeh Sali mujhe bohot satat ti hai phad dalo yeh maderchod randi ki choot ko aaahhhh ooooeeeeeee mmmaaaaa aaauurr zzooorr sseee aahhhhh aaaiisssee hhiiii mmmaarrrooo bbbaaabbuuuu. Mai poore aadhe ghante tak usko full speed se chodta raha aur wo shaed 5 ya 6 bar jhad chuki thi jis ki wajah se uski choot ek dum se geeli ho gayee thi aur ab mera itna bada aur mota musal Lund uski choot mai bohot aasaani se ander baher ho raha tha. Lund ko poora supade tak baher khech ke nikal nikal ke chod raha tha aur phir ek bohot hi zor se jhatka mara to Laxmi ke muh se zor se ooooooooooiiiiiiiiiiiii mmmmmaaaaaaa nikkla aur mai uski

bache dani ke ander apne Lund ko ghused ke garam garam gaadhi gaadhi pichkariyan chodne laga. Uss raat mai ne Laxmi ko 3 baar aur choda. Uske bad ham dono ek hi bed pe nange so gaye.

Subah jab mai takreeban 10 baje utha to mujhe apne aap ko nanga dekh kar achanak raat laxmi ki chudai yaad ayi. Dekha to laxmi ja chuki thi. Mai fresh ho kar neeche aaya aur direct kitchen mai chala gaya jaha Laxmi breakfast ko ready kar chuki thi aur table pe lagane ki tayyari kar rahi thi. Mai ne usko peeche se pakad lia aur uske kadak boobs ko dabane laga aur uske neck pe kiss kia to wo mast ho gayi aur phir hath neeche dal ke uski choot ka massage kia to uski tangein automatically khul gayii aur apna hath peeche kar ke mere akde hue Lund ko pakad lia aur dabane lagi. Baher se Payal aur Shanti ki bato ki awaz ayi to mai ne Laxmi ko chhor dia aur baher aa gaya aur wo dono ko dekh ke Good Morning honeymoon couple bola to dono muskura diye aur ham table pe baith ke nashta karne lage. Nashte ke doran mai ne unko poocha ke tum log raato ko sote bhi ho ya jaagte hi rehte ho to shanti aur Payal dono muskura diye par payal ki khamosh aur khoi khoi si muskurahat bohot kuch bayan kar rahi thi mai ne dono ko cheer up kia kuch jokes sunaye kuch apne aur shanti ke school aur college ki nat khat batein batayi aur us din payal bohot hasi to mai ne kaha ke dekho hasti hui payal kitni achi lagti hai to iss time jab payal muskurayi to mai samajh gaya ke yeh real wali khushi ki hansi hai aur ab payal sach mai enjoy kar rahi hai. Mai nashta karte karte dono ko apne jokes aur idhar udhar ke kisso se entertain karta raha. Dono bindaas haste rahe. . Nashta karke ham coffee pii rahe the uske bad kuch games khelne ka programme bana. Ghar mai ek acha khasa bada Gym bhi tha jaha ek kone mai Table Tennis ki table bhi padi hui thi, 6 – 8 bats aur balls ke 2 dibbe side ki almari mai rakhe hue the. Carrom board bhi ek table pe rakha hua tha aur bhi bohot sare indoor games the, Shuttle Cock ka court bhi bana hua tha. Mai Table Tennis bohot acha khelta tha aur college ka athletic champion to tha hi sath mai Table Tennis ko bhi apne inter collegiate mai represent kar chuka tha aur yeh mera one of the favourite games mai se ek tha. Next comes Swimming. Khair. Pehle Table tennis khela, Shanti ko to thoda bohot aata tha ham dono khelte rahe par payal ko nahi aata tha to wo hamei dekhti rahi. Phir kuch der ke bad decide kia ke Carrom khelte hain to Payal ek dum se khush ho gayee aur bacho jaise uchakne lagi. Payal bohot hi expert thi carom khelne mai aur

carrom Payal ka pasandeeda game tha. Yun to mai carrom khelta tha par Payal ki tarah expert nahi tha. Sahnti ko Carrom khelna nahi aata tha isi liye mai aur Payal hi khelne lage. Wo bade josh mai khel rahi thi aur mujhe har game mai hara rahi thi. Jeetne par wo clapping kar ke apne dono hatho ki muthian band kar ke hath ko ooper se neeche yyeessss kar ke enjoy karne lagti. Aise karti payal ek dum se nannhi bachi lagti wo game bohot enjoy kar rahi thi. Thodi der ke bad ham wapas sitting room mai aa gaye aur kuch der TV pe koi film dekhte rahe. Dopeher ke teen bajne wale the, lunch ready ho gaya tha. Ham sab khane ko baith gaye. Laxmi ne khana bohot hi tasty banaya tha. Sab ne pet bhar ke khana khaya aur Khana khaane ke bad mai ne Shanti aur Payal se bola ke tum log thoda rest le lo aur ek aankh band kar ke bola ke abhi rest lelo to raat mai der tak jaag ke enjoy kar sakte ho to iss bat pe wo dono hasne lage aur bole ke theek hai ham ek ghanta so jate hai to mai ne bola ke theek hai mai bhi ooper apne kamre mai rest le leta hu taa ke tum logo ko raat mai company de saku. Laxmi bartan dhone mai aur sham ke liye kuch light nashta bana ne mai busy ho gayee aur mai ooper apne kamre mai aa ke gehri neend so gaya.

Sham mai 6 baje ke kareeb utha, fresh ho ke neeche aaya, dekha to Shanti aur Payal bhi usi waqt aye the aur TV ke channels check kar rahe the. Aise hi check karte karte ek adult channel lag gaya jaha ek ladka ek ladki ko bistar mai lita ke dhana dhan chod raha tha aur ladki ki moaning ki awazin aa rahi thi aur dekhte hi dekhte usne apna lamba mota Lund ladki ki choot se baher nikala aur uske Lund mai se malai ki moti pichkari itni zor se nikli ke ladki ke muh aur sar ke balon mai giri aur baki ki pichkariyan uske boobs pe aur pet pe girne lagi. Payal to yeh sab dekh ke dang reh gayi, uska muh khula ka khula reh gaya aur phir Shanti ne foran hi channel change kar dia. Ham teeno kuch der tak kuch bhi nahi bol paye aur sannate mai baithe the ke Shanti ke mobile ki ghanti baji, Aunty ka phone tha unho ne poocha kaisa chal raha hai, sab theek to hai na, to shanti ne kaha ke haa mummy sab theek hai aur ham enjoy kar rahe hai, Aunty ne phir Payal se bat ki Payal bhi boli ke wo bohot khush hai aur enjoy kar rahi hai phir aunty mere se bat karne lagi aur poocha ke kaisa chal raha hai to mai ne bola ke haa sab theek hi hai phir boli ke tumhari yad aa rahi hai raja to mai kuch nahi bola kyonke shanti aur payal kareeb hi baithe the aunty ne phone pe thode se kiss kiye aur phir line cut ho gayi. Payal ne apni mummy ko phone lagaya aur unse bat karne lagi aur boli ke yaha sab bohot acha hai mummy aur

ham log enjoy kar rahi hai. Phir ham log TV dekhne lage. Thodi der ke bad Shanti ke pitaji ka phone aaya. Shanti ko bula rahe the ke bohot hi important kaam hai Shanti bola ke pitaji kal subah aun to chalega to unho ne bola ke nahi raat mai hi aana padega kyonke koi ek bohot hi badi company ka delegation aa raha hai aur business dinner hai aur Shanti ka rehna bohut zaroori hai. Shanti ne payal se bola ke usko urgent meeting ke liye jana hai to wo boli ke mai bhi chalungi to shanti bola ke arey tum ghabrati kyon ho yahi itmenan se raho mai jaldi hi wapas aa jaunga jab tak Raja hai na yeh tumhai company dega. Yun samjho ke raaj meri jagah pe hai Shanti aur Raj ek hi hain. Raja tumhare sath hai to yeh samjho ke Shanti tumhare sath hai. Shanti hi Raja hai aur Raja hi Shanti hai. iss se badh ke mai aur kia bol sakta hu tum bhi Raj ka poora poora khayal rakhna wo hamare parivar ka hi ek hissa hai usne bohot kuch kia hai hamare parivar ke liye, tumne Raja ka khayal rakha to samjho ke apne Shanti ka khayal rakha, aur aise samjho ke jis cheez pe mera right hai uss cheez par Raja ka bhi right hai. Tum uske sath har wo cheez share kar sakti ho jo mere sath share karti ho ya mere sath share karne ka mann karta hai. Bass itna aur kahunga ke Raja tumhara hai aur tum Raja ki ho uske sath jo karna chaho karo, wo apna hi hai, wo jaisa kahega waisa hi karna aur I am sure ke Raj bhi tumhara poora khayal rakhega, tumhai khush rakhega aur tumko meri kami mehsoos hone nahi dega. Phir hanste hue bola ke waise bhi honeymoon complete hone se pehle wapas jana achi bat nahi hai. Payal maan gayi aur apna right hand shoulder tak utha ke jaise Mantri log election ke baad Mantri banne par shapat lete hai apna portfolio sambhalne se pehle waise hi shapat lene ke style mai muskurate hue Shanti ke sentences ko repeat karte hue boli ke aap fikar mat kijiye mai Raja ka poora khayal rakhungi aur aise rakhungi jaise mai Shanti ka khayal rakhti hu aur mai bhi yehi samjungi ke mere sath Raja nahi balke Shanti mere sath hai, Raja mera hi hai aur mai Raja ki hu aur mai uske sath wo hi sab kuch karungi jo aapke sath karna chahti hu aur yeh jaisa kahega mai waisa hi karungi ab khush ? it bol kar wo hasne lago to Shanti mere samne hi uske lips pe ek zabardast kiss karte hue bola ke Payal you are wonderful aur mai tum se be inteha pyar karta hu to payal boli ke mai bhi tum se utna hi pyar karti hu jitna tum mujh se karte ho. Yeh sun ke Shanti khush ho gaya. Shanti mere ku bola ke hey Raj dekh yaar Payal ka achi tarah se khayal rakhna to mai ne sar hila ke bola ke tu fikar na kar tere wapas aane tak mai Payal ka achi tarah se khayal bhi rakhunga aur usko achi company bhi

dunga, usko hamesha khush rakhunga, jaisa tu ne kaha hai waisa hi karunga aur usko bilkul bhi bore hone nahi dunga aur tumhari kami ko bilkul bhi mehsoos hone nahi dunga, usko ek minute ke liye bhi apne se alag bhi nahi karunga tum be fikar ho ke jao aur apna business attend karo aise foreign delegation baar baar nahi aate. Yeh sunke uske Shanti ke chehre pe itmanan aa gaya aur wo Payal ko uske lips pe kiss kia aur car le ke chala gaya.

Payal kuch der tak gum sum si baithi rahi phir mai ne bola ke arey Payal tum honeymoon mai aise baithi rahogi to kaise chalga yaar tumko to har pal enjoy karna hai. Khao Pio Khelo Kuudo Kush raho aur enjoy karo yaar to wo muskura di phir boli ke chalo carrom khelte hai to mai ne socha ke yah uska favourite game hai khelna chahiye taa ke wo khush ho jaye aur hua bhi aisa hi. Payal game par game jeet ti rahi aur khush ho ti rahi. Thodi hi der mai uska mood ek dum se change ho gaya uski aankho mai chamak aa gayee aur wo phir se enjoy karne lagi. Mai ne poocha ke cards khelti ho to usne bola ke haa khelti hu aur phir ham cards mai rummy ka game hi jaanti hu phir ham Rummy hi khelne baith gaye. Kabhi payal jeet leti game to kabhi mai jeet leta. Isi tarah se time guzarta raha aur phir ham ne dinner kia. Payal ne Laxmi se bola ke coffee bana do aur phir ham dono TV room mai aa ke sofe pe baith gaye aur TV dekhne lage. Thodi hi der mai Laxmi coffee le ke aa gayee aur ham coffee peene lage. Hamare coffee khatam karne ke baad Laxmi coffee ki tray wapas utha ke le gayi aur hamse poocha ke kuch aur chahiye kia to ham ne bola ke nahi hamai abhi kuch nahi chahiye tum khana kha lo aur safai ka kaam khatam kar ke so jao to usne bola ke theek hai bibi kuch bhi chahiye to mujhe bol dena ham ne kaha ok bol denge tum fikar na karo.

Raat ke takreeban 8:00 ya 8:30 baje honge Payal ne bola ke chalo Rajj baher garden mai chalte hai aur thodi fresh air mai baith ke aate hai aur ham TV longue se uth kar bangley ke pichle portion se baher nikal ke garden mai aa gaye aur hari hari ghaans mai ghoomne lage aur idhar udhar ki baatein karne lage. Bachpane ki batein, College ki batein, rishte daro ki batein, Pinky ki batein, Payal ke friends ki batein waghaira waghaira yeh sab batein karte karte Payal mere se achi tarah ghul mil gayee thi aur mujhe wo phir se bachpan wali payal lagne lagi jiske sath kabhi ham masti kia karte the. Payal ab mere hath mai hath dal ke ghoomne lagi. Garden mai raat ke time ghoomna bohot acha lag raha tha thandi aur fresh air bohot achi lag rahi thi. Takreeban aadhe ghante tak ham

garden mai ghoomte rahe phir mai ne bola ke chalo kisi jhaad ke neeche baith jate hai to Payal ne bola ke hey Raja kyon na ham cards ka game yahi garden mai baith ke khele to mai ne kaha ke very good, idea bura nahi hai. Mai ne bola ke tum yahi thairo mai ander ja ke ek chaddar aur cards le ke aata hu to usne bola ka nahi mai bhi chalti hu aur phir ham dono ander aa gaye mai ne bola ke ek minute mai pishab karke aata hu aur ooper chala gaya aur pishab kar ke apne kapde change kia aur apna pant nikal ke boxers shorts aur banyan pehen ke neeche aa gaya, Payal ne bhi change kar lia tha ab wo ek patla sa salwar suit pehne hue thi aur bohot hi khusbsurat lag rahi thi. Ham ek chaddar, kuch khaane peene ki cheezein, pani aur juice ke bottles, Chota sa music player aur cards le ke phir se garden mai wapas aa gaye. Mujhe kal raat ka experience tha ke Laxmi room ki window se hamai dekh sakti hai isi liye mai ne aisi jagah choose ki jaha hamai Laxmi na dekh sake aur waha pe hi ek ped ke neeche chaddar bicha ke baith gaye. Ab mujhe yakeen tha ke Laxmi hamai nahi dekh sakegi. Ham jaha baithe the waha bohot ziada andhera bhi nahi tha aur bohot ziada ujala bhi nahi tha kuch to chand ki roshni thi kuch garden mai lamp post lage the unki roshni aise this ke bass dheemi si roshni aa rahi thi jismai cards to aa saani se dekhe ja sakte the aur ham cards khelne lage.

Thodi der tak to aise hi khelne lage phir mai ne bola ke Payal kyon na kuch betting ki jaye yaar to usne bola ke kia betting hogi to mai ne bola ke suno, jo game haar jaega, usko wo karna padega jo jeetne wala bolega to wo khush ho gayee aur clapping karte hue boli ke wah wonderful idea Raja. Chalo start karo. Pehle game Payal ne jeeta usne bola ke ok Raja tum mujhe koi acha sa gana sunao to mai ne bola ke theek hai sunata hu par meri awaz achi nahi hai to usne bola koi bat nahi jaisa suna sakte ho sunao. Mai ne apna gala saaf kia aur gaane laga

“TERI PYAARI PYAARI SOORAT KO,

KISI KI NAZAR NA LAGE,

CHASHM E BADDOOR,

YUN NA AKELE PHIR KARO,

SAB KI NAZAR SE BACHA KARO,

CHAAND SE ZIADA NAZUK HO TUM,

CHAAL SAMBHAL KAR CHALA KARO.

MUKHDE KO CHHUPA LO AANCHAL MAI,

KAHI MERI NAZAR NA LAGE,

CHASHM E BADDOOR”

Mai gana ga raha tha aur uski taraf aise ishare kar raha tha jaise mai uski khubsurti ki tareef kar raha hu, wo shamra rahi thi aur gana khatam hua to boli ke wah Raja wah tum to bohot acha gaa lete ho, yeh gana konsi film ka hai to mai ne bola ke yeh ek bohot hi purani film hai “SASURAL” yeh gana usi film ka hai aur mujhe be inteha pasand hai to wo boli ke haa gaana to sach mai acha aur meaningful hai.

Next game mai wo haar gayi to mai ne bola ke ek sexy joke sunao to wo sharma gayi aur boli ke mujhe koi sexy joke nahi aata to mai ne kaha ke theek hai koi doosra simple normal wala joke hi suna do to usne ek ordinary joke sunaya. Phir next game mai wo jeet gayi aur boli ke ab tum mujhe ek sexy joke sunao to mai ne bola ke dekho thoda sa open hoga tum kuch mind to nahi karogi, to usne kaha ke nahi mujhe koi problem nahi hai tum suano, to mai ne sunaya

“Wife: Dr. Mere pati ke Lund pe madhu makkhi ne kata hai”

Dr: “Oh!! Sooj gaya. Dard bhi hai kia?

Wife: “Ji haan, laikin aap sirf dard ki dava do, soojan rehne do !!! jab mota Lund choot ke ander jata hai to mujhe bohot acha lagta hai”

Yeh sun ke wo shamra gayi aur apne muh pe hath rakh lia aur boli tum bade gande ho. Khel phir shuru hua, mai ek bar phir se haar gaya. Ab Payal ko bhi sexy jokes mai maza aane laga tha to usne kaha ke ek aur sexy joke suanao to mai ne sunaya

“Never fuck a telephone operator, after 3 minutes, she’ll say your time is over. Never fuck a Nurse, she’ll say next please but fuck a teacher, she’ll say It’s good, now repeat it 5 times”

wo phir hasne lagi. Ab wo mere sex jokes ko be inteha enjoy karne lagi thi aur uski aankhon mei ek nayee chamak bhi aa gai thi. Mai ek aur game phir se jaan bujh ke haar gaya aur usne ek aur sex joke ke liye bola to mei ne yeh joke sunaya

“Ek pati ne patni se kaha, chudwane ka mood ho to merre Lund ko hath mai pakad ke 2 baar hilao.

Wife ne poocha aur agar mood nahi ho to ?

Pati ne bola ke agar mood nahi ho to Lund ko muthi mai pakad ke 50 – 60 baar hilao !!!

Itna sunte hi wo bohot zor zor se hasne lagi aur boli sach mai Rajj bohot hi gande ho tum. Mera Lund ek dum se akad ke kisi missile ki tarah se khada ho gaya tha aur mere boxers shorts mai tent bana dia tha. Ab ham khel nahi rahe the bass sexy jokes suna rahe the wo bohot hi enjoy kar rahi thi thodi thodi der mai jokes ko yaad kar kar ke sharmaa sharmma ke hans rahi thi. Mai apni taangein seedhi kar ke chaddar pe let gaya aur apna hath apne sar ke neeche rakh lia jis se mere shorts ke ander ka tent saaf nazar aane lage. Ham pillow nahi laye the isi liye bina pillow ke hi Payal ke saamne leta tha to usne mere sar ko apne hath mai pakad ke apni mudi hui raan ( thigh ) pe rakh lia aur boli ke Raja yaha rakh lo na aise leto ge to sar mai darad ho jaega. Ab mera sar uski naram rano pe the jiss se mere Lund mai kuch aur hi sakhti aa gayi aur wo hilne bhi laga tha. Mei ne Payal ki taraf dekha to paya ke wo mere Lund ko chor nazro se dekh rahi hai. Mai apne dono hath uske kamar ke dono taraf dal ke usko pakad lia aur wo apni unglian mere sar mai dale mere balo se khel rahi thi aur bohot hi dhhemi aur sexy awaaz mei boli ke Raja thode aur sexy jokes sunao na maza aa raha tha to mai ne bola ke theek hai pehle ek choti si poem sunata hu to wo boli ke ok. Mai ne start kia .

Pussy Pussy Little Star

Let me rub in the salwaar

Up above the legs so high

Always wet never dry

Come on Baby Don’t feel Shy

Give me baby one more try !!!!!

Give me baby one more try !!!!!

Wo phir hansne lagi boli kuch aur: to mai ek aur joke sunaya

Teacher : “Kia cheez muh mai nahi leni chahiye”

Student : “Jalta hua BULB”

Teacher : “Kyon”

Student : “Kal raat mere mummy papa se bol rahi thi bulb bujhaoge to muh mai lungi”

Usne mere sar pe ek halki si chapat lagyee aur hanse lagi.

Talwar aur Salwar mai kya samaanta hai pata hai tumhai ? to wo bali ke nahi to mai bola ke “Dono ke khulne pe aadmi ghayal ho jata hai wo boli dhatt aur hasne lagi. Mai ne bola ke ab tum kuch sunao na please to usne bola ke

dekho mujhe ek do jokes hi aate to hai par mai aise shabd nikalne se sharmati hu to mai ne bola ke arey ismai sharmane ki kia baat hai jaise ham hath ko hath kehte hai, aankh ko aankh, pair ko pair, pet ko pet to phir Lund ko Lund aur Choot ko Choot kehne mai kaisi sharam to wo boli ke please na Raja to mei ne bola ke Please payal mere se mat sharmao please aur phir yaha aur koi hai bhi to nahi na jo hami dekh raha ho ya hamari baatein sunn raha ho aur mai promise karta hu ke kisi se bhi nahi bolunga to wo sharmaate sharmeete ready ho gayi aur boli theek hai suno to mai ne bola ke thairo ek bat aur to usne poocha kia? To mai ne bola ke dekho jab bhi mai aur tum akele ho to tum atleast mere se nahi sharmana aur choot ko choot Lund ko Lund bolna mujhe girls ke muh se yeh shabd sunna bohot accha lagta hai to wo hasne lagi aur boli ke bohot kharab ho tum meri zuban bhi karab karoge phir boli ke OK maan lia baba jaisa tum kahoge waise hi hoga ab joke suno.

Payal ka chehra sharam se laal ho gaya aur usne sharmaate sharmaate bolna shuru kia :

“Interviewer : Sardarji batao konsi cheez tez chalti hai jiske 4 paon hai.

Sardar : CAR

Interviewer : Ghalat, Honda Car. Ok next

Wo kia hai jiske 2 pahiye hain aur bohot tez chalti hai Sardar : Motor Cycle

Interviewer : Ghalat Yamaha Motor Cycle

Now sardar pagal ho gaya aur bola Interview gaya bhosde mai ab mere sawal ka jawab do.

Sardar : Idhar baal Udhar baal Beech mai chaid

Interviewer : CHOOT

Sardar : Nahi Ghalat “TERI MAA KI CHOOT”

Itna sunte hi mai hansne laga aur wo to sharmaate hue itna hansi aur mere ooper jhuke ke aa gayi jis se uske boobs mere chehre pe lagne lage. Mujhe uske kadak boobs apne chehre pe bohot hi ache lag rahe the mera dil kar raha tha ke uske boobs ko pakad ke daba dalu aur muh mai le ke choosna shuru kar du par mai ne aisa nahi kia kyonke mera plan to kuch aur hi tha.


rajaarkey
Platinum Member
Posts: 3125
Joined: 10 Oct 2014 04:39

Re: Marwar ki mast malaai-मारवाड़ की मस्त मलाई

Unread post by rajaarkey » 13 Dec 2014 16:52

मारवाड़ की मस्त मलाई पार्ट --18



गतांक से आगे........................

मैं ने पायल से कहा के यार मुझे डॅन्स करना सिख़ाओ ना तो उसके चेहरे पे डॅन्स के नाम से ही चमक आ गयी और बोली के शुवर चलो अंदर चलते है तो मैं ने बोला के यहा नही सीखा सकती क्या देखो कितनी धीमे रोशनी है महॉल एक दम से रोमॅंटिक है तो वो बोली के यहा स्टेप्स सही नही आएँगे तो मैं

ने बोला के मुझे स्लो वाला इंग्लीश डॅन्स सिख़ाओ जिसे लड़का लड़की एक दूसरे की बाँहो मे बाहें डाल के झूलते हुए डॅन्स करते है तो बोली के अछा ठीक है उसके लिए तो ऐसे कुछ ज़ियादा स्टेप्स नही है वो तो यहा भी हो जाएगे तो मैं ने बोला के वंडरफुल. म्यूज़िक प्लेयर पे एक इंग्लीश धुन लगा दिया और आवाज़ बोहोत धीमी थी. म्यूज़िक बोहोत ही अछी और रोमॅंटिक था. हम दोनो खड़े हो गये. ज़मीन पे घँस (ग्रास) थी जो नंगे पैरों के नीचे ठंडी ठंडी बोहोत अछी लग रही थी. पायल और मैं आमने सामने खड़े थे पायल ने मेरा एक हाथ पकड़ कर अपने कंधे पे रख लिया और दूसरा अपनी कमर पे और खुद अपना एक हाथ मेर शोल्डर पे और दूसरा मेरी कमर मे डाल दिया और बोहोत धीरे अपने हिप्स को राइट लेफ्ट हिलती रही और मैं भी वैसे ही करता रहा. हम दोनो म्यूज़िक पे थिरक रहे थे वो बोली के राजा तुम तो अछा ख़ासा डॅन्स कर लेते हो तो मैं मुस्कुरा के बोला के तुम्हारी जैसी टीचर हो तो मैं कुछ भी कर सकता हू तो वो भी मुस्कुरा दी और बोली के अब मैं इतनी खूबसूरत भी नही हू और तुम मुझे बनाओ नही तो मैं ने बोला के किसने कहा के तुम खूबसूरत नही हो अरे तुम्हाई तो कोई अँधा भी देख के बता देगा के तुम आसमान से उतरी हुई किसी अप्सरा से कम नही हो तो वो शरमा गई और बोली के चलो अब और ज़ियादा तारीफ ना करो और मेरे साथ डॅन्स करो. अब हमारे बदन इतने करीब आ गये थे के मेरा लंड उसके बदन से टच करने वाला ही था के एक दम से बिजली ज़ोर से कदकी. पायल डर के मेरे से लिपट गयी और मेरा आकड़ा हुआ लंड उसकी बॉडी से टच हो गया मैं ने पायल को अपनी बाँहो मे समेट लिया. बिजली की चमक ऐसी थी के मेरा खड़ा लंड भी सो गया. पायल बोली के राजा लगता है ज़ोरो की बरसात होने वाली है चलो अंदर चलते है. बरसात मे भीगने का तो मंन कर रहा था पर मैं ऐसे चमकती और कदक्ति बिजली के नीचे पायल को नही रोकना चाहता था इसी लिए हम दोनो चदडार और दूसरा समान उठा के बंगले के अंदर की तरफ जाने लगे. अभी थोड़ी ही दूर गये होंगे के एक दम से बड़ी बड़ी मोटे मोटे बूँदो वाली बरसात बोहोत तेज़ी से शुरू हो गयी और हम दोनो बंगले के अंदर जाने से पहले दीखते ही देखते भीग गये और हमारे कपड़े हमारे बदन से चिपक गये.

बंगले के अंदर कदम रखा और शांति का फोन आया. शांति बोला के सो सॉरी पायल मैं वापस नही आ सकता अभी कुछ ऐसा काम निकल आया है के शाएद 3 या 4 दिन लग जाए तब तक तुम और राजा एंजाय करो तो पायल बोली के हा राजा मुझे बोहोत अछी कंपनी दे रहा है उसके साथ अछा टाइम गुज़र रहा है मज़ा आ रहा है और अभी भी हम दोनो गार्डेन मे बैठे कार्ड्स खेल रहे थे राजा जोक्स बोल रहा था बोहोत ही मज़ा आ रहा था के एक दम से बोहोत तेज़ी से बरसात शुरू हो गयी और

इतने मे ही एक और ज़बरदस्त बिजली के चमकने की आवाज़ आई जो शांति को फोन पर सुनाई दी तो शांति बोला के वाह बिजली तो बड़ी ज़ोर से चमक रही है, मौसम तो बोहोत ही रोमॅंटिक हो गया होगा वाहा तो पायल ने बोला के हा तुम होते तो अछा था और मज़ा भी आता तो शांति ने बोला के अरे यार पायल देखो राजा है ना तुम्हारे पास तो समझो के मैं हू तुम्हारे पास तुम दोनो एंजाय करो तो पायल ने बोला के बिजली के चमकने से मुझे बोहोत डर लग रहा है तो उसने बोला के अरे यार राजा को बोलो ना वो सो जाएगा तुमहरे बेडरूम मे तो उसना बोला के धत्त ऐसे कैसे हो सकता है तो उसने बोला के अरे यार क्या हुआ उसको बोलो के वो सोफे पे सो जाए और तुम बेड पे तो पायल ने बोला के ऐसे कैसे अछा लगेगा. या तो मैं ऐसा करती हू के मैं ही सोफे पे सो जाती हू और राजा को बेड पे सोने के लिए बोल देती हू तो शांति ने बोला के ठीक है तुम जैसे भी ठीक समझो वैसे ही मॅनेज कर्लो मैं जैसे ही काम ख़तम होगा आ जाउन्गा. पायल जब फोन पर बात कर रही थी तो मैं ऊपेर चला गया था देखा तो वाहा पे लक्ष्मी मेरा वेट कर रही थी मुझे देख के उसके चेहरे पे एक मुस्कुराहट आ गयी और मेरे बदन से लिपट गयी और हंसते हुए बोली बोली के क्यों बाबू नया शिकार मिला तो मुझे भूल गये तो मैं ने बोला के अभी शिकार नही किया जब शिकार करलूंगा तो तेरे कू खुद ही पता चल जाएगा.

इतने देर मे उसने मेरे लंड को पकड़ लिया था तो मे ने उसके सर को पकड़ के नीचे ज़ोर दे के फ्लोर पे बिठा दिया तो वो फॉरन नीचे बैठ गयी और साथ मे मेरा बॉक्सर्स को भी उंगली डाल के घुटनो तक निकाल दिया और लंड को मूह मे ले के चूसने लगी और मैं उसके मूह को चोदने लगा. वो बड़े जोश के साथ लंड चूस रही थी और मैं उसके मूह को तेज़ी से चोद रहा था इतने मे नीचे से पायल की आवाज़ आई बोल रही थी के शांति बात करना चाह रहा है और मुझे सीढियो पे उसके चढ़ने की आवाज़ आई तो मैं ने लक्ष्मी को बोला के चल तू अपने कमरे मे चली जा वो ऊपेर आ रही है तो लक्ष्मी भाग के अपने कमरे मे चली गयी और मैं बाथरूम मे घुस गया. पायल मेरे कमरे मे आ गयी और मैं बाथरूम से टवल लपेटे हुए बाहर निकल आया तो वो मेरे बदन को ऊपेर से नीचे तक मुझे खा जाने वाली नज़रो से देखने लगी और मैं उसके हाथ से फोन ले के बात करने लगा इतनी देर मे पायल मेरे कमरे को और मेरे बदन को बोहोत गौर से देख रही थी. शांति बोल रहा था के यार राज तेरे पास गोलडेन चान्स है यार आज बजा दे उसका बाजा और मेरी इज़्ज़त बचा ले. क्योंकि पायल कमरे मे थी इसी लिए मैं बोहोत धीरे बात कर रहा था. मैं ने बोला के ठीक है तू फिकर ना कर यार मैं देखता हू क्या होता है, वो जैसा चाहेगी वैसा ही होगा. क्या होता है और कैसे होता है तुझे बताउन्गा बाद मे और फिर पायल को सुना ने के लिए बोला

के यार तुझे पायल बोहोत मिस कर रही है जल्दी आ जा, कब आ रहा है तू, तो उसने बोला के यार मैं बोहोत काम मे फँस गया हू शाएद 3 या 4 दिन लग जाए और फिर बोहोत धीमी आवाज़ मे बोला के जब तक तू उसको चोद चोद के भोसड़ा बना दे उसकी चूत को तो मैं ने बोला के यार तू फिकर ना कर तेरा काम हो जाएगा और फिर फोन बंद हो गया.

मैने पायल को फोन वापस दिया और बोला के तुम अभी तक गीले कपड़ो मे हो सर्दी लग जाएगी तुम नीचे चल के चेंज कर्लो मैं भी बॅस अभी चेंज कर के आता हू लक्ष्मी को बोल देते है वो गरमा गरम कॉफी बना देगी तो उसने बोला के ठीक है तुम चेंज कर्लो और लक्ष्मी को बोल दो मैं गरम शवर ले के चेंज कर्लेति हू. जैसे ही पायल नीचे उतरी तो लक्ष्मी मेरे कमरे मे भाग के वापस आ गयी और स्ट्रेट अवे मेरे लंड पे किसी भूकि शेरनी की तरह टूट पड़ी, टवल निकाल के फेंक दिया और लंड को मूह मे भर के ज़ोर ज़ोर से चूसने लगी. इतने दीनो की चुदाई से लक्ष्मी भी बोहोत ही चुदसी हो चुकी थी. छोटी सी उमर मे चुदवा के उसकी छोटी चूत को लंबे और मोटे लंड का मज़ा लग चुका था. मैं भी उसका सर पकड़ के उसके मूह को चोदने लगा. मेरा लंड तो शाम से ही खड़ा था और मैं उसके मूह को धना धन चोदने लगा और 5 मिनिट के अंदर ही उसके मूह मे अपने लंड से गरमा गरम मलाई की पिचकारियाँ छ्चोड़ने लगा. लक्ष्मी को खड़ा किया और मैं उसकी नाइटी को उठा के उसकी चूत को चाटने लगा तो उसने मेरा सर पकड़ लिया और अपनी चूत को मेरे मूह मे रगड़ने लगी और जब मैं उसकी चूत को पूरा मूह मे ले के दांतो से चबाया तो उसके मूह से मस्ती मे सस्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्

स्स्स्स्सस्स निकला और उसका बदन हिलने लगा और वो मेरे मूह मे झड़ने लगी. उसका ऑर्गॅज़म ख़तम हुआ तो मैं ने उसको बोला के चल अब तू नीचे जा के कॉफी बना दे मैं नीचे आ रहा हू. वो अपनी चूत के जूस को अपनी नाइटी से पॉच के नीचे उतर गयी और मैं एक बार फिर से बाथरूम मे घुस गया और जल्दी से अपना लंड साफ किया और मूह पे जो लक्ष्मी की चूत का जूस लगा था उसको धोया और क्विक शवर ले के बाहर आया तो देखा के मेरे बेड पे एक बॉक्सर्स शॉर्ट्स रखा हुआ था शाएद पायल ने निकाला होगा जब मैं फोन पर बात कर रहा था या लक्ष्मी ने निकाला होगा मुझे पता नही. मैं वोही बॉक्सर्स और स्लीव्ले बन्यान पहेन के नीचे उतर गया. पायल अभी तक बाथरूम मे ही थी तो मैं सोफे पे बैठ के टीवी देखने लगा.

थोड़ी देर मैं पायल आ गयी मैं उसको देखते का देखता ही रह गया. उसके बालो के कोने से पानी की टपकती बूँदें डाइमंड जैसी चमक रही थी. वो लाइट पिंक कलर की नाइटी पहनी हुई थी. उसके मस्त कड़क बूब्स देख के सॉफ मालूम हो रहा था के उसने नाइटी के अंदर ब्रस्सिएर नही पहनी थी, सॉफ दिखाई

तो नही दे रहा था के पॅंटी भी पहनी है या नही. नाइटी सामने से खुलने वाली थी जिसे एक सिल्क की डोरी से बँधा हुआ था. पायल आसमान से उतरी कोई अप्सरा लग रही थी और एक दम से क़यामत ढा रही थी. मेरा लंड तो उसको देख कर एक ही झटके मे खड़ा हो गया. वो मेरे करीब आ गयी और पूछी के ऐसे क्या देख रहे हो राज तो मैं ने बोला के तुम्हारी खूबसूरती को देख रह हू. सच कहु पायल आज से पहले मैं ने तुम्हारी जितनी खूबसूरत लड़की अपनी ज़िंदगी मैं नही देखी तो वो हस्ते हुए बोली अछा मज़ाक कर लेते हो राजा तुम तो मैं ने बोला के नही मज़ाक नही पायल सच, तुम्हारी कसम, तुम बोहोत ही सुंदर हो और शांति तो एक दम से लकी है साला के उसको इतनी खूबसूरत, मस्त और सेक्सी बीवी मिली है तो वो कुछ बोली नही बस मुस्कुराते हुए सोफे पे मेरे करीब बैठ गयी. जब वो सोफे पे बैठी तो उसकी नाइटी सामने से थोड़ी सी खुल गयी और उसकी सिडोल और शेप्ली थाइस नज़र आ गये तो वो फॉरन अपने पैर ऊपेर कर के अपने लेग्स को क्रॉस कर के पालती मार के बैठ गयी और अपने पैरो को अपनी ओपन वाली नाइटी से ढकने की नाकाम कोशिश करने लगी और फिर हम दोनो टीवी देखने लगे. मुझे गर्ल्स की साइकॉलजी का पता था, मुझे मालूम था के गर्ल्स के हाथ मे टीवी का रिमोट आ जाए तो टीवी के चॅनेल्स चेंज कर कर के देखती रहती है इसी लिए मैं ने टीवी को ऐसे चॅनेल पे सेट किया हुआ था के जहा से 2 - 3 चॅनेल और आगे करे तो वोही सेक्स चॅनेल लग जाता था जो इस से पहले एक टाइम इत्तेफ़ाक से लग गया था जहा चुदाई चल रही थी.

लक्ष्मी कॉफी ले के आ गयी और हम दोनो गरमा गरम कॉफी पीने लगे. लक्ष्मी को बोला के अब तुम्हारा काम ख़तम हो गया है तुम जा के सो जाओ अगर हमै किसी चीज़ की ज़रूरत होगी तो हम खुद ही ले लेंगे तो लक्ष्मी धीमी सी मुस्कुराहट के साथ पलट गयी और जाने लगी. उसकी मुस्कुराहट को मैं देख चुका था जिसे पायल नही देख पाई थी. लक्ष्मी सोने के लिए ऊपेर चली गयी और हम टीवी लाउंज मैं बैठे टीवी देखने लगे.

टीवी लाउंज मैं बोहोत धीमी रोशनी लगी हुई थी. आक्च्युयली इस बंगलो मे कंट्रोल्ड लाइट्स और कंट्रोल्ड म्यूज़िक सिस्टम था जिनको स्विच घुमा के कम या ज़ियादा किया जा सकता था उसी तरह से म्यूज़िक की आवाज़ को भी धीमा या तेज़ किया जा सकता था तो जनरली रात के टाइम पे बोहोत ही धीमी लाइट रखते थे और म्यूज़िक को भी बोहोत ही स्लो. बरसात मे गरमा गरम कॉफी पीने का मज़ा कुछ ज़ियादा ही आता है. मैं और पायल करीब करीब बैठे टीवी पे एक रोमॅंटिक इंग्लीश फिल्म देख रहे थे पायल के बदन से निकलती पर्फ्यूम, सबूत और उसकी जवानी की खुश्बू मुझे दीवाना बना रही थी.

थोड़ी देर टीवी देखने के बाद मैं ने पायल से पूछा के पॉपकॉर्न खओगि तो उसने बोला के हा तो मैं बोला के ठीक है तुम यही बैठ के टीवी देखो मैं अभी मशीन मे पोप कॉर्न बना के लाता हू और मैं उठ के किचन मे आ गया और किचन के कॅबिनेट से कॉर्न का पॅकेट निकाल के मशीन मे डाल दिया. पोप कॉर्न की मशीन गरम होने मे थोड़ा टाइम लग रहा था. मुझे टीवी लाउंज से कुछ अजीब सी आवाज़ें आने लगी तो मैं झाँक के देखा. टीवी देख के मेरे मूह से “वाउ” निकल गया. जैसा मैं ने सोचा और प्लान किया था पायल ने वैसा ही किया. मेरे वाहा से जाने के बाद पायल ने रिमोट उठाया और चॅनेल चेंज करना स्टार्ट कर दिया और बॅस 2 - 3 चॅनेल आगे ही उसको वो सेक्स फिल्म मिल गयी जिसे वो बड़े मज़े से देखने लगी. मैं इसी बात का तो वेट कर रहा था के वो चुदाई वाली फिल्म देखे और गरम हो जाए और हुआ भी एग्ज़ॅक्ट्ली वैसा ही जैसा मैं चाह रहा था. मैं पोप कॉर्न बना चुका था और किचन से बाहर निकलने से पहले मैं ने कुछ जूस के बॉटल्स भी उठा लिए जिस की आवाज़ सुन के पायल ने चॅनेल वापस चेंज कर दिया और वो वोही फिल्म देखने लगी जो हम पहले देख रहे थे.

मैं पोप कॉर्न को 2 बॉवल्स मे डाल के ले आया और साथ मे कुछ जूस भी. जूस के बॉटल्स टेबल पे रख दिया. मेरी पोज़िशन ऐसी थी के मैं पोप कॉर्न के बोवल को अपनी गोद मे नही रख सकता था तो मैं ने उसको अपने पेट से थोड़ा नीचे नवल एरिया और लंड के पास रख लिया. पायल ने पोप कॉर्न का बोवल अपनी गोदी मे अपने मुड़े हुए पैरो के ऊपेर रख लिया और हम दोनो फिल्म देखते देखते पोप कॉर्न खाने और जूस का सीप लेने लगे. मैं अपने पैर लंबे करके सामने पड़ी टॅबेल पी रख के बैठा था. पायल लेग्स को क्रॉस कर के सोफे पे ही बैठी थी. सोफा सेट बोहोत ही कंफर्टबल था और उसकी सीट के कुशान्स भी बोहोत नरम थे जो बैठने से काफ़ी नीचे तक दब्ब जाते थे. फिल्म के रोमॅंटिक सीन को देख के मेरा लंड तो एक दम से फुल्ली एरेक्षन मोड मे आ गया और मैं मस्ती मे जल्दी जल्दी पोप कॉर्न खाने लगा. थोड़ी ही देर मे मेरे पास पोप कॉर्न ख़तम हो गये तो मैने खाली बोवल को अपने नवल से उठा के बाज़ू वाले साइड टेबल पे रख दिया और फिल्म देखने मे बिज़ी हो गया. मेरा मूसल तो मेरे बॉक्सर्स के अंदर टेंट बना चुका था और किसी मिज़ाइल की तरह से रेडी खड़ा था. पायल की नज़रें टीवी पे चलते रोमॅंटिक फिल्म मे ही लगी हुई थी और बिना नीचे देखे ही पोप कॉर्न खा रही थी. थोड़ी ही देर मे उसका पोप कॉर्न का बोवल भी खाली हो गया तो उसने बिना इधर उधर देखे अपना राइट हॅंड मेरे पोप कॉर्न बोवल की तरफ बढ़ाया उसे क्या पता था के मेरा पोप कॉर्न का बोवल ऑलरेडी खाली हो चुका है और मैं ने उसको अपने बाज़ू वाली साइड टेबल पे रख दिया है. पायल की आँखें टीवी स्क्रीन पे लगी हुई थी और बिना

इधर उधर देखे उसने अपना हाथ मेरी तरफ बढ़ा दिया और पोप कॉर्न के बोवल को टटोलने लगी लैकिन वाहा पोप कॉर्न का बोवल तो नही था इसी लिए उसका हाथ मेरे आकड़े हुए लंड से टकराया उसको फिर भी समझ मे नही आया के क्या है और वो अपने हाथ से इधर उधर टटोलने लगी उसका हाथ मेरे लंड को कंटिन्यू लग रहा था जब उसको बोवल नही मिला तो उसने नीचे देखा और जब उसकी नज़र मेरे तने हुए मूसल लंड पर पड़ी तो वो एक दम से चोंक गयी और ऊहह की आवाज़ निकाल के शरमा गयी और अपना चेहरा अपने हाथो मे छुपा लिया और मुझे बोली के सॉरी राजा मुझे क्या पता के तुम्हारे पास भी पोप कॉर्न ख़तम हो गये तो मैं ने कहा अरे कोई बात नही यार यह तो चलता ही रहता है दट’स ओके नो प्राब्लम तो वो कुछ बोली नही बॅस शरमाती रही और हम थोड़ी देर तक फिल्म देखते रहे. रोमॅंटिक फिल्म मे लिपट जाने के और पॅशनेट फ्रेंच किस्सिंग के कुछ सीन भी थे. मेरा लंड तो खड़ा हुआ ही था मुझे पायल की लंबी सांसो से पता चला के शाएद वो भी ऐसे गरम सीन्स देख के गरम हो गयी है. मैं ने एक और चाल चली बोला के अरे पायल मुझे डॅन्स नही सिख़ावगी क्या तो वो बोली के अरे हा बरसात के चलते मैं तो भूल ही गयी थी चलो टीवी बोहोत देख लिया अब डॅन्स ही करते हैं.

टीवी बंद करके पायल ने म्यूज़िक सिस्टम पे हल्की सी इंग्लीश रोमॅंटिक धुन्न लगा दी जो नीचे हॉल मे और उसके बेडरूम मे भी बजने लगी. टीवी के बंद होने से टीवी के स्क्रीन की रोशनी भी ख़तम हो गयी थी और कमरे मे अब ऑलमोस्ट अंधेरा ही था विज़िबिलिटी एक दम से ऑलमोस्ट ज़ीरो हो गई थी और इधर उधर से आती हुई बोहोत थोड़ी सी ही रोशनी थी जिस्मै हमारे बदन एक शॅडो की तरह लग रहे थे. पायल ने कहा के राज बेडरूम मे चलो वाहा का फ्लोर डॅन्स के लिए अछा है वाहा अछा डॅन्स हो सकेगा तो हम बेडरूम मे आ गये और वाहा भी कंट्रोल्ड लाइट की धीमी रोशिनी मे कमरा ऑलमोस्ट अंधेरा ही लग रहा था. बेडरूम बोहोत ही बड़ा था. कमरे के बीचो बीच खिड़की के नीचे एक बोहोत बड़ा क्वीन साइज़ बेड रखा था. बेड से थोड़ी दूर पे एक सोफा सेट भी रखा हुआ था और दूसरी तरफ अटॅच बाथरूम का डोर था. हम दोनो सोफा सेट के और बेड के बीच मे आ गये जहा स्टेप्स के लिए अच्छी ख़ासी खुली जगह थी वाहा पे खड़े हो गये और पायल ने फिर से मेरा एक हाथ अपने शोल्डर पे रखा और दूसरा अपनी कमर पे और खुद उसने भी वैसा ही किया और हम दोनो अपने बदन को थिरकाते हुए इधर उधर डोलने लगे वो मुझे स्टेप्स सीखा रही थी. मेरा हाथ उसकी कमर से नीचे सरक के उसके चूतदो पे आ गया था और और मुझे अपने हाथो पे उसके चूतदो की गर्मी महसूस होने लगी.

--

साधू सा आलाप कर लेता हूँ ,

मंदिर जाकर जाप भी कर लेता हूँ ..

मानव से देव ना बन जाऊं कहीं,,,,

बस यही सोचकर थोडा सा पाप भी कर लेता हूँ

आपका दोस्त

राज शर्मा

(¨`·.·´¨) ऑल्वेज़

`·.¸(¨`·.·´¨) कीप लविंग &

(¨`·.·´¨)¸.·´ कीप स्माइलिंग !

`·.¸.·´ -- राज

Mast Marwari Malaai ( MMM )--paart--18

Mai ne Payal se kaha ke yaar mujhe dance karna sikhao na to uske chehre pe dance ke naam se hi chamak aa gayee aur boli ke sure chalo ander chalte hai to mai ne bola ke yaha nahi sikha sakti kia dekho kitni dheeme roshni hai mahol ek dum se romantic hai to wo boli ke yaha steps sahi nahi ayenge to mai

ne bola ke mujhe slow wala English dance sikhao jise ladka ladki ek doosre ki baho mai bahein dal ke jhoolte hue dance karte hai to boli ke acha theek hai uske liye to aise kuch ziada steps nahi hai wo to yaha bhi ho jayege to mai ne bola ke wonderful. Music player pe ek English dhunn laga diya aur awaz bohot dheemi thi. Music bohot hi achi aur romantic tha. Ham dono khade ho gaye. Zameen pe ghans (grass) thi jo nange pairon ke neeche thandi thandi bohot achi lag rahi thi. Payal aur mai aamne saamne khade the Payal ne mera ek hath pakad kar apne kandhe pe rakh lia aur doosr apni kamar pe aur khud apna ek hath mer shoulder pe aur doors meri kamar mai dal dia aur bohot dheere apne hips ko right left hilati rahi aur mai bhi waise hi karta raha. Ham dono music pe thirak rahe the wo boli ke Raja tum to acha khasa dance kar lete ho to mai muskura ke bola ke tumhari jaisi teacher ho to mai kuch bhi kar sakta hu to wo bhi muskuradi aur boli ke ab mai itni khubsurat bhi nahi hu aur tum mujhe banao nahi to mai ne bola ke kisne kaha ke tum khubsurat nahi ho arey tumhai to koi andhaa bhi dekh ke bata dega ke tum aasmaan se utri hui kisi apsara se kam nahi ho to wo sharma gai aur boli ke chalo ab aur ziada tareef na karo aur mere sath dance karo. Ab hamare badan itne kareeb aa gaye the ke mera Lund uske badan se touch karne wala hi tha ke ek dum se bijli zor se kadki. Payal dar ke mere se lipat gayee aur mera akda hua Lund uski body se touch ho gaya mai ne Payal ko apni baho mai samet lia. Bijli ki chamak aisi thi ke mera khada Lund bhi so gaya. Payal boli ke Raja lagta hai zoro ki barsat hone wali hai chalo ander chalte hai. Barsat mai bheegne ka to mann kar raha tha par mai aise chamakti aur kadakti bijli ke neeche Payal ko nahi rokna chahta tha isi liye ham dono chaddar aur doosra saman utha ke bangley ke ander ki taraf jaane lage. Abhi thodi hi door gaye honge ke ek dum se badi badi mote mote boondo wali barsat bohot tezi se shuru ho gayee aur ham dono bangley ke ander jaane se pehle deekhte hi dekhte bheeg gaye aur hamare kapde hamare badan se chipak gaye.

Bangley ke ander kadam rakha aur Shanti ka phone aaya. Shanti bola ke so sorry Payal mai wapas nahi aa sakta abhi kuch aisa kaam nikal aaya hai ke shaed 3 ya 4 din lag jaye tab tak tum aur Raja enjoy karo to Payal boli ke haa Raja mujhe bohot achi company de raha hai uske sath acha time guzar raha hai maza aa raha hai aur abhi bhi ham dono garden mai baithe cards khel rahe the Raja jokes bol raha tha bohot hi maza aa raha tha ke ek dum se bohot tezi se barsat shuru ho gayi aur

itne mai hi ek aur zabardast bijli ke chamakne ki aawaz ayi jo Shanti ko phone par sunayee di to Shanti bola ke wah bijli to badi zor se chamak rahi hai, mousam to bohot hi romantic ho gaya hoga waha to Payal ne bola ke haa tum hote to acha tha aur maza bhi aata to shanti ne bola ke arey yaar payal dekho Raja hai na tumhare pas to samjho ke mai hu tumhare pas tum dono enjoy karo to payal ne bola ke Bijli ke chamakne se mujhe bohot dar lag raha hai to usne bola ke arey yaar Raja ko bolo na wo so jayega tumahre bedroom mai to usna bole ke dhatt aise kaise ho sakta hai to usne bola ke arey yaar kia hua usko bolo ke wo sofe pe so jaye aur tum bed pe to payal ne bola ke aise kaise acha lagega. Ya to mai aisa karti hu ke mai hi sofe pe so jati hu aur Raja ko bed pe sone ke liye bol deti hu to Shanti ne bola ke theek hai tum jaise bhi theek samjho waise hi manage karlo mai jaise hi kaam khatam hoga aa jaunga. Payal jab phone per bat kar rahi thi to mai ooper chala gaya tha dekha to waha pe Laxmi mera wait kar rahi thi mujhe dekh ke uske chehre pe ek muskurahat aa gayee aur mere badan se lipat gayee aur hanste hue boli boli ke kyon babu naya shikar mila to mujhe bhul gaye to mai ne bola ke abhi shikar nahi kia jab shikar karlunga to tere ku khud hi pata chal jaega.

Itne der mai usne mere Lund ko pakad lia tha to me ne uske sar ko pakad ke neeche zor de ke floor pe bitha dia to wo foran neeche baith gayee aur sath mai mera boxers ko bhi ungli dal ke ghutno tak nikal dia aur Lund ko muh mai le ke choosne lagi aur mei uske muh ko chodne laga. Wo bade josh ke sath Lund choos rahi thi aur mai uske muh ko tezi se chod raha tha itne mai neeche se Payal ki awaz ayi bol rahi thi ke Shanti bat karna chah raha hai aur mujhe seedhion pe uske chhadne ki aawaz ayi to mai ne Laxmi ko bola ke chal tu apne kamre mai chali ja wo ooper aa rahi hai to Laxmi bhag ke apne kamre mai chali gayi aur mai bathroom mai ghus gaya. Payal mere kamre mai aa gayi aur mai bathroom se towel lapete hue baher nikal aaya to wo mere badan ko ooper se neeche tak mujhe khaa jaane wali nazro se dekhne lagi aur mai uske hath se phone le ke bat karne laga itni der mai Payal mere kamre ko aur mere badan ko bohot ghor se dekh rahi thi. Shanti bol raha tha ke yaar Raj tere pas golden chance hai yaar aaj baja de uska baja aur meri izzat bacha le. Chunke Payal kamre mai thi isi liye mai bohot dheere bat kar raha tha. Mai ne bola ke theek hai tu fikar na kar yaar mai dekhta hu kia hota hai, wo jaisa chahegi waisa hi hoga. Kia hota hai aur kaise hota hai tujhe bataunga baad mai aur Phir payal ko suna ne ke liye bola

ke yaar tujhe Payal bohot miss kar rahi hai jaldi aa jaa, kab aa raha hai tu, to usne bola ke yaar mai bohot kaam mai phans gaya hu shaed 3 ya 4 din lag jaye aur phir bohot dheemi awaz mai bola ke jab tak tu usko chod chod ke bhosda bana de uski choot ko to mai ne bola ke yaar tu fikar na kar tera kaam ho jayega aur phir phone band ho gaya.

Mai Payal ko phone wapas dia aur bola ke tum abhi tak geele kapdo mai ho sardi lag jaegi tum neeche chal ke change karlo mai bhi bass abhi change kar ke aata hu Laxmi ko bol dete hai wo garma garam coffee bana degi to usne bola ke theek hai tum change karlo aur laxmi ko bol do mai garam shower le ke change karleti hu. Jaise hi Payal neeche utri to Laxmi mere kamre mai bhag ke wapas aa gayee aur straight away mere Lund pe kisi bhooki sherni ki tarah toot padi, towel nikal ke phenk dia aur Lund ko muh mai bhar ke zor zor se choosne lagi. Itne dino ki chudai se Laxmi bhi bohot hi chudasi ho chukee thi. Choti si umar mai chudwa ke uski choti choot ko lambe aur mote Lund ka maza lag chuka tha. Mai bhi uska sar pakad ke uske muh ko chodne laga. Mera Lund to sham se hi khada tha aur mai uske muh ko dhana dhan chodne laga aur 5 minute ke ander hi uske muh mai apne Lund se garma garam malai ki pichkariyan chhodne laga. Laxmi ko khada kia aur mai uski nighty ko utha ke uski choot ko chaatne laga to usne mera sar pakad lia aur apni choot ko mere muh mai ragadne lagi aur jab mai uski choot ko poora muh mai le ke dato se chabaya to uske muh se masti mai ssssssssssssssssssssss nikla aur uska badan hilne laga aur wo mere muh mai jhadne lagi. Uska Orgasm khatam hua to mai ne usko bola ke chal ab tu neeche ja ke coffee bana de mai neeche aa raha hu. Wo apni choot ke juice ko apni nighty se poch ke neeche utar gayee aur mai ek baar phir se bathroom mai ghus gaya aur jaldi se apna Lund saf kia aur muh pe jo Laxmi ki choot ka juice laga tha usko dhoya aur quick shower le ke baher aaya to dekha ke mere bed pe ek boxers shorts rakha hua tha shaed Payal ne nikala hoga jab mai phone par bat kar raha tha ya laxmi ne nikala hoga mujhe pata nahi. Mai wohi Boxers aur sleeveless banyan pehen ke neeche utar gaya. Payal abhi tak bathroom mai hi thi to mai sofe pe baith ke TV dekhne laga.

Thodi der mai Payal aa gayee mai usko dekhte ka dekhta hi reh gaya. Uske balo ke kone se pani ki tapakti boondein diamond jaisi chamak rahi thi. Wo light pink colour ki nighty pehni hui thi. Uske mast kadak boobs dekh ke saaf maloom ho raha tha ke usne nighty ke ander Brassier nahi pehni thi, saaf dikhayee

to nahi de raha tha ke panty bhi pehni hai ya nahi. Nighty saamne se khulne wali thi jise ek silk ki dori se bandha hua tha. Payal aasmaan se utri koi apsara lag rahi thi aur ek dum se qayamat dha rahi thi. Mera Lund to usko dekh kar ek hi jhatke mai khada ho gaya. Wo mere kareeb aa gayee aur poochi ke aise kia dekh rahe ho Raaj to mai ne bola ke tumhari khubsurti ko dekh rah hu. Sach kahu payal aaj se pehle mai ne tumhari jitni khubsurat ladki apni zindagi mai nahi dekhi to wo haste hue boli acha mazak kar lete ho Raja tum to mai ne bola ke Nahi majaak nahi Payal sach, tumhari kasam, tum bohot hi sundar ho aur Shanti to ek dum se lucky hai sala ke usko itni khubsurat, mast aur sexy biwi mili hai to wo kuch boli nahi bas muskurate hue sofe pe mere kareeb baith gayi. Jab wo sofe pe baithi to uski nighty saamne se thodi si khul gayee aur uski sidol aur shapely thighs nazar aa gaye to wo foran apne pair ooper kar ke apne legs ko cross kar ke palti mar ke baith gayee aur apne pairo ko apni open wali nighty se dhakne ki nakaam koshish karne lagi aur phir ham dono TV dekhne lage. Mujhe girls ki psychology ka pata tha, mujhe malum tha ke girls ke hath mei TV ka remote aa jaye to TV ke channels change kar kar ke dekhti rehti hai isi liye mai ne TV ko aise channel pe set kia hua tha ke jaha se 2 - 3 channel aur aage kare to wohi sex channel lag jata tha jo iss se pehle ek time ittefak se lag gaya tha jaha chudai chal rahi thi.

Laxmi coffee le ke aa gayee aur ham dono garma garam coffee peene lage. Laxmi ko bola ke ab tumahra kaam khatam ho gaya hai tum ja ke so jao agar hamai kisi cheez ki zaroorat hogi to ham khud hi le lenge to Laxmi dheemi se muskurahat ke sath palat gayi aur jane lagi. Uski muskurahat ko mai dekh chuka tha jise payal nahi dekh payi thi. Laxmi sone ke liye ooper chali gayi aur ham TV lounge mai baithe TV dekhne lage.

TV lounge mai bohot dheemi roshni lagi hui thi. Actually iss bungalow mai controlled lights aur controlled music system tha jinko switch ghuma ke kam ya ziada kia ja sakta tha usi tarah se music ki awaz ko bhi dheema ya tez kia ja sakta tha to generally raat ke time pe bohot hi dheemi light rakhte the aur music ko bhi bohot hi slow. Barsat mai garma garam coffee peene ka maza kuch ziada hi aata hai. Mai aur Payal kareeb kareeb baithe TV pe ek romantic English film dekh rahe the payal ke badan se nikalti perfume, sabut aur uski jawani ki khushbu mujhe deewana bana rahi thi.

Thodi der TV dekhne ke baad mai ne payal se poocha ke popcorn khaogi to usne bola ke haa to mei bola ke theek hai tum yahi baith ke TV dekho mai abhi machine mei pop corn bana ke lata hu aur mai uth ke kitchen mai aa gaya aur kitchen ke cabinet se corn ka packet nikal ke machine mai dal diya. Pop corn ki machine garam hone mai thoda time lag raha tha. Mujhe TV lounge se kuch ajeeb si awazein aane lagi to mai jhank ke dekha. TV dekh ke mere muh se “WOW” nikal gaya. Jaisa mai ne socha aur plan kia tha payal ne waisa hi kia. Mere waha se jaane ke bad Payal ne remote uthaya aur channel change karna start kar dia aur bass 2 - 3 channel aage hi usko wo sex film mil gayi jise wo bade maze se dekhne lagi. Mai isi bat ka to wait kar raha tha ke wo chudai wali film dekhe aur garam ho jaye aur hua bhi exactly waisa hi jaisa mai chah raha tha. Mai pop corn bana chuka tha aur kitchen se baher nikalne se pehle mai ne kuch juice ke bottles bhi utha liye jis ki awaz sun ke payal ne channel wapas change kar dia aur wo wohi film dekhne lagi jo ham pehle dekh rahe the.

Mai pop corn ko 2 bowls mai dal ke le aaya aur sath mai kuch juice bhi. Juice ke bottles table pe rakh dia. Meri position aisi thi ke mai pop corn ka bowl ko apni godd mai nahi rakh sakta tha to mai ne usko apne pet se thoda neeche naval area aur Lund ke pas rakh lia. payal ne pop corn ka bowl apni godi mai apne mude hue pairo ke ooper rakh lia aur ham dono film dekhte dekhte pop corn khane aur juice ka sip lene lage. Mai apne pair lambe karke samne padi tabel pee rakh ke baitha tha. Payal legs ko cross kar ke sofe pe hi baithi thi. Sofa set bohot hi comfortable tha aur uski seat ke cushions bhi bohot naram the jo baithne se kaafi neeche tak dabb jate the. Film ke romantic scene ko dekh ke mera Lund to ek dum se fully erection mode mai aa gaya aur mei masti mai jaldi jaldi pop corn khane laga. Thodi hi der mei mere pas pop corn khatam ho gaye to mai khali bowl ko apne naval se utha ke bazu wale side table pe rakh dia aur film dekhne mai busy ho gaya. Mera musal to mere boxers ke ander tent bana chuka tha aur kisi missile ki tarah se ready khada tha. Payal ki nazren TV pe chalte romantic film mai hi lagi hui thi aur bina neeche dekhe hi pop corn kha rahi thi. thodi hi der mai uska pop corn ka bowl bhi khali ho gaya to usne bina idhar udhar dekhe apna right hand mere pop corn bowl ki taraf badhaya use kia pata tha ke mera pop corn ka bowl already khali ho chuka hai aur mai ne usko apne bazu wali side table pe rakh dia hai. Payal ki aankhein TV screen pe lagi hui thi aur bina

idhar udhar dekhe usne apna hath meri taraf badha dia aur pop corn ke bowl ko tatolne lagi laikin waha pop corn ka bowl to nahi tha isi liye uska hath mere akde hue lund se takraya usko phir bhi samajh mai nahi aaya ke kia hai aur wo apne hath se idhar udhar tatolne lagi uska hath mere Lund ko continue lag raha tha jab usko bowl nahi mila to usne neeche dekha aur jab uski nazar mere tanne hue musal Lund par padi to wo ek dum se chonk gayi aur oohh ki awaz nikal ke sharma gayee aur apna chehra apne hatho mai chupa lia aur mujhe boli ke sorry raja mujhe kia pata ke tumhare pas bhi pop corn khatam ho gaye to mai ne kaha are koi bat nahi yaar yeh to chalta hi rehta hai that’s ok no problem to wo kuch boli nahi bass sharmati rahi aur ham thodi der tak film dekhte rahe. Romantic film mai lipat jane ke aur passionate french kissing ke kuch scene bhi the. Mera Lund to khada hua hi tha mujhe payal ki lambi saanso se pata chala ke shaed wo bhi aise garam scenes dekh ke garam ho gayi hai. Mai ne ek aur chaal chali bola ke arey Payal mujhe dance nahi sikhaogi kia to wo boli ke arey haa barsat ke chalte mai to bhool hi gayee thi chalo TV bohot dekh lia ab dance hi karte hain.

TV band karke payal ne music system pe halki si English romantic dhunn laga dii jo neeche hall mai aur uske bedroom mai bhi bajne lagi. TV ke band hone se TV ke screen ki roshni bhi khatam ho gayi thi aur kamre mai ab almost andhera hi tha visibility ek dum se almost zero ho gai thi aur idhar udhar se aati hui bohot thodi si hi roshni thi jismai hamare badan ek shadow ki tarah lag rahe the. Payal ne kaha ke Raj bedroom mai chalo waha ka floor dance ke liye acha hai waha acha dance ho sakega to ham bedroom mai aa gaye aur waha bhi controlled light ki dheemi roshini mai kamra almost andhera hi lag raha tha. Bedroom bohot hi bada tha. Kamre ke beecho beech khidki ke neeche ek bohot bada queen size bed rakha tha. Bed se thodi door pe ek sofa set bhi rakha hua tha aur doosri taraf attach bathroom ka door tha. Ham dono sofa set ke aur bed ke beech mai aa gaye jaha steps ke liye acchi khasi khuli jagah thi waha pe khade ho gaye aur payal ne phir se mera ek hath apne shoulder pe rakha aur doosra apni kamar pe aur khud usne bhi waisa hi kia aur ham dono apne badan ko thirkaate hue idhar udhar dolne lage wo mujhe steps sikha rahi thi. Mera hath uski kamar se neeche sarak ke uske chootado pe aa gaya tha aur aur mujhe apne hatho pe uske chootado ki garmi mehsoos hone lagi.


rajaarkey
Platinum Member
Posts: 3125
Joined: 10 Oct 2014 04:39

Re: Marwar ki mast malaai-मारवाड़ की मस्त मलाई

Unread post by rajaarkey » 13 Dec 2014 16:53

मारवाड़ की मस्त मलाई पार्ट --19


गतांक से आगे........................

पायल के बदन से उठ ती हुई पर्फ्यूम की और उसके बदन की कुँवारी खुसबु और उसकी गरम जवानी का नशा मेरे अंदर किसी शराब के नशा जैसा चढ़ने लगा था. म्यूज़िक के साथ ही हम थिरक रहे थे. पायल के बदन से उठ ती खुसबु और उसका जवान गरम बदन मुझे दीवाना बना रहा था और मेरा लंड बोहोत ही ज़ोर से अकड़ गया था. इतना पवरफुल एरेक्षन था के अगर मैं बॉक्सर्स नही पहना होता तो किसी स्प्रिंग की तरह से झटका खा के लंड मेरे पेट से जा लगता. बॉक्सर्स शॉर्ट्स मे मेरा 9 इंच लंबा और 3 इंच मोटा लोहे जैसा मूसल लंड तकरीबन 90 डिग्री के आंगल पे ऐसे खड़ा था जैसे कोई दीवार पे लगाने वाला खूता होता है. पायल की चूतदो पे हाथ रखा तो उसने भी अपने हाथ नीचे उतार लिए और अब उसके हाथ भी मेरे चूतदो पे थे. उसकी चूतदो को थोड़ा सा दबाया तो उसने भी मस्ती मे मेरे चूतदो को धीरे से दबाया. मैं समझ गया के अब उसको भी मज़ा आ रहा है और अब वो भी मस्ती मे भर गयी है.

हम एक ही जगह पे खड़े एक दूसरे की बाँहो मे बाँहे डाले इधर उधर डोल रहे थे. मैं उसके कुछ और करीब आ गया और उसको ऑलमोस्ट अपनी बाँहो मे ले लिया तो पायल खुद ही मेरे इतने करीब आ गयी के मेरे बदन से उसका बदन लगने लगा और मेरा लंड उसकी जाँघो से लग गया. उसका सर मेरे सीने पे था और मेरा सर उसके शोल्डर पे था हम दोनो ही मस्ती मे एक दूसरे से लिपटे झूल रहे थे ऐसा लग रहा था जैसे हम दुनिया भुला बैठे हो. महॉल बोहोत ही रोमॅंटिक हो गया था हम दोनो मे से कोई भी बात नही कर रहा था बॅस हम दोनो की आँखें बंद थी और एक दूसरे से लिप्टे एक दूसरे की बाँहो मे झूल रहे थे. मुझे पायल की गरम साँसें अपने सीने पे महसूस होने लगी और फिर मैं ने उसके शोल्डर पे किस किया तो उसकी साँस अंदर को चली गयी सस्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्

सस्स की आवाज़ आई मैं ने उसको अपनी तरफ पुल किया जिस के चलते मेरा लंड उसकी जाँघो के बीच मे घुसने लगा. जैसे ही मेरा लंड उसकी जाँघो को लगा उसने अपनी टाँगें थोड़ी सी खोल ली. यह निमंत्रण पत्र था जो मेरे लंड को उसकी चूत का मिला था. अब हम कुछ बात नही कर रहे थे बॅस आँखें बंद किए एक दूसरे की बाँहो मे बाहें डाले मस्ती मे झूम रहे थे. मैं अपना लेफ्ट हॅंड उसकी शोल्डर पे से नीचे ला के उसके बूब्स पे रख दिया तो उसने कोई विरोध नही किया और उसके मूह से एक बार फिर से सस्स्स्स्स्स्स्स्स्सस्स जैसी आवाज़ निकली अब मुझे पता चल चुका था के उसको मज़ा आ रहा है. मैं ने उसके बूब को दबाते दबाते उसकी नाइटी की डोरी को ऐसे खोला के उसको पता ही नही चला के उसकी डोरी के साथ उसकी नाइटी भी सामने से खुल चुकी है. मैं ने धीरे से नाइटी को हटाया और उसके नंगे बूब पे अपना हाथ रख दिया और धीरे धीरे मसल्ने लगा. उसके बूब्स

बड़े मस्त थे एक दम से कड़क जैसे किसी छोटी मोसंबी को दो भाग मे काट के उल्टा कर के रख दिया हो. साइज़ मे ऐसे थे के मेरे हाथ मे पूरा बूब आ गया था और उसके निपल एरेक्ट हो गये थे.

मेरे हाथ का स्पर्श अपनी नंगी बूब पे महसूस करते ही वो मेरे से कुछ और लिपट गयी. नीचे मेरा लंड उसकी चूत से टकरा रहा था अब वो पूरा रेस्पॉन्स देने लगी थी और अपने हिप्स को डॅन्स के साथ मेरे लंड से रगड़ रही थी जैसे किसी इंग्लीश सेक्सी डॅन्स मे लड़का और लड़की एक दूसरे के बदन से चिपके होते हेँ. उसपे मस्ती छाने लगी थी. कमरा ऑलमोस्ट अंधेरा ही था हम दोनो की आँखें बंद थी और एक दूजे मे खोए हुए थे. जिस हाथ से पायल का बूब दबा रहा था उसको थोड़ा सा मूव करते हुए उसकी नाइटी मे से उसका हाथ पीछे करते हुए स्लीव मे से बाहर निकाल दिया और दूसरे हाथ का स्लीव भी उसने अपने हाथ मेरे शोल्डर्स पे से निकाल के नीचे कर दिया जिस की वजह से उसकी नाइटी नीचे गिर गई. मैं अपना एक हाथ उसकी चूतड़ पे रखा तो मेरा अंदाज़ा सही निकला उसने पॅंटी नही पहनी थी और मेरे हाथ मे उसके नंगे चूतड़ थे. पायल अब मेरे सामने एक दम से नंगी थी ऐसा लग रहा था जैसे कोई संग मरमर की मूर्ति हो जिसे किसी बोहोत बड़े कलाकार ने तराशा हो.

पायल फुल मस्ती मे थी उसकी गरम साँसें मुझे अपने नेक पे महसूस हो रही थी. उसका जो हाथ मेरे शोल्डर पे था उसको पकड़ के मैं अपने थाइस पे ले के आया और उसके हाथ पे अपना हाथ रखे हुए अपनी थाइस को सहलाने लगा. थोड़ी देर ऐसे ही सहलाते सहलाते अपना हाथ वाहा सा हटा लिया तो भी पायल कंटिन्यू मेरे थाइ को सहला रही थी तो मैं ने आहिस्ता से उसके कान मे विस्पर किया थोड़ा ऊपेर पायल थोड़ा और ऊपेर तो उसका हाथ मेरे थाइस के और ऊपेर आने लगा. मेरा लंड तो किसी रॉकेट की तरह 90 डिग्री के आंगल पे जैसे रॉकेट लॉंचर पे खड़ा हुआ था जिसके चलते मेरे थिन मेटीरियल के लूस बॉक्सर्स शॉर्ट का पयंचा नीचे से खुल गया था तो पायल का हाथ वाहा से ऊपेर आ गया और वो अपने हाथ मेरे शॉर्ट के पाएंचे के अंदर डाल के इधर उधर टटोलने लगी. उसकी उंगलियाँ पहले मेरे बॉल्स पे लगी और फिर उसने मेरे मोटे, लोहे जैसे सख़्त और गरम लंड के डंडे को पकड़ लिया और दबा दिया. लंड को अपने हाथ से पकड़ते ही उसके मूह से बोहोत धीरे से ऊऊऊऊओ निकला जैसे वो सांस अंदर खेच रही हो. उसके नरम और डेलिकेट हाथ मेरे लंड पे लगते ही मेरा लंड कुछ और मोटा और सख़्त हो गया. उसका सर तो मेरे सीने मे छुपा हुआ था, उसने बोहोत ही धीरे से मेरे कान मे कहा कहा आअहह राअज्जजज्ज फक मी राज्ज्ज फक मी आज की रात को मेरी सुहाग रात समझ कर मुझे लड़की से औरत बना दो राज. आज मेरे साथ अपनी सुहाग रात मनाओ प्लीईसस्स्सस्स राज्ज औरत बनने के लिए मैं बोहोत ही तड़प रही हू और मेरे लंड को दबाते हुए बोली के यह मुझे दे दो राज्ज्ज प्लीईएसस्स्स्सस्स तो मैं ने भी धीरे से उसके कान मे कहा पायल मेरी जानू यह तुम्हारे लिए ही है लेलो इसे तो उसने साइड्स से मेरे शॉर्ट्स के एलास्टिक मे हाथ डाल के उसको नीचे कर दिया और धीरे से बोली के राज इस ने मुझे बोहोत तडपया है याद है तुम्है वो होली का दिन जिस दिन तुम मेरे ऊपेर लेटे थे और एक दो धक्के मेरी चूत मे मारे थे और तुम्हारे लंड का टोपा मेरी चूत के सुराख मे अटका गया था, मैं तो उसी दिन से तुम्हारे लोहे जैसे सख़्त लंड की दीवानी हो गई थी और बोहोत दीनो तक सही तरीके से सो भी नही पे थी मैं राज्ज पता है तुमको. उस दिन से मुझे हमेशा से ही तुम्हारा यह मूसल कभी अपने चूत के ऊपेर औरकाभी सुराख के अंदर अटका हुआ महसूस होता था और मैं हमेशा से ही इस से चुदने के ख्वाब देखा करती थी आज मेरे वो ख्वाब को हक़ीकत मे बदल डालो राज्ज्ज चोद डालो अपनी पायल को और चोद चोद कर मुझे बेहाल करदो अपनी बना लो मुझे राज्ज्ज प्लीईज़्ज़. और इतना कहते कहते उसने अपने दोनो हाथो से मेरे लंड के डंडे को पकड़ा हुआ था फिर भी मेरे लंड का हेड और थोडा हिस्सा उसके दोनो हाथो से बाहर ही निकला हुआ था. पायल बोली के बाप रे राज यह तो बोहोत ही लंबा और मोटा है और आपनी चूत मई घिसने लगी जिसके चलते उसकी चूत मे से रिससता हुआ जूस और मेरे लंड मे से निकलता प्री कम से उसकी चूत बोहोत ही स्लिपरी हो गई थी.

अब हमारा डॅन्स सेशन ख़तम हो गया था और हम दोनो ही वासना की आग मे सुलगने लगे थे. मेरा एक हाथ पायल के चूतदो पे था और दूसरे हाथ उसकी मक्खन जैसी चिकनी चूत की सैर कर रहा था. आहह क्या बताउ दोस्तो कितनी प्यारी थी उसकी चूत एक दम से मलाई जैसी मखमली सिल्की सॉफ्ट चिकनी छोटी सी बेबी चूत जैसे किसी 10-11 साल की लड़की की बिना झतो वाली चूत होती है और जो मेरा हाथ लगने से और भी गीली हो गई थी और अपना रस्स छोड़ रही थी. मैं थोड़ा झुक के उसके बूब्स को चूस रहा था, पायल की टाँगें खुली हुई थी और वो मेरे हाथ को अपनी चूत पे से हटा के मेरे लंड के हेड को अपनी चूत मे रगड़ने लगी. लंड के सूपदे के छेद मे से प्री कम के ड्रॉप्स निकल रहे थे और चूत की पंखदिओं के बीच के गुलाबी पोर्षन को स्लिपरी बना रहे थे. आहह राज्ज्जज अब मैं और बर्दाश्त नही कर सकती प्लीज़ राज्ज अब और देर ना करो और चोद डालो मुझे आइ नीड यू नाउ नीड यू नाउ राज्ज्ज वो दीवानो जैसा बड़बड़ा रही थी.

मैं तो खुद ही चाह रहा था के वो अपनी ज़ुबान से चोदने के लिए बोले और उसने बोल दिया था. अब मैं उसको धीरे से पीछे

पुश करते करते बेड पे लिटा दिया और मैं भी बेड के ओपपेर उसके साइड मे उसको अपनी बाँहो मे लपेट के लेट गया. हम दोनो एक दूसरे की तरफ मूह कर के करवट लेते हुए थे और पॅशनेट किस कर रहे थे एक दूसरे की ज़ुबान को चूस रहे थे. मैं पायल के बूब्स को दबा रहा था और उसके निपल्स को उंगली और अंगूठे के बीच मे पकड़ के धीरे धीरे मसल रहा था. लंड का टोपा उसकी मस्त चिकनी चूत से टकरा रहा था और कभी जब लंड का हेड उसकी चूत के सुराख मे अटक जाता तो पायल के बदन मे झुरजुरी सी आ जाती और मस्ती मे सस्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्सस्स की आवाज़ निकल जाती. पायल ने खुद ही अपनी एक टांग उठा के मेरे थाइ पे रख दी जिस से उसकी चूत थोड़ी और खुल गयी थी और अब एक बार फिर मेरा लंड मस्ती मे झूमते हुए उसकी प्यारी चूत को सल्यूट टकराने लगा तो उसने एक बार फिर से मेरे लंड के डंडे को पकड़ के अपनी चूत मैं रगड़ना चालू कर दिया. मैं पायल को चोदने से पहले फुल्ली प्रिपेर करना चाहता था और फिर उसके बाद ही उसकी कुँवारी चूत की सील तोड़ना चाहता था इसी लिए मे अपनी पोज़िशन को थोड़ा चेंज किया और उसको पीठ के बल चित्त लिटा दिया और उसकी टांगो को खोल के उसके थाइस के बीच मे बैठ गया और उसके ऊपेर झुक गया और उसके मस्त कड़क छोटे संतरे जैसे साइज़ के चुचिओ को एक के बाद एक कर के दबाने और चूसने लगा और निपल को दांतो से काटने लगा. ऐसी पोज़िशन मे मेरे लंड का हेड उसकी चूत से टकरा रहा था और लंड के मूह मे इतनी प्यारी चूत की सील तोड़ने के ख़याल से ही लंड के मूह मे पानी आ रहा था. पायल की टाँगें खुद ही ऊपेर उठ गयी और मेरे बॅक पे लपेट ली और मेरे सर को अपने दोनो हाथो से पकड़ लिया और अपने सीने पे दबाने लगी. अब मैं थोड़ा सा नीचे सरकते हुए उसके दोनो चुचिओ के बीच मे किस करते करते उसके मक्खन जैसे चिकने पेट के ऊपेर अपनी जीभ फेरने लगा और ऐसी पोज़िशन मे, मैं थोड़ा और पीछे हट गया था और मैं किस करते करते पायल की नाभी को चूमने लगा और उसकी नाभी के सुराख मे अपनी जीभ डाल के घुमाने लगा जिस से उसके सारे बदन मे तितलियाँ सी दौड़ने लगी और उसकी चूत मे चीटिया रेंगने लगी. पायल की आँखें मस्ती मे बंद थी और उसकी साँस गहरी चल रही थी और मूह से आआआहह और सस्स्स्स्स्स्स्सस्स जैसी आवाज़े निकल रही थी.

अब पायल मेरे सर को नीचे अपनी चूत की तरफ धकेलने लगी और मैने अपनी जीभ को नीचे लाते हुए उसकी उभरे हुए पेडू के नवल पे किस किया तो उसने अपनी गंद ऊपेर उछाल दी जैसी इशारा दे रही हो के मेरी चूत मे अपनी जीभ डालो और चूसो तो मैं ने अपनी जीभ थोड़ा नीचे उतार ली और उसकी चूत के आस पास चूमने लगा और अपनी ज़ुबान को उसकी चूत के साइड मे गोल गोल घुमाने लगा जैसे उसकी चूत के ऊपेर जीभ से जैसेसर्कल बना

रहा हू जिस से वो कुछ और ही पागल हो गई और अपनी गंद ज़ोर ज़ोर से ऊपेर उछालने लगी, उसकी गंद तकरीबन 2 फीट तक बेड से ऊपेर उठ रही थी और मेरे सरर को पकड़ के अपनी चूत मे घुसाने की कोशिश करने लगी और फिर मैं ने भी उसकी गंद के नीचे अपने दोनो हाथ रख के उसकी गंद को थोड़ा सा ऊपेर उठाया और चूत मे मूह डाल दिया और जैसे ही मैं ने उसकी चूत पे किस किया और अपनी जीभ उसकी चूत के अंदर घुसाई तो उसने मेरे सर को पकड़ लिया और अपनी चूत के अंदर ज़ोर से दबा लिया और उसका बदन एक दम से अकड़ने लगा और अपनी थाइस जिस से उसने मेरे सर को अपनी जाँघो मे पकड़ के बोहोत ज़ोर से दबा दिया और मेरे सरर को अपनी चूत मे ही दबा के पकड़े हुए रखा, मस्ती मे और जोश मे अपने सर को दाएँ बाएँ पटाकने लगी, उसके मूह से आआहह र्र्र्ररराआआआजजजज्ज ब्ब्बूवूतततत म्‍म्माआज़्ज़्ज़्ज़ाआ हहाआआआई अम्मेयीयीयर्र्र्र्रयाया न्न्नीईक्क्क्क्काआअल्ल्ल्ल्ल र्र्र्र्ररराआहहाा हहाअईई र्र्ररराआाजजजज ऊवुयीयीयियी म्‍म्म्मममाआअ और वो ऐसे हिल्लने लगी जैसे उसको बड़े ज़ोर की ठंड लगी हो और ऐसे हिलते हिलते और काँपते हुए वो झड़ने लगी. जितनी देर तक उसका ऑर्गॅज़म चलता रहा उसने मेरे सर कोमाज़बूती से पकड़ के ज़ोर से अपनी चूत मे घुसाए रखा, उसका बदन किसी कमान की तरह से आकड़ा रहा, उसका बदन और गंद बेड से 2 फीट ऊपेर उठी हुई थी और जैसे ही उसका ऑर्गॅज़म ख़तम हुआ, उसने मेरा सरछोड़ दिया और वो गहरी गहरी साँसें लेते हुए बिस्तर पे ढेर हो गई. उसकी आँखें बंद थी और उसका शरीर एक दम से ढीला पड़ चुका था वो गहरी गहरी साँसें ले रही थी, उसकी चूत के पंखाड़िया गीले हो गये थे उसके जूस से उसकी चूत चमक रही थी.

थोड़ी देर के बाद जब उसकी हालत ठीक हुई तो मैं ने पूछा के पायल कैसा फील कर रही हो तो उसने मेरे चेहरे को अपने हाथो मे ले लिया और मुझे चूमते हुए बोली के राज्ज ऐसा मज़ा मुझे कभी नही मिला था और इतना पवरफुल ऑर्गॅज़म मुझे कभी नही आया था यू आर वंडरफुल राज तुम्है औरत को प्रिपेर करना बोहोत अछा आता है आइ लव यू राज. बॅस अब मुझे और ना तद्पाओ मुझे चोद के मेरी हालत खराब कर दो और मुझे लड़की से औरत बना दो मैं औरत बनने के लिए तड़प रही हू राज्ज्ज प्लीज़ अब देर ना करो. इतना कहते हुए उसने मुझे अपने ऊपेर खेचा और मेरे को किस करने लगी और मेरे मूह से लगी अपनी चूत की मलाई को चाटने लगी. अब मैं उसको चोदने के लिए पूरी तरह से रेडी था. मैं पलट के पायल के ऊपेर आ गया और अपने पैर मोड़ के उसके सर के दोनो तरफ दोनो घुटने (नीस) रख के उसके ऊपेर झुक गया और पर्फेक्ट 69 की पोज़िशन मे आ गया और एक बार फिर से उसकी मक्खन जैसी चिकनी चमकती रसीली चूत को चाटने लगा. उसकी चूत उसके रस्स से गीली हो चुकी थी और चूत से मेहेक्ति हुई मधुर सुगंध

मेरे लंड को दीवाना बना रही थी. मेरा लंड पायल के मूह के सामने लटक रहा था जिसे मैं अपनी गंद नीचे कर के उसके होटो तक ले के आगया तो पायल ने अपना मूह थोड़ा सा उठा के मेरे लंड के हेड पे किस किया और मैं अपने लंड को उसके मूह पे दबा दिया तो उसने फॉरन ही अपना मूह खोल के मेरे लंड का स्वागत किया और मज़े से चूसने लगी. मैं पायल की चूत को चूस रहा था, चाट रहा था और वो मेरे मोटे मूसल लंड के हेल्मेट जैसे सूपदे के ऊपेर अपनी जीभ घुमा के किसी लॉली पोप की तरह से चूसने लगी. थोड़ी ही देर मे पायल जोश मे पागल हो गई और पहले तो मेरा आधा और फिर पूरा लंड अंदर अपने हलक के अंडे तक ले ले के चूसने लगी वाह दोस्तो क्या बतौ उसके मूह की गर्मी से लंड मे कुछ और तनाव बढ़ गया था और वो फूल भी रहा था और कुछ ज़ियादा ही सख़्त हो चुका था.

मेरा लंड पायल के थूक से गीला हो गया था और अब मेरा मन कर रहा था के उसकी वर्जिन चूत की सील को तोड़ डालु और मैं इसी के चलते एक ही मोशन मे पलट गया और उसकी मूडी हुई टाँगों के बीचे मे पैर पीछे कर के ऐसे लेटा के मेरा लंड पायल की गरम और गीली चूत के सुराख के ऊपेर था. पायल की टाँगें एक बार फिर से ऑटोमॅटिकली ऊपेर उठ गई और मेरे बॅक पे कैंची की तरह से लपेट लिया. मेरा लंड बोहोत ही ज़ोरो से आकड़ा हुआ था और लंड का हेड उसकी चूत के पंखदिओं के बीच मे था और मैं लंड को उसकी चूत के पंखदिओं के बीचे मे ही ऊपेर नीचे करते हुए घिसने लगा जिसकी वजह से लंड का हेड उसकी चूत के ऊपेर उसकी सेन्सिटिव क्लाइटॉरिस से रगड़ खा रहा था और पायल की और उसकी मस्त कुँवारी चूत की मस्ती को और बढ़ा रहा था उसके मूह से आआआआअहह और सस्स्स्स्स्स्सस्स र्र्ररराआआअजजजज्ज्ज हहाआआआआईईईईई फफफफफफफफफफफफफफफफ्फ़ जैसी आवाज़ें निकल रही थी. थोड़ी ही देर मे उसका हाथ ऑटोमॅटिकली हमारे बदन के बीच आ गया और उसने मेरे लंड को अपने हाथो से खुद ही पकड़ के अपनी चूत के पंखाड़ियों के बीच मे घिसते हुए अपनी चूत के सुराख मे अटका दिया और मस्ती भरी आवाज़ मे धीरे से बोली के फक मी राज फक मी नाउ जल्दी करो राज्ज प्लीज़ चोद डालो अब मुझे अब और बर्दाश्त नही होता फक मे प्लीज़ राज्ज और उसकी गंद बेड से ऊपेर उठ रही थी और उसकी चूत मेरे लंड से चुदने को बेकरार थी. मैं इतने जोश मे था और मेरा मूसल लंड तो लोहे जैसा सख़्त हो गया था और वर्जिन चूत को चोदने और उसकी सील तोड़ने को बेताब था और ऐसी मखमली प्यारी बेबी चूत को देख के मेरे लंड के मूह मे भी ढेर सा पानी आ रहा था.

एक बार फिर से मैं पायल के बूब्स को चूसने लगा. पायल भी कुछ इतनी गरम हो चुकी थी के अपनी गंद उठा के मेरे लंड को अपनी गरम चूत के अंदर लेने को बेताब हो रही थी. मेरे नीचे लेटे लेटे अपनी गंद को उछाल रही. लंड को चूत के अंदर महसूस करने को बोहोत उताओली होरही थी. मेरे तने हुए मूसल लंड से डर भी लग रहा था और एग्ज़ाइट्मेंट भी था जिसके चलते पायल की आँखें मस्ती मे बंद हो गई थी, साँसें बोहोत ही तेज़ी से चल रही थी और उसका चेहरा जोश मे लाल हो गया था.

पायल मेरे बदन से चिपकी हुई थी, मेरी पीठ के ऊपेर टाँगें लपेटे मुझे किस कर रही थी. मेरा लोहे जैसा मज़बूत लंड उसकी चिकनी गीली चूत के सुराख मे अटका हुआ था. पायल पे मुझे दया तो बोहोत आ रही थी पर क्या करू मुझे लड़की की कुँवारी चूत को एक ही झटके मे सील तोड़ने मे जो मज़ा मिलता था मैं उस मज़े को खोना नही चाहता था. मेरे अंदर की सारी ताक़त जैसे मेरे लंड मे समा गयी थी. लंड बोहोत ही टाइट लोहे जैसा सख़्त हो चुका था. मेरे अंदर का शैतान जाग गया था और अब मैं ने फ़ैसला कर लिया था के उसकी चूत को एक ही झटके मे फाड़ के उसकी सील को तोड़ना है और इसी ख़याल के चलते मैं ने आओ देखा ना ताओ और लंड के हेड को तीन चार बार उसकी गीली चूत के सुराख मे अंदर बाहर किया और एक इतनी ज़ोर से झटका मारा के गीला लंड उसकी गीली चूत के अंदर उसकी चूत को फाड़ता हुआ एक ही बारी मे उसकी चूत की जड़ तक ऐसे घुस्स गया जैसे कोई गरम च्छुरी ( नाइफ ) मक्खन ( बटर ) मे घुस्स जाती है और फिर उसके मूह से चीख निकल गयी ऊऊऊऊऊओिईईईईईईईईईईईईई म्‍म्म्ममाआआआआआअ म्‍म्म्ममममममाआआआआआररर्र्र्ररर गग्ग्गाआआआऐईईईईईई र्र्र्र्ररराआआअजजजज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज ऊऊऊऊऊओिईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईई सस्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्सस्स और पहले तो उसने मुझे बोहोत ही ज़ोर से पकड़ लिया उसके नाख़ून ( नाइल्स ) मेरी पीठ मे गढ़ गये और उसने मेरे शोल्डर पे अपने दांतो से काट लिया और फिर देखते ही देखते उसके हाथ पैर ढीले पड़ गये आँखे अपने सॉकेट के अंदर ऊपेर को च्चढ़ गयी आँखो मे से आँसू निकल के उसके गालो से नीचे बेडशीट पे गिरने लगे और पायल पे जैसे बिजली सी गिर पड़ी थी, उसके सरर मे हज़ारो धमाके हुए और वो उसका माइंड ब्लॅक आउट हो गया और शाएद एक मिनिट के लिए वो बेहोश हो गयी. पायल की कुँवारी चूत फॅट चुकी थी. उसकी साँसें गहरी गहरी चल रही थी जिसके चलते उसके बूब्स ऐसे ऊपेर नीचे हो रहे थे जैसे समंदर मे कश्ती हिचकोले खाती है जिसे देख कर मेरा चुदाई का जोश और बढ़ रहा था. नंगी पायल बोहोत ही सेक्सी लग रही थी. मेरा लंड जड़ तक उसकी चूत के अंदर घुसा हुआ उसकी चूत के ऊपेर किसी बोतल के ढक्कन की तरह से फिट बैठा हुआ था और उसकी चूत के अंदर ही अंदर ख़ुसी से फूला

नही समा रहा था और उसकी कुँवारी चूत की सील तोड़ने का जशन माना रहा था और उसकी चूत के अंदर ही अंदर ख़ुसी से मोटा हो रहा था. पायल तो जैसे बेहोश हो चुकी थी पर मुझे लग रहा था जैसे उसकी चूत अभी भी जीवित हो और अंदर से चूत के मसल्स मेरे लंड के ऊपेर कस्स के पकड़े हुए थे.

मैं अपने लंड को उसकी फटी हुई चूत के अंदर डाले थोड़ी देर तक उसके ऊपेर ऐसे ही लेटा रहा और जब देखा के उसके बदन मे कोई मूव्मेंट नही हो रही है तो अपना लंड उसकी चूत से बाहर निकाल लिया और लंड के बाहर निकाल ते ही उसकी चूत मे से जो खून मेरे लंड के अंदर होने की वजह से रुका हुआ था वो नीचे बह के बेडशीट पे गिरने लगा. उसकी चूत से निकली हुई खून की बूँदें मेरे लंड से टपक के बेडशीट पे गिरने लगी. मैं बेड से नीचे उतरने लगा और नीचे उतर ते उतर ते उसी बेडशीट के कोने से अपने लंड से टपकते पायल की चूत के खून को पोंछ लिया और बाथरूम से थोड़ा पानी ला के पायल के मूह पे डाला तो उसने अपनी आँखें खोली और इधर उधर ऐसे देखने लगी जैसे सोचने की कोशिश कर रही हो के वो कहा है. पायल को अब होश आ गया था और वो मेरे और अपने नंगे शरीर को ऐसे देखने लगी जैसे पूछना चाहती हो के मैं कहा हू और यह क्या हुआ मेरे साथ. पायल मुझे थोड़ी देर तक खाली खाली निगाहो से देखती रही तो मैं मुस्कुरा दिया और बोला के बधाई हो पायल अब तुम लड़की से औरत बन चुकी हो. यह सुन ते ही पायल के चेहरे पे तक़लीफ़ भरी मुस्कुराहट आ गयी, शरम से उसका चेहरा टमाटर की तरह लाल हो गया और वो बिस्तर से उठ बैठी और और अपने नंगे बदन को देखा और बिना सोचे समझे ही अपनी चूत को अपने हाथो से ढक लिया तो मैं बेड पे च्चढ़ के उसके पास लेट गया, उसको भी अपने साथ लिटा लिया और उसके बूब्स पे हाथ फेरते और किस करते बोला के पायल मेरी जानू पता है तुम्है आज तुम्हारी सुहाग रात थी और अब तुम सही माएनो मे शादी शुदा औरत बन चुकी हो तुम्हारी कुँवारी चूत की सील टूट गयी है बॅस अब तुम्है फिर ऐसी तकलीफ़ आज के बाद कभी भी नही होगी अब तुम सिर्फ़ और सिर्फ़ अपने ज़िंदगी को एंजाय करोगी अब तुम्है सिर्फ़ मज़ा ही मज़ा आएगा.

पायल एक दम से रोने लगी और बोली के राज्ज्ज यह क्या हो गया राज्ज्ज तो मैं ने उसको अपनी बाँहो मे ले लिया और उसको प्यार करने लगा और उसको तसल्ली देने लगा बोला के डॉन’ट वरी पायल, प्लीज़ डॉन’ट क्राइ मेरी जान सब ठीक हो जाएगा पायल प्लीज़ डॉनट क्राइ, प्लीज़ रो’ओ मत मेरी जान. थोड़ी ही देर मे पायल का रोना बंद हो गया लैकिन उसकी चूत अभी भी दुख रही थी तो मैं उसको अपनी गोदी मे उठा के बाथरूम मे ले गया और एक प्लास्टिक के छोटे टब मे गरम पानी भर के उसमे थोड़ा सा नमक ( सॉल्ट

) डाल के उसमे पायल को ऐसे बिठा दिया के गरम पानी से उसकी ज़ख़्मी चूत को सेंक पहुँचे और उसकी चूत को आराम मिले. मैं उसके साइड मे घुटने मोड़ के उकड़ू बैठ गया और उसकी चूत को अपने हाथो से धोने लगा. सारा खून सॉफ किया और थोड़ी देर तक ऐसे ही गरम पानी के टब मे बैठने से उसका दरद काफ़ी हद तक कम हो गया था. फिर उसको टब मे से उठा या और शवर के नीचे खड़ा कर दिया और शवर के मिक्सर को लाइट हॉट वॉटर पे सेट कर दिया और शवर चालू कर दिया.

हल्के गरम पानी की फुहार हम दोनो पर पड़ रही थी. एक साबुन मैं ने अपने हाथ मे ले लिया और दूसरा साबुन पायल के हाथ मे दे दिया जिस से हम दोनो एक दूसरे के बदन पे साबुन लगाने लगे और रगड़ने लगे. पायल का हाथ लगते ही मेरे लंड मे नयी जान पड़ने लगी और वो किसी साँप ( स्नेक ) की तरह से लहरा के खड़ा हो गया. मैं पायल के बदन पे साबुन लगा ते लगा ते उसकी चूत पे अछी तरह से मलने लगा. मेरा हाथ अपनी चूत पे महसूस करते ही उसने अपनी टाँगे थोड़ी खोल दी जैसे इशारा दे रही हो के अछी तरह से धो डालो. मैं उसकी चूत को साबुन लगा के अछी तरह से मलने और धोने लगा और गरम पानी का सेंक देने लगा और उधर पायल ने अपना हाथ मेरे आकड़े हुए लंड पे रख दिया और दोनो हाथो से लंड के डंडे को पकड़ के बोली के राज्ज्ज तुम्हारा तो बड़ा ही मस्त लंड है देखो यह कितना बड़ा और मोटा है ऐसे ख़तरनाक लंड को देख के मुझे डर लगता है देखो तो सही यह फिर से जागने लगा है मैं ने तो कभी ख्वाब मे भी इतना बड़ा और मोटा लंड किसी का नही देखा. मेरा लंड इतना बड़ा था के पायल के दोनो हाथो से पकड़ने पर भी लंड का हेड उसके छोटे नाज़ुक हाथो से बहेर निकल रहा था और मोटा इतना था के उसके हाथो मे मुश्किल से ही समा रहा था. मैं ने कहा के पायल मेरी जानू यह तुम्हारी चिकनी टाइट मक्खन मलाई जैसी चूत का कमाल है जिस्मै घुसने के लिए यह एक बार फिर से उतावला हो रहा है तो उसने बोला के राज्ज अभी नही राज्ज प्लीज़ अभी तो मुझे बोहोत दुख रहा है तो मैं बोला के मेरी जान तुम क्यों फिकर करती हो मैं इस प्यारी प्यारी चूत को चूम चूम के इसका दरद दूर कर्दुन्गा तो उसने मुस्कुराते हुए मेरे सीने पे हाथ से हल्के से प्यार से मारा और बोली के धत्त कितने बे सब्रे हो तुम इसके दरद कम होने का इंतेज़ार भी नही कर सकते, अभी अभी तो तुम्हारे इस शैतान ने मेरी मुनिया को कितनी बुरी तरह से घायल कर दिया और इस मे से खून भी निकल आया तो मैं मुस्कुराते हुए बोला के मेरी प्यारी प्यारी पायल डार्लिंग अभी तो तुम्है सिर्फ़ दरद हुआ है जो हर कुँवारी लड़की को ज़िंदगी मे एक ही टाइम जब उसकी चूत की सील टूट ती है तब होता है अब तुम ऐसे दरद से हमेशा के लिए मुक्त हो गई हो अब तुम्है कभी ऐसा दरद नही होगा बलके अब तुम्है सिर्फ़ और सिर्फ़ मज़ा ही मज़ा आएगा. यह तो तुम्हारी चूत की सील टूटने का दरद था वो जो

अब ख़तम होगया है और अब बॅस मज़ा ही मज़ा आना बाकी है जो मैं अब तुम्है दूँगा जिसे तुम ज़िंदगी भर भुला ना पावगी तो वो शरमा के मुस्कुरा दी, मुस्कुरा के मुझ से लिपट गयी और मेरे सीने मे अपना मूह छुपा लिया और धीरे से बोली आइ आम ऑल युवर्ज़ जो करना है कर्लो मैं अब दिल ओ जान से सिर्फ़ और सिर्फ़ तुम्हारी ही हू. मैं बाथ टबमे नीचे बैठ गया और पायल की चूत को चूम लिया तो उसकी टाँगें ऑटोमॅटिकली खुल गयी और सीधे उसके हाथ मेरे सर पे आ गये और मेरे सर को पकड़ के अपनी चूत मे घुसा लिया और मैं उसकी चूत को मज़े से चाटने लगा. वो फुल मस्ती मे थी और एक ही मिनिट के अंदर वो झाड़ गयी. उसका ऑर्गॅज़म एक मिनिट तक चलता रहा फिर उसने मुझे बगल से पकड़ के उठा लिया और खुद बीचे घुटनो के बल बैठ गयी और मेरे मूसल को अपने मूह मे ले लिया और मज़े से चूसने लगी. मैं भी पूरी तरह से उसको चोद नही पाया था इसी लिए मैं अब उसके मूह को चोदने लगा. मेरा मूसल लंड इतना बड़ा और मोटा था के वो पूरा उसके मूह मे नही घुस रहा था. पायल पूरी कोशिश कर रही थी के मेरे लंड को पूरी तरह से अपने मूह मे ले सके पर आधा ही लंड चूस पा रही थी. मेरी स्पीड भी बढ़ गयी थी और मैं एक झटके मे अपने लंड को पूरी ताक़त से उसके हलक तक घुसा दिया और उसके हलक मे ही अपने लंड से निकलती मलाई की मोटी मोटी धारिया गिराने लगा. लंड पायल के हलक तक घुसा हुआ था जिस के चलते उसके हलाक से गगगगगगघह गगगगगगघह उउउन्न्ञनननननननणणन् हंंनननननननननणणन् जैसे आवाज़े निकल रही थी. जैसे ही मेरी मलाई निकलना बंद हुई मैं ने अपना लंड उसके मूह से बाहर निकाल लिया. लंड के बाहर निकलते ही पायल के मूह से गहरी गहरी साँसें निकलने लगी, उसकी आँखें लाल हो गयी थी. उसने एक लंबी सी डकार मारी और अपने पेट पे हाथ फेरते हुए बोली वाह राज्ज कितनी मलाई निकली यार तुम्हारे लंड मे से, मैं तो पीते पीते थक गई और तुम्हारी क्रीम से तो मेरा पेट ही भर गया. हम दोनो हस्ने लगे और फिर हम ने साबुन अपने हाथो मे ले लिया.

साबुन लगाते लगाते उंगली उसकी चूत के अंदर चली गई तो उसको उसकी घायल चूत के अंदर जलन होने लगी उसकी ज़ुबान से आआआआहह निकला और बोली के राज्ज्ज अंदर जलन हो रही है तो मैं ने उसको फॉरन टब मे लिटा दिया और शवर को शिफ्ट करके नल्ल ( ताप ) पे कर दिया और उसकी मोटी धार को डाइरेक्ट उसकी चूत मे डालने लगा जिस से उसको बोहोत ही आनंद आने लगा और वो अपनी टाँगें खोले पानी की धार को अपनी चूत मे ले के रिलॅक्स करने और मज़े लेने लगी और थोड़ी देर तक पानी की तेज़ धार उसकी क्लाइटॉरिस पे पड़ने लगी तो उसकी आँखें बंद हो गई और ऑटोमॅटिकली उसका हाथ अपनी चूत पे आ गया और पानी की धार

के साथ अपनी क्लाइटॉरिस को मसल्ने लगी और एक ही मिनिट के अंदर झाड़ गयी उसको पानी की धार से एक अजीब सा आनंद आया. मैं उसकी यह मस्ती देख के उसके ऊपेर झुक गया और उसकी चूत को किस करने और चाटने लगा. थोड़ी ही देर मे उसके मूह से मस्ती की आवाज़ें निकलने लगी और उसने अपनी टाँगें पूरी खोल ली मेरे सर को पकड़ के अपनी चूत मे घुसा के चूत की चटवाई के मज़े लेने लगी और साथ ही साथ एक बार और वो झाड़ गई इसी तरह से हमारा शोवर ख़तम हुआ और हम दोनो बाथरूम से बाहर निकल आए.

मैं पायल को फिर से अपनी बाँहो मे उठा के बाथरूम से बाहर लाया और हम दोनो ने एक दूसरे के बदन को टवल से सॉफ किया. कमरे का महॉल बोहोत ही रोमॅंटिक था. पायल को अपनी बाँहो मे लेके उसको किस करने लगा और अब तक वो भी बोहोत ही बिंदास हो चुकी थी उसका हाथ डाइरेक्ट मेरे लंड पे आ गया और उसने मेरे लंड को अपनी मुट्ठी मे पकड़ के दबा दिया और बोले के राज्ज्जज क्या मस्त लंड है यार तुम्हारा और थोड़े दुखी लहजे मे बोली के काश शान्ति का भी इतना बड़ा और मोटा होता तो मैं ने उसको अपनी ओर खेच लिया और उसके कान मे बोला के पायल मेरी जान इस लंड को तुम शांति का ही समझो और इसके साथ ज़िंदगी भर मज़े लो क्यॉंके शांति को पता है के उसका लंड किसी काम का नही है और वो तुमको कभी भी नही चोद पाएगा इसी लिए तो उसने बोला के राज को शांति समझो. मैं ने कयी बार उसको डॉक्टर के पास ले जाना चाहा पर वो नही आया. अब तुम उसके बारे मे सोचना बंद करो और मेरे साथ अपनी सुहाग रात के मज़े लो. यह सुन के पायल ने एक ठंडी साँस भरी और बोली के चलो क्या कर सकते है शाएद भगवान की यही इच्छा है के शांति मेरे नाम का हज़्बेंड है और तुम मेरे काम के हज़्बेंड हो. यह सुन के मैं हंस दिया तो वो भी हस्ने लगी और मेरे लंड को दबाने लगी और बोली के भगवान ने मुझे यह शानदार लंड का गिफ्ट दिया है और ऊपेर मूह उठा के बोली थॅंक यू भगवान फॉर दिस वंडरफुल लंड. मैं ने फिर उसको बेड पे लिटा दिया और मैं भी ऊपेर चढ़ के पायल के बाज़ू मे लेट गया. हम दोनो एक दूसरे की तरफ मूह कर के करवट से लेटे थे. अपना एक हाथ पायल की गर्दन के नीचे स्ट्रेट रखा जिसपे पायल लेट गई और हम टंग सकिंग फ्रेंच किस करने लगे और फिर फॉरन ही पायल का हाथ मेरे लंड पे चला गया जिसे पायल बड़े प्यार से सहलाने लगी. पायल का हाथ लगते ही लंड के अंदर जैसे एक बार फिर से गरम लोहा भरने लगा और वो देखते ही देखते मूसल जैसा मोटा और लोहे जैसा सख़्त और गरम हो गया. लंड मे से प्री कम की चमकदार मोटी मोटी बूँदें भी निकल रही थी. पायल ने एक बार फिर से वैसे ही करना चालू कर दिया जैसे वो पहले कर रही थी. अपनी एक टांग उठा के मेरे थाइ पे रख ली और मेरे लंड के सूपदे को अपनी चूत मे ऊपेर से नीचे और नीचे से ऊपेर घिसने लगी जिससे उसकी चूत गीली भी हो गयी और प्री कम से चिकनी भी होगयी. ऐसे लंड को अपनी चूत मे ऊपेर नीचे करने से कभी लंड का सूपद उसकी चूत के सुराख मे अटक जाता तो उसके मूह से एक सिसकारी सस्स्स्स्स्सस्स निकल जाती और फिर से वो घिसना चालू कर देती. उसकी आँखें मस्त से बंद हो गई थी और वो मज़े लेने लगी थी.

Mast Marwari Malaai ( MMM )--paart--19

Payal ke badan se uth ti hui perfume ki aur uske badan ki kunwari khusbhu aur uski garam jawani ka nasha mere ander kisi sharab ke nasha jaisa chhadhne laga tha. Music ke sath hi ham thirak rahe the. Payal ke badan se uth ti khusbu aur uska jawan garam badan mujhe deewana bana raha tha aur mera Lund bohot hi zor se akad gaya tha. Itna powerful erection tha ke agar mai boxers nahi pehna hota to kisi spring ki tarah se jhatka kha ke Lund mere pet se ja lagta. Boxers shorts mai mera 9 inch lamba aur 3 inch mota lohe jaisa Musal Lund takreeban 90 degree ke angle pe aise khada tha jaise koi deewar pe lagane wala khoota hota hai. Payal ki chootado pe hath rakha to usne bhi apne hath neeche utar liye aur ab uske hath bhi mere chootado pe the. Uski chootado ko thoda sa dabaya to usne bhi masti mai mere chootado ko dheere se dabaya. Mai samajh gaya ke ab usko bhi maza aa raha hai aur ab wo bhi masti mai bhar gayee hai.

Ham ek hi jagah pe khade ek doosre ki baho mai bahain dale idhar udhar dol rahe the. Mei uske kuch aur kareeb aa gaya aur usko almost apni baho mai le lia to payal khud hi mere itne kareeb aa gayii ke mere badan se uska badan lagne laga aur mera Lund uski jhango se lag gaya. Uska sar mere seene pe tha aur mera sar uske shoulder pe tha ham dono hi masti mai ek doosre se lipte jhool rahe the aisa lag raha tha jaise ham dunya bhula baithe ho. Mahol bohot hi romantic ho gaya tha ham dono mai se koi bhi baat nahi kar raha tha bass ham dono ki aankhein band thi aur ek doosre se liipte ek doosre ki baho mai jhool rahe the. Mujhe payal ki garam saansein apne seene pe hemsoos hone lagi aur phir mai ne uske shoulder pe kiss kia to uski saans ander ko chlai gayi ssssssssssssssssss ki awaz ayi mai ne usko apni taraf pull kia jis ke chalte mera Lund uski jhango ke beech mai ghusne laga. Jaise hi mera Lund uski jhango ko laga usne apni tangein thodi si khol li. Yeh nimantran patr tha jo mere Lund ko uski choot ka mila tha. Ab ham kuch bat nahi kar rahe the bass aankhein band kiye ek doosre ki baho mai bahein dale masti mai jhoom rahe the. Mai apna left hand uski shoulder pe se neeche la ke uske boobs pe rakh dia to usne koi virodh nahi kia aur uske muh se ek bar phir se sssssssssssss jaisi awaz nikli ab mujhe pata chal chuka tha ke usko maza aa raha hai. Mai ne uske boob ko dabaate dabaate uski nighty ki dori ko aise khola ke usko pata hi nahi chala ke uski dori ke sath uski nighty bhi saamne se khul chuki hai. Mai ne dheere se nighty ko hataya aur uske nange boob pe apna hath rakh dia aur dheere dheere masalne laga. Uske boobs

bade mast the ek dum se kadak jaise kisi choti mosambi ko do bhag mai kaat ke ulta kar ke rakh dia ho. Size mai aise the ke mere hath mai poora boob aa gaya tha aur uske nipple erect ho gaye the.

Mere hath ka sparsh apni nangi boob pe mehsoos karte hi wo mere se kuch aur lipat gayee. Neeche mera Lund uski choot se tarkra raha tha ab wo poora response dene lagi thi aur apne hips ko dance ke sath mere Lund se ragad rahi thi jaise kisi english sexy dance mai ladka aur ladki ek doosre ke badan se chipke hote hein. Uspe masti chane lagi thi. Kamra almost andhera hi tha ham dono ki aankhein band thi aur ek duje mai khoye hue the. Jis hath se payal ka boob daba raha tha usko thoda sa move karte hue uski nighty mei se uska hath peeche karte hue sleeve mai se baher nikal dia aur doosre hath ka sleeve bhi usne apne hath mere shoulders pe se nikal ke neeche kar dia jis ki wajah se uski nighty neeche gir gai. Mai apna ek hath uski chootad pe rakha to mera andaza sahi nikla usne panty nahi pehni thi aur mere hath mai uske nange chootad the. Payal ab mere saamne ek dum se nangi thi aisa lag raha tha jaise koi sang marmar ki moorti ho jise kisi bohot bade kalakaar ne taraasha ho.

Payal full masti mai thi uski garam saansein mujhe apne neck pe mehsoos ho rahi thi. Uska jo hath mere shoulder pe tha usko pakad ke mai apne thighs pe le ke aaya aur uske hath pe apna hath rakhe hue apni thighs ko sehlane laga. Thodi der aise hi sehlate sehlate apna hath waha sa hata lia to bhi Payal continue mere thigh ko sehla rahi thi to mai ne aahista se uske kaan mei whisper kia thoda ooper payal thoda aur ooper to uska hath mere thighs ke aur ooper aane laga. Mera Lund to kisi rocket ki tarah 90 degree ke angle pe jaise rocket launcher pe khada hua tha jiske chalte mere thin material ke loose Boxers short ka payncha neeche se khul gaya tha to payal ka hath waha se ooper aa gaya aur wo apne hath mere short ke payenche ke ander dal ke idhar udhar tatolne lagi. Uski unglian pehle mere balls pe lagi aur phir usne mere mote, lohe jaise sakht aur garam Lund ke dande ko pakad lia aur daba dia. Lund ko apne hath se pakadte hi uske muh se bohot dheere se ooooooooo nikla jaise wo sans ander khech rahi ho. Uske naram aur delicate hath mere Lund pe lagte hi mera Lund kuch aur mota aur sakht ho gaya. Uska sar to mere seene mai chupa hua tha, usne bohot hi dheere se mere kaan mai kaha kaha aaahhhh raaajjjjj fuck me rajjj fuck me aaj ki raat ko meri suhaag raat samajh kar mujhe ladki se aurat bana do raj. Aaj mere sath apni suhag rat manao pleeeessssss raajj aurat banne ke liye mai bohot hi tadap rahi hu aur mere Lund ko dabate hue boli ke yeh mujhe de do rajjj pleeeeesssssss to mai ne bhi dheere se uske kaan mai kaha Payal meri jaanu yeh tumhare liye hi hai lelo ise to usne sides se mere shorts ke elastic mai hath dal ke usko neeche kar dia aur dheere se boli ke raaj iss ne mujhe bohot tadpaya hai yaad hai tumhai wo holi ka din jis din tum mere ooper lete the aur ek do dhakke meri choot mai mare the aur tumhare Lund ka topa meri choot ke surakh mai ataka gaya tha, mai to usi din se tumhare Lohe jaise sakht Lund ki deewani ho gai thi aur bohot dino tak sahi tarike se so bhi nahi payee thi mai rajj pata hai tumko. Uss din se mujhe hamesha se hi tumhara yah musal kabhi apne choot ke ooper aurkabhi surakh ke ander atka hua mehsoos hota tha aur mai hamesh se hi iss se chudne ke khwab dekha karti thi aaj mere wo khwab ko hakeekat mai badal dalo rajjj chod dalo apni payal ko aur chod chod kar mujhe behaal kardo apni banalo mujhe rajjj pleeeezz. Aur itna kehte kehte usne apne dono hatho se mere Lund ke dande ko pakda hua tha phir bhi mere Lund ka head aur thoda hiss uske dono hatho se baher hi nikla hua tha. Payal boli ke baap re rajj yeh to bohot hi lamba aur mota hai aur aapni choot mai ghisne lagi jiske chalte uski choot mai se rissta hua juice aur mere Lund mai se nikalta pre cum se uski choot bohot hi slippery ho gai thi.

Ab hamara dance session khatam ho gaya tha aur ham dono hi vasna ki aag mai sulagne lage the. Mera ek hath payal ke chootado pe tha aur doosre hath uski makkhan jaisi chikni choot ki sair kar raha tha. Aahh kia batau dosto kitni pyari thi uski choot ek dam se malaai jaisi makhmali silky soft chikni choti si baby choot jaise kisi 10-11 saal ki ladki ki bina jhato wali choot hoti hai aur jo mera hath lagne se aur bhi geeli ho gai thi aur apna rass chhor rahi thi. Mai thoda jhuk ke uske boobs ko choos raha tha, Payal ki tangein khuli hui thi aur wo mere hath ko apni choot pe se hata ke mere Lund ke head ko apni choot mai ragadne lagi. Lund ke supade ke chhed mai se pre cum ke drops nikal rahe the aur choot ki pankhadion ke beech ke gulabi portion ko slippery bana rahe the. Aahh Rajjjj ab mai aur bardasht nahi kar sakti please raajj ab aur der na karo aur chod dalo mujhe I need you now need you now raajjj wo deewano jaisa badbada rahi thi.

Mai to khud hi chah raha tha ke woh apni zuban se chodne ke liye bole aur usne bol dia tha. Ab mai usko dheere se peeche

push karte karte bed pe lita dia aur mai bhi bed ke opper uske side mai usko apni baho mai lapet ke let gaya. Ham dono ek doosre ki taraf muh kar ke karvat lete hue the aur passionate kiss kar rahe the ek doosre ki zuban ko choos rahe the. Mai Payal ke boobs ko daba raha tha aur uske nipples ko ungli aur angoothe ke beech mai pakad ke dheere dheere masal raha tha. Lund ka topa uski mast chikni choot se takra raha tha aur kabhi jab Lund ka head uski choot ke surakh mai atak jata to Payal ke badan mai jhurjhuri si aa jati aur masti mai sssssssssssssss ki awaz nikal jati. Payal ne khud hi apni ek tang utha ke mere thigh pe rakh di jis se uski choot thodi aur khul gaye thi aur ab ek bar phir mera Lund masti mai jhoomte hue uski pyari choot ko salute takrane laga to usne ek bar phir se mere Lund ke dande ko pakad ke apni choot mai ragadna chalu kar dia. Mai Payal ko chodne se pehle fully prepare karna chahta tha aur phir uske bad hi uski kunwari choot ki seal todna chahta tha isi liye mai apni position ko thoda change kia aur usko peeth ke bal chitt lita dia aur uski tango ko khol ke uske thighs ke beech mai baith gaya aur uske ooper jhuk gaya aur uske mast kadak chote santre jaise size ke chuchion ko ek ke baad ek kar ke dabane aur choosne laga aur nipple ko dato se kaatne laga. Aisi position mai mere Lund ka head uski choot se takra raha tha aur Lund ke muh mai itni pyari choot ki seal todne ke khayal se hi Lund ke muh mai pani aa raha tha. Payal ki tangein khud hi ooper uth gayi aur mere back pe lapet li aur mere sar ko apne dono hatho se pakad lia aur apne seene pe dabane lagi. Ab mai thoda sa neeche sarakte hue uske dono chuchion ke beech mai kiss karte karte uske makkhan jaise chikne pet ke ooper apni jeebh pherne laga aur aisi position mai, mai thoda aur peeche hat gaya tha aur mai kiss karte karte payal ki nabeeh ko choomne laga aur uski nabeeh ke surakh mai apni jeebh dal ke ghumane laga jis se uske sare badan mai titlian si doudne lagi aur uski choot mai chitiyan rengne lagi. Payal ki aankhein masti mai band thi aur uski saans gehri chal rahi thi aur muh se aaaaaahhhhhhhh aur sssssssssss jaisi awazin nikal rahi thi.

Ab Payal mere sar ko neeche apni choot ki taraf dhakelne lagi aur mai apni jeebh ko neeche laate hue uski ubhre hue pedu ke naval pe kiss kia to usne apni gand ooper uchal di jaisi ishara de rahi ho ke meri choot mai apni jeebh dalo aur chooso to mai ne apni jeebh thoda neeche utar li aur uski choot ke aas paas choomne laga aur apni zuban ko uski choot ke side mai gol gol ghumane laga jaise uski choot ke ooper jeebh se circle bana

raha hu jis se wo kuch aur hi pagal ho gai aur apni gand zor zor se ooper uchalne lagi, uski gand takreeban 2 feet tak bed se ooper uth rahi thi aur mere sarr ko pakad ke apni choot mai ghusane ki koshish karne lagi aur phir mai ne bhi uski gand ke neeche apne dono hath rakh ke uski gand ko thoda sa ooper uthaya aur choot mai muh dal dia aur jaise hi mai ne uski choot pe kiss kia aur apni jeebh uski choot ke ander ghusayi to usne mere sar ko pakad lia aur apni choot ke ander zor se daba lia aur uska badan ek dum se akadne laga aur apni thighs jis se usne mere sar ko apni jhango mai pakad ke bohot zor se daba dia aur mere sarr ko apni choot mai hi daba ke pakde hue rakha, Masti mai aur josh mai apne sar ko dayen bayen patakne lagi, uske muh se aaaahhhhhhh rrrrrraaaaaaaajjjjj bbbooohhhootttt mmmaaazzzzaaaa hhhhhaaaaaaaaee mmeeeerrrrrraaaaa nnniiiikkkkkaaaaalllll rrrrrrraaaahhhhaaaa hhhhaaaeeee rrrrraaaaajjjj oooooiiiiii mmmmmmaaaaa aur wo aise hillne lagi jaise usko bade zor ki thand lagi ho aur aise hilte hilte aur kaanpte hue wo jhadne lagi. Jitni der tak uska orgasm chalta raha usne mere sar komazbooti se pakad ke zor se apni choot mai ghusaye rakha, uska badan kisi kamaan ki tarah se akda raha, uska badan aur gand bed se 2 feet ooper uthi hui thi aur jaise hi uska orgasm khatam hua, usne mera sar chhor dia aur wo gehri gehri saansein lete hue bistar pe dher ho gai. Uski aankhein band thi aur uska shareer ek dum se dheela pad chuka tha wo gehri gehri saansein le rahi thi, uski choot ke pankhadiya geele ho gaye the uske juice se uski choot chamak rahi thi.

Thodi der ke bad jab uski halat theek hui to mai ne poocha ke Payal kaisa feel kar rahi ho to usne mere chehre ko apne hatho mai le liya aur mujhe choomte hue boli ke rajj aisa maza mujhe kabhi nahi mila tha aur itna powerful orgasm mujhe kabhi nahi aaya tha you are wonderful rajj tumhai aurat ko prepare karna bohot acha aata hai I Love you raj. Bass ab mujhe aur na tadpao mujhe chod ke meri halat kharab karodo aur mujhe ladki se aurat banado mai aurat banne ke liye tadap rahi hu rajjj please ab der na karo. Itna kehte hue usne mujhe apne ooper khecha aur mere ko kiss karne lagi aur mere muh se lagi apni choot ki malai ko chaatne lagi. Ab mai usko chodne ke liye poori tarah se ready tha. Mai palat ke Payal ke ooper aa gaya aur apne pair mod ke uske sar ke dono taraf dono ghutne (knees) rakh ke uske ooper jhuk gaya aur perfect 69 ki position mai aa gaya aur ek bar phir se uski makkhan jaisi chikni chamakti rasili choot ko chaatne laga. Uski choot uske rass se geeli ho chuki thi aur choot se mehekti hui madhur sugand

mere Lund ko deewana bana rahi thi. Mera Lund payal ke muh ke samne latak raha tha jise mai apni gand neeche kar ke uske hoto tak le ke aagya to payal ne apna muh thoda sa utha ke mere Lund ke head pe kiss kia aur mai apne lund ko uske muh pe daba dia to usne foran hi apna muh khol ke mere lund ka swagat kia aur maze se choosne lagi. Mai Payal ki choot ko choos raha tha, chaat raha tha aur wo mere mote musal lund ke helmet jaise supade ke ooper apni jeebh ghuma ke kisi lolly pop ki tarah se choosne lagi. Thodi hi der mai payal josh mai pagal ho gai aur pehle to mera aadha aur phir poora Lund ander apne halak ke ande tak le le ke choosne lagi wah dosto kia batau uske muh ki garmi se Lund mai kuch aur tanao badh gaya tha aur wo phool bhi raha tha aur kuch ziada hi sakht ho chuka tha.

Mera Lund Payal ke thook se geela ho gaya tha aur ab mera man kar raha tha ke uski virgin choot ki seal ko tod dalu aur mai isi ke chalte ek hi motion mai palat gaya aur uski mudi hui tangon ke beeche mai pair peeche kar ke aise leta ke mera lund payal ki garam aur geeli choot ke surakh ke ooper tha. Payal ki tangein ek bar phir se automatically ooper uth gai aur mere back pe kainchi ki tarah se lapet lia. Mera lund bohot hi zoro se akda hua tha aur Lund ka head uski choot ke pankhadion ke beech mai tha aur mai lund ko uski choot ke pankhadion ke beeche mai hi ooper neeche karte hue ghisne laga jiski wajah se lund ka head uski choot ke ooper uski sensitive clitoris se ragad kha raha tha aur Payal ki aur uski mast kunwari choot ki masti ko aur badha raha tha uske muh se aaaaaaaaahhhhhhhhhhhhh aur ssssssssss rrrrraaaaaaajjjjjj hhhhhhhhhaaaaaaaaaaeeeeeeeeee fffffffffffffffff jaisi awazein nikal rahi thi. Thodi hi der mai uska hath automatically hamare badan ke beech aa gaya aur usne mere lund ko apne hatho se khud hi pakad ke apni choot ke pankhadiyon ke beech mai ghiste hue apni choot ke surakh mai atka dia aur masti bhri awaz mai dheere se boli ke fuck me rajj fuck me now jaldi karo rajj please chod dalo ab mujhe ab aur bardasht nahi hota fuck me please rajj aur uski gand bed se ooper uth rahi thi aur uski choot mere Lund se chudne ko bekarar thi. Mai itne josh mai tha aur mera musal lund to lohe jaisa sakht ho gaya tha aur virgin choot ko chodne aur uski seal todne ko betaab tha aur aisi makhmali pyari baby choot ko dekh ke mere Lund ke muh mai bhi dher sa pani aa raha tha.

Ek baar phir se mai Payal ke boobs ko choosne laga. Payal bhi kuch itni garam ho chuki thi ke apni gand utha ke mere Lund ko apne garam choot ke ander lene ko betaab ho rahii thi. Mere neeche lete lete apni gand ko uchal rahi. Lund ko choot ke ander mehsoos karne ko bohot utaoli horahi thi. Mere tane hue musal Lund se darr bhi lag raha tha aur excitement bhi tha jiske chalte Payal ki aankhein masti mai band ho gai thi, saansein bohot hi tezi se chal rahi thi aur uska chehra josh mai laal ho gaya tha.

Payal mere badan se chipki hui thi, meri peeth ke ooper tangein lapete mujhe kiss kar rahi thi. Mera lohe jaisa mazboot Lund uski chikni geeli choot ke surakh mai atka hua tha. Payal pe mujhe daya to bohot aa rahi thi par kia karu mujhe ladki ki kunwari choot ko ek ji jhatke mai seal todne mai jo maza milta tha mai us maze ko khona nahi chahta tha. Mere ander ki sari takat jaise mere Lund mai sama gayee thi. Lund bohot hi tight lohe jaisa sakht ho chuka tha. Mere ander ka shaitaan jaag gaya tha aur ab mai ne faisla kar lia tha ke uski choot ko ek hi jhatke mai phad ke uski seal ko todna hai aur isi khayal ke chalte mai ne aao dekha na tao aur Lund ke head ko teen chaar baar uski geeli choot ke surakh mai ander baher kia aur ek itni zor se jhatka mara ke geela lund uski geeli choot ke ander uski choot ko phaadta hua ek hi bari mai uski choot ki jadd tak aise ghuss gaya jaise koi garam chhuri ( knife ) Makkhan ( butter ) mai ghuss jati hai aur phir uske muh se cheekh nikal gayi oooooooooooiiiiiiiiiiiiiiii mmmmmaaaaaaaaaaaaa mmmmmmmmmaaaaaaaaaaaarrrrrrrr ggggaaaaaaaaaeeeeeeeeeeeee rrrrrrraaaaaaajjjjjjjjjjjjjjjjj oooooooooooiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiii ssssssssssssssssssss aur pehle to usne mujhe bohot hi zor se pakad lia uske nakhun ( nails ) meri peeth mai gadd gaye aur usne mere shoulder pe apne dato se kaat lia aur phir dekhte hi dekhte uske hath pair dheele pad gaye aankhain apne socket ke ander ooper ko chhadh gayi aankho mai se aansoo nikal ke uske galo se neeche bedsheet pe girne lage aur payal pe jaise bijli si gir padi thi, uske sarr mai hazaro dhamake hue aur wo uska mind black out ho gaya aur shaed ek minute ke liye wo behosh ho gayi. Payal ki kunwari choot phat chuki thi. Uski saansein gehri gehri chal rahi thi jiske chalte uske boobs aise ooper neeche ho rahe the jaise samandar mai kashti hichkole khati hai jise dekh kar mera chudai ka josh aur badha raha tha. Nangi Payal bohot hi sexy lag rahi thi. Mera Lund jadd tak uski choot ke ander ghusa hua uski choot ke ooper kisi botal ke dhakkan ki tarah se fit baitha hua tha aur uski choot ke ander hi ander khusi se phula

nahi sama raha tha aur uski kunwari choot ki seal todne ka jashan mana raha tha aur uski choot ke ander hi ander khusi se mota ho raha tha. Payal to jaise behosh ho chuki thi par mujhe lag raha tha jaise uski choot abhi bhi jivit ho aur ander se choot ke muscles mere Lund ke ooper kass ke pakde hue the.

Mai apne Lund ko uski phati hui choot ke ander dale thodi der tak uske ooper aise hi leta raha aur jab dekha ke uske badan mai koi movement nahi ho rahi hai to apna Lund uski choot se baher nikal lia aur Lund ke baher nikal te hi uski choot mai se jo khoon mere Lund ke ander hone ki wajah se ruka hua tha wo neeche beh ke bedsheet pe girne laga. Uskki choot se nikli hui khoon ki boondein mere Lund se tapak ke bedsheet pe girne lagi. Mai bed se neeche utarne laga aur neeche utar te utar te usi bedsheet ke kone se apne Lund se tapakte payal ki choot ke khoon ko poch lia aur bathroom se thoda pani la ke Payal ke muh pe dala to usne apni aankhein kholi aur idhar udhar aise dekhne lagi jaise sochne ki koshish kar rahi ho ke wo kaha hai. Payal ko ab hosh aa gaya tha aur wo mere aur apne nange shareer ko aise dekhne lagi jaise poochna chahti ho ke mai kaha hu aur yeh kia hua mere sath. Payal mujhe thodi der tak khali khali nigaho se dekhti rahi to mai muskura dia aur bola ke Badhayee ho Payal ab tum ladki se aurat ban chuki ho. Yeh sun te hi Payal ke chehre pe takleef bhari muskurahat aa gayee, sharam se uska chehra tamatar ki tarah laal ho gaya aur wo bistar se uth baithi aur aur apne nange badan ko dekha aur bina soche samjhe hi apni choot ko apne hatho se dhak lia to mai bed pe chhad ke uske pas let gaya, usko bhi apne sath lita lia aur uske boobs pe hath phairte aur kiss karte bola ke Payal meri jaanu pata hai tumhai aaj tumhari suhaag raat thi aur ab tum sahi maeno mai shadi shuda aurat ban chuki ho tumhari kunwari choot ki seal toot gayee hai bass ab tumhai phir aisi takleef aaj ke baad kabhi bhi nahi hogi ab tum sirf aur sirf apne zindagi ko enjoy karogi ab tumhai sirf maza hi maza ayega.

Payal ek dum se rone lagi aur boli ke Rajjj yeh kia ho gaya Rajjj to mai ne usko apni baho mai le lia aur usko pyar karne laga aur usko tasalli dene laga bola ke don’t worry Payal, Please don’t cry meri jaan sab theek ho jayega payal please donot cry, please ro’o mat meri jaan. Thodi hi der mai Payal ka rona band ho gaya laikin uski choot abhi bhi dukh rahi thi to mai usko apni godi mai utha ke bathroom mai le gaya aur ek plastic ke chote tub mai garam pani bhar ke usmai thoda sa Namak ( salt

) dal ke usmai payal ko aisi bitha dia ke garam pani se uski zakhmi choot ko senk pohoche aur uski choot ko araam mile. Mai uske side mai ghutne mod ke ukdu baith gaya aur uski choot ko apne hatho se dhone laga. Sara khoon saaf kia aur thodi der tak aise hi garam pani ke tub mai baithne se uska darad kaafi had tak kam ho gaya tha. Phir usko tub mai se utha ya aur shower ke neeche khada kar dia aur shower ke mixer ko light hot water pe set kar dia aur shower chalu kar dia.

Halke garam pani ki phuhar ham dono par pad rahi thi. Ek sabun mai ne apne hath mai le lia aur doosra sabun Payal ke hath mai de dia jis se ham dono ek doosre ke badan pe sabun lagane lage aur ragadne lage. Payal ka hath lagte hi mere Lund mai nayee jaan padne lagi aur wo kisi saanp ( snake ) ki tarah se lehra ke khada ho gaya. Mai payal ke badan pe sabun laga te laga te uski choot pe achi tarah se malne laga. Mera hath apni choot pe mehsoos karte hi usne apni tangei thodi khol di jaise ishara de rahi ho ke achi tarah se dho dalo. Mai uski choot ko sabun lage ke achi tarah se malne aur dhone laga aur garam pani ka senk dene laga aur udhar payal ne apna hath mere akade hue Lund pe rakh dia aur dono hatho se Lund ke dande ko pakad ke boli ke Rajjj Tumhara to bada hi mast Lund hai dekho yeh kitna bada aur mota hai aise khatarnaak Lund ko dekh ke mujhe dar lagta hai dekho to sahi yeh phir se jaagne laga hai mai ne to kabhi khwab mai bhi itna bada aur mota Lund kisi ka nahi dekha. Mera Lund itna bada tha ke Payal ke dono hatho se pakadne par bhi Lund ka head uske chote nazuk hatho se baher nikal raha tha aur mota itna tha ke uske hatho mai mushkil se hi sama raha tha. Mai ne kaha ke Payl Meri Jaaanu yeh tumhari chikni tight makkhan malai jaisi choot ka kamaal hai jismai ghusne ke liye yeh ek bar phir se utaola ho raha hai to usne bola ke rajj abhi nahi rajj please abhi to mujhe bohot dukh raha hai to mai bola ke meri jaan tum kyon fikar karti ho mai iss pyari pyari choot ko choom choom ke iska darad door kardunga to usne muskurate hue mere seene pe hath se halke se pyar se mara aur boli ke dhatt kitne be sabre ho tum iske darad kam hone ka intezar bhi nahi kar sakte, abhi abhi to tumhare iss shaitan ne meri munya ko kitni buri tarah se ghayal kar dia aur iss mai se khoon bhi nikal aaya to mei muskurate hue bola ke meri pyari pyari payal darling abhi to tumhai sirf darad hua hai jo har kunwari ladki ko zindagi mai ek hi time jab uski choot ki seal toot ti ha tab hota hai ab tum aise darad se hamesha ke liye mukt ho gai ho ab tumhai kabhi aisa darad nahi hoga balke ab tumhai sirf aur sirf maza hi maza ayega. Yeh to tumhari choot ki seal tootne ka darad tha wo jo

ab khatam hogaya hai aur ab bass maza hi maza aana baki hai jo mai ab tumhai dunga jise tum zindagi bhar bhula na paogi to wo shamra ke muskura di, muskura ke mujh se lipat gayee aur mere seene mai apna muh chupa lia aur dheere se boli I am all yours jo karna hai karlo mai ab dil o jaan se sirf aur sirf tumhari hi hu. Mai bath tub mai neeche baith gaya aur payal ki choot ko choom lia to uski tangein automatically khul gayee aur seedhe uske hath mere sar pe aa gaye aur mere sar ko pakad ke apni choot mai ghusa lia aur mai uski choot ko maze se chaatne laga. Wo full masti mai thi aur ek hi minute ke ander wo jhad gayee. Uska orgasm ek minute tak chalta raha phir usne mujhe baghal se pakad ke utha lia aur khud beeche ghutno ke bal baith gayee aur mere musal ko apne muh mai le lia aur maze se choosne lagi. Mai bhi poori tarah se usko chod nahi paya tha isi liye mai ab uske muh ko chodne laga. Mera musal Lund itna bada aur mota tha ke wo poora uske muh mai nahi ghus raha tha. Payal poori koshish kar rahi thi ke mere lund ko poori tarah se apne muh mai le sake par aadha hi Lund choos pa rahit hi. Meri speed bhi badh gayee thi aur mai ek jhatke mai apne lund ko poori takat se uske halak tak ghusa dia aur uske halak mei hi apne Lund se nikalti malayee ki moti moti dhariya girane laga. Lund payal ke halak tak ghusa hua tha jis ke chalte uske halak se ggggggghhhhhhhhh ggggggghhhhhhhh uuunnnnnnnnnnnnn hhhhhhhhhhhhnnnnnnnnnnnnnn jaise awazin nikal rahi thi. jaise hi meri malai nikalna band hui mai ne apna Lund uske muh se baher nikal lia. Lund ke baher nikalte hi Payal ke muh se gehri gehri saansein nikalne lagi, uski aankhein laal ho gayee thi. usne ek lambi si dakaar mari aur apne pet pe hath pherte hue boli wah rajj kitni malai nikli yaar tumhare Lund mai se, mai to peete peete thak gai aur tumhari cream se to mera pet hi bhar gaya. Ham dono hasne lage aur phir ham ne sabun apne hatho mei le lia.

Sabun lagate lagate ungli uski choot ke ander chali gai to usko uski ghayal choot ke ander jalan hone lagi uski zuban se aaaaaaaahhhhhhhhhh nikla aur boli ke Raajjj ander jalan ho rahi hai to mai ne usko foran tub mai lita dia aur shower ko shift karke nall ( tap ) pe kar dia aur uski moti dhar ko direct uski choot mai dalne laga jis se usko bohot hi anand aane laga aur wo apni tangein khole pani ki dhar ko apni choot mai le ke relax karne aur maze lene lagi aur thodi der tak pani ki tez dhar uski clitoris pe padne lagi to uski aankhein band ho gai aur automatically uska hath apni choot pe aa gaya aur pani ki dhar

ke sath apni clitoris ko masalne lagi aur ek hi minute ke ander jhad gayee usko pani ki dhar se ek ajeeb sa anand aaya. Mai uski yeh masti dekh ke uske ooper jhuk gaya aur uski choot ko kiss karne aur chaatne laga. Thodi hi der mai uske muh se masti ki awazein nikalne lagi aur usne apni tangein poori khol li mere sar ko pakad ke apni choot mai ghusa ke choot ki chatwayee ka maze lene lagi aur sath hi sath ek baar aur wo jhad gai isi tarah se hamara showe khatam hua aur ham dono bathroom se baher nikal aye.

Mai payal ko phir se apni baho mai utha ke bathroom se baher laya aur ham dono ne ek doosre ke badan ko towel se saaf kia. Kamre ka mahol bohot hi romantic tha. Payal ko apni baho mai leke usko kiss karne laga aur ab tak wo bhi bohot hi bindas ho chuki thi uska hath direct mere Lund pe aa gaya aur usne mere Lund ko apni muthi mai pakad ke daba dia aur bole ke rajjjj kia mast Lund hai yaar tumhara aur thode dukhi lehje mai boli ke kaash Sahnti ka bhi itna bada aur mota hota to mai ne usko apni or khech lia aur uske kaan mai bola ke Payal meri jaan iss Lund ko tum Shanti ka hi samjho aur iske sath zindagi bhar maze lo kyonke Shanti ko pata hai ke uska Lund kisi kaam ka nahi hai aur wo tumko kabhi bhi nahi chod payega isi liye to usne bola ke Rajj ko Shanti samjho. Mai ne kayee bar usko doctor ke pas le jana chaha par wo nahi aaya. Ab tum uske bare mai sochna band karo aur mere sath apni suhaag raat ke maze lo. Yeh sun ke payal ne ek thandi saans bhari aur boli ke chalo kia kar sakte hai shaed bhagwan ki yehi iccha hai ke Shanti mere naam ka husband hai aur tum mere Kaam ke husband ho. Yeh sun ke mai hans dia to wo bhi hasne lagi aur mere lund ko dabane lagi aur boli ke Bhagwan ne mujhe yeh shandaar Lund ka gift dia hai aur ooper muh utha ke boli Thank you Bhagwan for this wonderful Lund. Mai ne phir usko bed pe lita dia aur mai bhi ooper chhad ke Payal ke bazu mai let gaya. Ham dono ek doosre ki taraf muh kar ke karvat se lete the. Apna ek hath payal ki gardan ke neeche straight rakha jispe Payal let gai aur ham tongue sucking French kiss karne lage aur phir foran hi payal ka hath mere Lund pe chala gaya jise Payal bade pyar se sehlaane lagi. Payal ka hath lagte hi Lund ke ander jaise ek bar phir se garam loha bharne laga aur wo dekhte hi dekhte musal jaisa mota aur lohe jaisa sakht aur garam ho gaya. Lund mai se pre cum ki chamakdaar moti moti boondein bhi nikal rahi thi. Payal ne ek bar phir se waise hi karna chalu kar dia jaise wo pahle kar rahi thi. Apni ek tang utha ke mere thigh pe rakh li aur mere Lund ke supade ko apni choot mei ooper se neeche aur neeche se ooper ghisne lagi jis

se uski choot geeli bhi ho gayee aur pre cum se chikni bhi hogayee. Aise Lund ko apni choot mai ooper neeche karne se kabhi Lund ka supad uski choot ke surakh mai atak jata to uske muh se ek siskari sssssssss nikal jati aur phir se wo ghisna chalu kar deti. uski aankhein mast se band ho gai thi aur wo maze lene lagi thi.