Marwar ki mast malaai-मारवाड़ की मस्त मलाई compleet

Discover endless Hindi sex story and novels. Browse hindi sex stories, adult stories ,erotic stories. Visit mz.skoda-avtoport.ru
rajaarkey
Platinum Member
Posts: 3125
Joined: 10 Oct 2014 04:39

Re: Marwar ki mast malaai-मारवाड़ की मस्त मलाई

Unread post by rajaarkey » 13 Dec 2014 17:05

मारवाड़ की मस्त मलाई पार्ट --29



गतांक से आगे........................

मेरे चेर पे बैठ ते ही उषा मेरे पैरो के बीचे मे घुटनो के बल बैठ गयी और मेरे कड़क आकड़े हुए लंड को चूस्ते हुए बोली के राजा क्या मस्त लंड है यार तुम्हारा जिस से शादी करोगे उस लड़की की किस्मेत जाग जयगी और सुहाग रात मे ही वो जन्नत पोहोच जाएगी. ऐसी पवरफुल चुदाई के बाद भी मेरा लंड नरम नही हुआ था. उषा बोली के मेरे पति का तो इतना कड़क कभी आज तक नही हुआ. वो साला भी लंड को अंदर डालता है और झाड़ जाता है झटके मारना तो दूर की बात है और तुम्हारे धक्के वह वह मैं तो तुम्हारी चुदाई देख के ही 2 – 3 टाइम झाड़ चुकी हू. मैं चेर पे पैर फैला के बैठा थे और उषा मेरे पैरो के बीच मे बैठी लंड चूस रही थी. थोड़ी देर मे ही मे ने उसका सर पकड़ लिया और उसके मूह को चोदने लगा.

मेरी सांसो को ठीक होने मे थोड़ा टाइम लगा. उषा भी लंड चूसने मे एक दम से एक्सपर्ट लग रही थी. मस्त स्टाइल मे लंड को चूस रही थी. कभी पूरा हलक के अंदर तक ले जाती तो कभी लॉली पोप की तरह से लंड का सूपड़ा चूस्ति. कुर्सी पे बैठे ही बैठे मे फिर उषा की चूत मे अपने पैर के अंगूठे से मसाज करने लगा जैसे आशा की चूत के साथ किया था. मेरा मानना था के जब मुझे वो मज़ा दे रही थी तो उसको भी मज़ा देना मेरा कर्तव्य है. उसकी चूत से मैं खेल रहा था और उसकी चूत भी गीली हो चुकी थी और अपनी चूत को आगे पीछे कर के जैसे मेरे पैर के अंगूठे से अपनी चूत को चुदवा रही थी. मैं अपनी जगह से उठा और उषा को भी नीचे से उठा लिया और हम दोनो सोफे पे बैठ गये. उषा मेरे लंड से खेलती रही और बोली के राजा इतने दिन कहा थे यार तुम ऐसा मस्त लंड तो मुझे चाहिए था और तुम इसे लिए घूम रहे हो तो मैं ने बोला के अब यह तुम्हारा ही है समझो. मेरे लंड को सभी लड़कियाँ पसंद करती है और ऐसी कल्पना करती है के उनके हज़्बेंड का लंड भी ऐसा ही शानदार हो. इतनी देर मे आशा के बदन मे जान वापस आ चुकी थी और वो नीचे से उठ चुकी थी. आशा लड़खड़ते कदमो से बाथरूम मे चली गयी और अपनी चूत को गरम पानी से धोया तब कही जा के उसकी जलती हुई चूत मे ठंडक पड़ गयी और उसे आराम आ गया.

उषा तो एक दम से गरम थी और वो एक बार फिर से झुक के मेरे लंड को अपने मूह मे ले लिया और चूसने लगी. मैं भी चाहता था के एक नयी चूत का स्वाद भी लिया जाए इसी लिए उषा को सोफे से उठाया और हम दोनो उसके बेडरूम मे आ गये. उषा का बेडरूम भी ठीक ठाक था. कमरे के बीच मे उसका डबल बेड पड़ा हुआ था जिसपे एक नीट आंड क्लीन बेडशीट बिछी हुई थी ऐसा लग रहा था के बेड चुदाई के लिए रेडी है. मैं बेड के किनारे पे बैठ गया और उषा ऑटोमॅटिकली मेरे सामने आ के खड़ी होगयी तो मैं ने उसकी चूत को किस किया और उसकी गंद पे हाथ रख के अपनी ओर खेच लिया और उसकी चूत को मज़े से चाटने लगा. उसकी चूत से उसके जूस के मधुर सुगंध आ रही थी. उषा ने मेरे सर को पकड़ लिया और मेरे मूह मे अपनी चूत को रगड़ने लगी. कभी मैं अपनी जीभ उसकी चूत के अंदर डाल के चूस्ता तो कभी मूह बंद कर के दाँत बहेर निकाल देता तो वो अपनी क्लाइटॉरिस को मेरे दांतो से रगड़ देती. मैने भी अपने मूह मे उसकी चूत भर के डाला से काट डाला तो वो मस्ती मे पागल हो गयी और एक ही मिनिट के अंदर उसने मेरे सर को कस के पकड़ा और बोहोत ज़ोर से अपनी चूत मे दबा लिया और हिलते हुए झड़ने लगी. अब तो मैं भी उसको चोदने के लिया पागल हो चुका था. उषा को बेड के किनारे पे लिटा दिया जैसे उसकी टाँगें नीचे झूल रही थी और उसकी पीठ बेड पे थी. मैं उसके खुले पैरो के बीच आ गया और उस पे झुक गया जिस से मेरा लंड उसकी गीली गरम चूत की पंखदिओं से लगने लगा. मैं झुक के उसके चुचिओ को अपने मूह मे ले के चूसने लगा और उसके निपल्स को काटने लगा. उषा ने अपने पैर फैला लिए और मेरे बॅक पे लपेट के अपनी ओर खेचना स्टार्ट कर दिया.

मेरे गीले लंड मे से प्री कम निकल रहा था और लंड का सूपड़ा उसकी चूत के ऊपेर ही था तो उसने अपना हाथ दोनो के बदन के बीचे कर लिया और मेरे लंड को पकड़ के अपनी चूत मे घिसने लगी और फिर अपनी चूत के सुरक्ख मे सटा दिया. मुझे मेरे लंड के सूपदे के ऊपेर उसकी चूत के सुराख की गोलाई महसूस होने लगी तो मैं समझ गया के इसकी चूत भी अछी ख़ासी टाइट ही है. मैने अपने लंड को उसकी चूत मे प्रेस किया तो मेरे लंड का हेल्मेट जैसा मोटा सूपड़ा उसकी टाइट चूत मे घुस के अटक गया. उषा की चूत मेरे लंड के सूपदे को अपने अंदर महसूस कर ते ही उस ने मस्ती मे उछाल भरी और लंड का थोडा और भाग उसकी चूत मे उतर गया तो उसके मूह से उउउउउउउउफ्फ्फ्फ्फ्फ्फ्फ्फ्फ्फ्

फ्फ्फ्फ्फ्फ्फ्फ्फ्फ्फ्फ्फ्फ्फ्फ्फ्फ्फ्फ्फ्फ्फ्फ्फ जैसी आवाज़ निकल गयी और उसके हाथ मेरे बदन पे टाइट हो गये. मैं थोड़ी देर तक तो ऐसे ही लंड को थोड़ा सा हिस्सा ही अंदर बहेर करने लगा. उसकी चूत बोहोत ही गीली हो गयी थी और मेरे लंड के प्री कम से भी उसकी चूत अंदर से चिकनी हो गयी थी. मैं

अब उषा के मूह मे अपनी जीभ डाल दिया जिसे वो मज़े से चूसने लगी. जैसा के मैं पहले ही बता चुका हू के नयी चूत मे मुझे एक ही झटके मे अपना लंड अंदर घुसना पसंद है उसी तरह से मैं भी लंड को अंदर बहेर करता रहा और जब देखा के उषा का बदन रिलॅक्स है तो एक ही मूव्मेंट मे अपने लंड को सूपदे तक उसकी चूत से बहेर खेचा और एक ही सेकेंड के अंदर अपनी पूरी ताक़त और एक ही पवरफुल झटके मे उसकी चूत के अंदर अपने गरम लोहे जैसा सख़्त मूसल लंड को उसकी चूत की गहराइयों मे घुसेड दिया तो वो एक दम से चिल्लाई ऊऊऊऊऊऊऊओिईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईई म्‍म्म्ममममाआआआआआआआ उउउफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफ्फ़ और उसकी आँखें अपने सॉकेट से बहेर आ गयी और उसकी आँखो से आँसू निकल के गालो से होते हुए बेडशीट पे गिरने लगे. वो मुझ से बोहोत ज़ोर से चिमत गयी थी और अपने हाथो और पैरो से मुझे टाइट पकड़ लिया, उसका चेहरा तकलीफ़ से लाल हो गया था और उसके नाइल्स मेरी बॅक मे घुस गये थे. मैं अपने स्टाइल मे उसकी चूत के अंदर लंड को रखे थोड़ी देर उसके ऊपेर बिना धक्के लगाए लेटा रहा. मेरे पैर नीचे फ्लोर पे थे और मुझे ग्रिप अछी मिली हुई थी इसी लिए झटका भी बोहोत ही पवरफुल था और फिर नयी चूत को चोदने का उत्साह भी था. लंड उसकी टाइट चूत को फाड़ता हुआ उसके पेट के अंदर तक घुस चुका था और वो गहरी गहरी साँसे लेती हुई मेरे से चिपेटी पड़ी थी. वो एक शादी शुदा महिला थी पर फिर भी उसकी चूत अभी तक अछी ख़ासी टाइट थी. मेरे लंड को उसकी चूत ने अछी तरह से जाकड़ रखा था और मुझे अपने लंड पे उसकी टाइट चूत की ग्रिप महसूस हो रही थी. मेरा लंड उसकी गीली चूत के अंदर फूल रहा था.

थोड़ी देर तक ऐसे ही मेरे से चिपेटी पड़ी रही. फिर जब उसने अपनी गंद उठा के अपनी चूत को थोडा ऊपेर किया तो मैं समझ गया के अब इसकी चूत मेरे लंड से अड्जस्ट हो गयी है तो मैं ने धीरे धीरे उसको चोदना चालू कर दिया. अब वो भी चुदाई मे मेरा फुल साथ दे रही थी और मज़े से अपनी गंद उठा उठा के चुदवा रही थी और मुझे कंटिन्यू किस कर रही थी और अब उसको फुल मज़ा आने लगा था

अब लंड पूरे का पूरा उषा की टाइट चूत के अंदर घुस चुका था और फिर मैं ने चोदना चालू कर दिया. उसको भी चुदाई का बे इंतेहा मज़ा आने लगा और अब उसने अपनी गंद उठा उठा के अपनी चूत को मेरे लंड पे मारने लगी और उसकी चूत मेरे लंड को पूरी तरह से अपने अंदर वेलकम करने लगी. थोड़ी ही देर मे वो बोलने लगी फक मी राज्ज फक मी डार्लिंग चोद डालो ना राज्ज्जज आअहह ऐसे ही .ऊऊऊ राज्ज्जज्ज्ज्ज्ज बोहोत अछा लग रहा है राज्ज्जज आईसीई शियीयियैयीयीयियी

कक्चहूऊददडूऊव आअहह म्‍म्माइईईईईईईई. उसकी चूत के थोड़े से पंखाड़िया लंड के डंडे के साथ अंदर जाते और लंड के डंडे के साथ ही बहेर आते दोनो मस्ती मे चूर थे. उषा अपनी गंद उठा उठा के चुदवा रही थी और बोल भी रही थी आहह राअज्जजज्ज्ज्ज ययईएससस्स राअज्जजज्ज ईएह ककक्काऐईईससा म्माआज़्ज़्ज़्ज़ाआअ हीयियीयियी राअज्जजज्ज्ज ज़ियीयिन्न्न्ड्ड्डयेयगग्ज्जियीयी म्‍म्माइ आईएसस्साआ म्माआज़्ज़ाअ कककाबब्बभहिि न्न्नाह्ह्हीइ म्‍म्मिल्ल्लाआ. उसके बूब्स हर झटके से डॅन्स करने लगे और मैं ने उनको पकड़ के किसी आम की तरहसे चूसने लगा. धना धन चोद रहा था लंड चूत के अंदर बहेर अंदर बहेर किसी रेलवे एंजिन के शॅफ्ट की तरह से चूत के अंदर बहेर और जैसे ट्रेन की स्पीड तेज़ होती जा रही थी वैसे ही लंड से चूत की चुदाई की स्पीड भी तेज़ हो ती जा रही थी. चूत मे से 3 – 4 टाइम जूस निकल चुका था लैकिन मेरी मलाई निकलने का नाम ही नही ले रही थी.

मैं ने अपना लंड उसकी चूत से बहेर खेच लिया और उसको पलटा दिया और उसको वही बेड पर पेट के बल हाफ डॉगी स्टाइल मे लिटा दिया. उसके पैर अब नीचे फ्लोर पे थे मैं ने उसकी कमर मे हाथ डाल के उसकी गंद को थोड़ा ऊपेर उठाया जिस से उसकी सूजी हुई चूत सामने दिखाई देने लगी. मैं उसके ऊपेर झुक गया और उसकी बगल से हाथ डाल के उसके शोल्डर्स को पकड़ लिया ऐसे पोज़िशन मे लंड उसकी चूत के सामने था. मेरा लंड ऑटोमॅटिकली उसकी चूत के पंखदिओं के बीच आ गया जैसे मेरे लंड के सूपदे मे आँखें है और अपना रास्ता खुद ही तलाश कर रहा था. मेरा लंड का सूपड़ा अपनी चूत पे महसूस करते ही वो अपने आप को बेड पे अड्जस्ट किया और अपने हाथ बेड पे रख के फुल डॉगी स्टाइल मे आ गयी और उसने एक झटका पीछे लगाया तो मेरा गीला लंड उसकी गीली चूत के अंदर घुस गया. अब इधर से मैं उसको धक्के मार मार के चोद रहा था और उधर से वो पीछे झटके मार मार के अपनी चूत को मेरे लंड मे घुसा रही थी. दोस्तो शादी शुदा लड़कियों को चोदने का मज़ा कुछ और ही होता है वो बड़े मज़े से और स्टाइल से चुदवाती है. इसी तरह से उषा भी मस्ती मे मज़े ले ले के चुदवा रही थी और बोल रही थी के आअहह राअज्जजज्ज्ज आऐईएससीईए ह्ह्ह्ह्ह्हीईईईई कचूऊऊओद्द्दद्डूऊ लंड जब क्लाइटॉरिस से रगड़ ख़ाता हुआ चूत के अंदर घुसता है तो मज़ा कुछ और ही आता है आहह राअज्जजज्ज मुझे महसूस हो रहा है के मेरी क्लाइटॉरिस तुम्हारे लंड के साथ अंदर को जा रही है और लंड के साथ रगड़ा खा ते हुए वापस आ रही है. राज्ज्ज कियाअ मसत्टत् चोद्द्तीए हूओ तुउंम्म हहाआईए र्रर्राआआमम्म्म साल्ल्ल्लीई ककूउत्तट्तीईए और अब वो मस्ती मे चुद्वते चुद्वते गालियाँ निकाल रही थी. साल्ल्लीए बब्बीन्नकचछूड्दद हाईई कक्चहूओद्दड़ द्दालल्ल्ल्ल र्रररीई प्फ़ाआद्ड डाअल

म्माअद्डदीएरररर कक्चहूओद्दड़ और मैं उसकी कमर को टाइट पकड़े हुए बोहोत ही ज़ोर ज़ोर से चोद रहा था. लगता था के लंड उसकी चूत के अंदर घुस के उसके मूह से बहेर निकल जाएगा. मेरे हर झटके से वो आगे पीछे को हिल रही थी और वो खुद ही मेरी चुदाई की ताल से ताल मिला रही थी. मैं आगे को झटका मारता तो वो पीछे को झटका मारती जिस के चलते लंड उसकी चूत के बोहोत ही अंदर तक घुस रहा था और हर झटके से मुझे मेरे लंड के सूपदे पे उसकी बचे दानी का मूह महसूस होने लगता. थापा ठप की चुदाई की आवाज़ें आ रही थी. इतनी देर मे आशा बाथरूम से बहेर निकल आई थी और बेड के करीब पड़ी चेर पे बैठ के अपनी बड़ी बहेन को चुदते देख रही थी.

--

साधू सा आलाप कर लेता हूँ ,

मंदिर जाकर जाप भी कर लेता हूँ ..

मानव से देव ना बन जाऊं कहीं,,,,

बस यही सोचकर थोडा सा पाप भी कर लेता हूँ

आपका दोस्त

राज शर्मा

(¨`·.·´¨) ऑल्वेज़

`·.¸(¨`·.·´¨) कीप लविंग &

(¨`·.·´¨)¸.·´ कीप स्माइलिंग !

`·.¸.·´ -- राज

Mast Marwari Malaai ( MMM )--paart--29

Mere chair pe baith te hi Usha mere pairo ke beeche mai ghutno ke bal baith gayee aur mere kadak akde hue Lund ko chooste hue boli ke raja kia mast lund hai yaar tumhara jis se shade karoge us ladki ki kismet jaag jaygi aur suhaag raat mai hi wo jannat pohoch jayegi. Aisi powerful chudai ke bad bhi mera Lund naram nahi hua tha. Usha boli ke mere pati ka to itna kadak kabhi aaj tak nahi hua. Wo sala bhi Lund ko ander dalta hai aur jhad jata hai jhatke marna to door ki baat hai aur tumhare dhakke wah wah mai to tumhari chudai dekh ke hi 2 – 3 time jhad chuki hu. Mai chair pe pair phaila ke baitha the aur Usha mere pairo ke beech mai baithi Lund choos rahi thi. Thodi der mai hi mai ne uska sar pakad lia aur uske muh ko chodne laga.

Meri saanso ko theek hone mai thoda time laga. Usha bhi Lund choosne mai ek dum se expert lag rahi thi. Mast style mai Lund ko choos rahi thi. Kabhi poora halak ke ander tak le jati to kabhi lolly pop ki tarah se Lund ka supada choosti. Kursi pe baithe hi baithe mai phir Usha ki choot mai apne pair ke angoothe se massage karne laga jaise Asha ki choot ke sath kia tha. Mera manna tha ke jab mujhe wo maza de rahi thi to usko bhi maza dena mera kartavya hai. Uski choot se mai khel raha tha aur uski choot bhi geeli ho chuki thi aur apni choot ko aage peeche kar ke jaise mere pair ke angoothe se apni choot ko chudwa rahi thi. Mai apni jagah se utha aur Usha ko bhi neeche se utha lia aur ham dono sofe pe baith gaye. Usha mere Lund se khelti rahi aur boli ke Raja itne din kaha the yaar tum aisa mast Lund to mujhe chahiye tha aur tum ise liye ghoom rahe ho to mai ne bola ke ab yeh tumhara hi hai samjho. Mere Lund ko sabhi ladkiyan pasand karti hai aur aisi kalpana karti hai ke unke husband ka Lund bhi aisa hi shandar ho. Itni der mai Asha ke badan mai jaan wapas aa chuki thi aur wo neeche se uth chuki thi. Asha ladkhadate kadmo se bathroom mai chali gayee aur apni choot ko garam pani se dhoya tab kahi ja ke uski jalti hui choot mai thandak pad gayee aur use araam aa gaya.

Usha to ek dum se garam thi aur wo ek bar phir se jhuk ke mere Lund ko apne muh mai le lia aur choosne lagi. Mai bhi chahta tha ke ek nayee choot ka swad bhi lia jaye isi liye Usha ko sofe se uthaya aur ham dono uske bedroom mai aa gaye. Usha ka bedroom bhi theek thaak tha. Kamre ke beech mai uska double bed pada hua tha jispe ek neat and clean bedsheet bichi hui thi aisa lag raha tha ke bed chudai ke liye ready hai. Mai bed ke kinare pe baith gaya aur Usha automatically mere samne aa ke khadi hogayee to mai ne uski choot ko kiss kia aur uski gand pe hath rakh ke apni or khech lia aur uski choot ko maze se chaatne laga. Uski choot se uske juice ke madhur sugandh aa rahi thi. Usha ne mere sar ko pakad lia aur mere muh mai apni choot ko ragadne lagi. Kabhi mai apni jeebh uski choot ke ander dak le choosta to kabhi muh band kar ke dant baher nikal deta to wo apni clitoris ko mere dato se ragad deti. Mai bhi apne muh mai uski choot bhar ke dato se kaat dala to wo masti mai pagal ho gayee aue ek hi minute ke ander usne mere sar ko pakad ke pakda aur bohot zor se apni choot mai daba lia aur hilte hue jhadne lagi. Ab to mai bhi usko chodne ke liya pagal ho chuka tha. Usha ko bed ke kinare pe lita dia jaise uski tangein neeche jhul rahi thi aur uski peeth bed pe thi. Mai uske khule pairo ke beech aa gaya aur us pe jhuk gaya jis se mera Lund uski geeli garam choot ke pankhadion se lagne laga. Mai jhuk ke uske chuchion ko apne muh mai le ke choosne laga aur uske nipples ko kaatne laga. Usha ne apne pair phaila liye aur mere back pe lapet ke apni or khechna start kar dia.

Mere geele Lund mai se pre cum nikal raha tha aur Lund ka supada uski choot ke ooper hi tha to usne apna hath dono ke badan ke beeche kar lia aur mere Lund ko pakad ke apni choot mai ghisne lagi aur phir apni choot se surakkh mai sata dia. Mujhe mere Lund ke supade ke ooper uski choot ke surakh ki golayee mehsoos hone lagi to mai samajh gaya ke iski choot bhi achi khasi tight hi hai. Mai apne Lund ko uski choot mei press kia to mere Lund ka helmet jaisa mota supada uski tight choot me ghus ke atak gaya. Usha ki choot mere Lund ke supade ko apne ander mehsoos kar te hi us ne masti mai uchal bhari aur Lund ka thoda aur bhaag uski choot mai utar gaya to uske muh se uuuuuuuuffffffffffffffffffffffffffffffffffff jaisi awaz nikal gayee aur uske hath mere badan pe tight ho gaye. Mai thodi der tak to aise hi Lund ko thoda sa hissa hi ander baher kane laga. Uski choot bohot hi geeli ho gayee thi aur mere Lund ke pre cum se bhi uski choot ander se chikni ho gayee thi. Mai

ab Usha ke muh mai apni jeebh dal dia jise wo maze se choosne lagi. Jaisa ke mai pehle hi bata chuka hu ke nayee choot mai mujhe ek hi jhatke mai apna Lund ander ghusana pasand hai usi tarah se mai bhi Lund ko ander baher karta raha aur jab dekha ke Usha ka badan relax hai to ek hi movement mai apne Lund ko supade tak uski choot se baher khecha aur ek hi second ke ander apni poorti takat aur ek hi powerful jhatke mai uski choot ke ander apne garam lohe jaisa sakht musal Lund ko uski choot ki gehraiyon mai ghused dia to wo ek dum se chillayee oooooooooooooooiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiii mmmmmmmaaaaaaaaaaaaaaaa uuufffffffffffffffffffffffffffffffffff aur uski aankhein apne socket se baher aa gayee aur uski aankho se aansoo nikal ke galo se hote hue bedsheet pe girne lage. Wo mujh se bohot zor se chimat gayee thi aur apne hatho aur pairo se mujhe tight pakad lia, uska chehra takleef se laal ho gaya tha aur uske nails meri back mai ghus gaye the. Mai apne style mai uski choot ke ander Lund ko rakhe thodi der uske ooper bina dhakke lagaye leta raha. Mere pair neeche floor pe the aur mujhe grip achi mili hui thi isi liye jhatka bhi bohot hi powerful tha aur phir nayee choot ko chodne ka utsaah bhi tha. Lund uski tight choot ko phaadta hua uske pet ke ander tak ghus chuka tha aur wo gehri genri saanse leti hui mere se chimti padi thi. Wo ek shadi shuda mahila thi par phir bhi uski choot abhi tak achi khasi tight thi. Mere Lund ko uski choot ne achi tarah se jakad rakha tha aur mujhe apne Lund pe uski tight choot ki grip mehsoos ho rahi thi. Mera Lund uski geeli choot ke ander phool raha tha.

Thodi der tak aise hi mere se chimti padi rahi. Phir jab usne pani gand utha ke apni choot ko thoda ooper kia to mai samajh gaya ke ab iski choot mere Lund se adjust ho gayee hai to mai ne dheere dheere usko chodna chalu kar dia. Ab wo bhi chudai mai mera full sath de rahi thi aur maze se apni gand utha utha ke chudwa rahi thi aur mujhe continue kiss kar rahi thi aur ab usko full maza aane laga tha

Ab Lund poore ka poora Usha ki tight choot ke ander ghus chuka tha aur phir mai ne chodna chalu kar dia. usko bhi chudai ka be inteha maza aane laga aur ab usne apni gand utha utha ke apni choot ko mere Lund pe marne lagi aur uski choot mere Lund ko poori tarah se apne ander welcome karne lagi. Thodi hi der mai wo bolne lagi fuck me Rajj fuck me darling chod dalo na rajjjj aaahhhhhhhh aise hi .oooooo Raajjjjjjjj bohot acha lag raha hai Rajjjj aiseeee hiiiiiiiiii

ccchhhoooodddooooo aaahhhhh mmmaaiiiiiiiii. uski choot ke thode se pankhadian Lund ke dande ke sath ander jate aur Lund ke dande ke sath hi baher aate dono masti mai chooor the. Usha apni gand utha utha ke chudwa rahi thi aur bol bhi rahi thi aahhhh Raaajjjjjjj yyyeeessss Raaajjjjj yeeehhh kkkkaaaiissaa mmaaazzzzaaaaa hheeiiii Raaajjjjjj Zziiiinnndddaaaggggiiii mmmaaii aaeeesssaaaa mmaaazzaaa kkkaabbbbhhhhiii nnnaahhhiii mmmilllaaaa. Uske boobs har jhatke se dance karne lage aur mai ne unko pakad ke kisi aam ki tarahse choosne laga. Dhana dhan chod raha tha Lund choot ke ander baher ander baher kisi railway engine ke shaft ki tarah se choot ke ander baher aur jaise train ki speed tez hoti ja rahi thi waise hi Lund se choot ki chudai ki speed bhi tez ho ti ja rahit hi. Choot mai se 3 – 4 time juice nikal chuka tha laikin meri malayee nikalne ka naam hi nahi le rahi thi.

Mai ne apna Lund uski choot se baher khech lia aur usko palta dia aur usko wahi bed par pet ke bal half doggy style mai lita dia. Uske pair ab neeche floor pe the mai ne uski kamar mai hath dal ke uski gand ko thod ooper uthaya jis se uski sooji hui choot samne dikhayee dene lagi. Mai uske ooper jhuk gaya aur uski baghal se hath dal ke uske shoulders ko pakad lia aise position mai Lund uski choot ke samne tha. Mera Lund automatically uski choot ke pankhadion ke beech aa gya jaise mere Lund ke supade mai aankhein hai aur apna rasta khud hi talassh kar raha tha. Mera Lund ka supada apni choot pe mehsoos karte hi wo apne aap ko bed pe adjust kia aur apne hath bed pe rakh ke full doggy style mai aa gayee aur usne ek jhatka peeche lagaya to mera geela Lund uski geeli choot ke ander ghus gaya. Ab idhar se mai usko dhakke maar maar ke chod raha tha aur udhar se wo peeche jhatke maar maar ke apni choot ko mere Lund mai ghusa rahi thi. Dosto shadi shuda ladkiyon ko chodne ka maza kuch aur hi hota hai wo bade maze se aur style se chudwati hai. Isi tarah se Usha bhi masti mai maze le le ke chudwa rahi thi aur bol rahi thi ke aaahhhhhh raaajjjjjj aaaeeesseeeee hhhhhhiiiiiiiiii cchhhhhhhooooooodddddoooo Lund jab clitoris se ragad khata hua choot ke ander ghusta hai to maza kuch aur hi aata hai aahhh raaajjjjj mujhe mehsoos ho raha hai ke meri clitoris tumhare Lund ke sath ander ko ja rahi hai aur Lund ke sath ragda kha te hue wapas aa rahi hai. Rajjj kiaaa masttt choddteee hooo tuummm hhhaaaaeee rrrraaaaaammmm saalllleeee kkuutttteeeee aur ab wo masti mai chudwate chudwate galiyan nikal rahi thi. Saallleee bbbhheenncchhooddd hhhhaaeeee ccchhhoooddd ddaalllll rrrreeee pphaaadd daaal

mmaaadddeeerrrr ccchhhoooddd aur mai uskio kamar ko tight pakde hue bohot hi zor zor se chod raha tha. Lagta tha ke Lund uski choot ke ander ghus ke uske muh se baher nikal jayega. Mere har jhatke se wo aage peeche ko hil rahi thi aur wo khud hi meri chudai ki taal se taal mila rahi thi. Mai aage ko jhatka marta to wo peeche ko jhatka marti jis ke chalte Lund uski choot ke bohot hi ander tak ghus raha tha aur har jhatke se mujhe mere Lund ke supade pe uski bache dani ka muh mehsoos hone lagta. Thapa thap ki chudai ki awazein aa rahi thi. Itni der mai Asha bathroom se baher nikal aye thi aur bed ke kareeb padi chair pe baith ke apni badi behen ko chudwate dekh rahi thi.


rajaarkey
Platinum Member
Posts: 3125
Joined: 10 Oct 2014 04:39

Re: Marwar ki mast malaai-मारवाड़ की मस्त मलाई

Unread post by rajaarkey » 13 Dec 2014 17:06

मारवाड़ की मस्त मलाई पार्ट --30



गतांक से आगे........................

हर थोड़ी देर मे उषा का बदन अकड़ जाता, वो काँपने लगती, और झड़ती चली जाती. पता नही वो अब तक कितने टाइम झाड़ चुकी थी. उसकी चूत बे इंतेहा गीली हो गयी थी और अब मेरा लंड उसकी चूत मे आराम से अंदर बहेर हो रहा था. वो तो झड़ती ही चली जा रही थी पर मेरी मलाई निकलने का नाम ही नही ले रही थी. मुझे ऐसा लग रहा था जैसे आज मेरी मलाई निकलने वाली नही पर लंड का एरेक्षन था के बढ़ता ही जा रहा था और हरर मिनिट उसकी सख्ती भी बढ़ रही थी और अब वो किसी स्टील के रोड की तरह से हो गया था. अब मैं अपने लंड के बेस को अपने हाथ से पकड़ के उषा की चूत मे घुसेड रहा था वो फुल मस्ती मे गंद हिला हिला के और पीछे झटके मार मार के चुद रही थी. मैं पूरा लंड उसकी चूत से बहेर निकाल निकाल के चूत के अंदर घुसेड रहा था. उसकी गंद पे मेरी नज़र पड़ी तो सोचा के यही सही टाइम है उसकी गंद भी मार दी जाए और यह सोचते ही मैं उसकी गंद मे लंड को घुसेड ने के मूड मे आ गया. मेरा लंड तो फुल गीला हो चुका था और उषा की आँखें मस्ती मे बंद थी. मैने करीब बैठी आशा को देखा और शरारत से उषा की गंद की तरफ इशारा कर के आँख मार दिया तो वो मुस्कुरा दी और बस उसी टाइम पे मैं ने अपने लंड को पूरा सूपदे तक बहेर खेच लिया और जैसे ही उषा की गांद पीछे की तरफ पूरी ताक़त से झटका मारा तो मैने अपने लंड का निशाना उसकी गंद की ओर कर दिया और गीला लंड उसकी टाइट गंद के रिलॅक्स्ड मसल्स को फाड़ता हुआ एक ही झटके मे उसकी गंद के पूरा अंदर जद्द तक घुस्स गया वो मचल गयी और गालिया देने लगी म्‍म्म्माअरररर द्द्द्दाआल्ल्ल्ल्लाआ हहाआऐईई र्र्रररीईई एम्म्मीयर्र्र्र्रियियीयियी ग्ग्ग्गाअन्न्न्द्द्द्द प्पफहाआटतत्त गेयीईयेयी र्रररीई साअल्लीए बब्बहाआड़द्द्वववीई त्त्तीर्ररिइ म्‍म्माआ कककुउउ कक्चहूओदददुऊऊउउ. मुझे पता था के वो गंद के अंदर लंड घुसते ही वो उछलने की कोशिश करेगी और अपनी गंद से मेरा लंड निकालने की कोशिश करेगी

इसी के चलते मैं उसको शोल्डर्स से टाइट पकड़ चुका था ता के वो आगे को निकल ना सके और लंड को उसकी गंद के अंदर घुसेड के रखा. उसकी गंद एक दम से टाइट थी लगता था के वर्जिन गंद थी अब तक उसके हज़्बेंड ने उसकी गंद नही मारी थी. उसकी गंद मेरे लंड पे बोहोत टाइट बैठी थी. वो बोली स्साअल्ल्लीईए म्‍म्माअद्द्दडीएरर्र्

रररककककचहूओद्दद्ड न्न्न्नीईइक्क्क्काआअल्ल्ल्ल्ल्ल्ल्ल त्त्त्तीएर्र्रीईई माआ क्क्कीईइ गयन्न्नड्ड्ड माआररररर ससायाललीयये हाअईई रररीई अम्मियीयिरर्र्रियीयियी ग्ग्गयन्न्नड्ड प्प्फ्ह्ह्हाअत्त्त्तीईइ ऊऊईईइ म्‍म्म्माआ पर मैं इन गालिओ को सुनी अन सुनी कर के उसकी गंद मे अब अपने लंड को अंदर बहेर कर के उसकी गंद मार रहा था. थोड़ी देर मे जब उसकी गंद मेरे लंड की मोटाई से अड्जस्ट हो गयी तो अब वो मस्ती मे बोल रही थी आआहह र्र्ररराआज्जजज्ज्ज म्‍म्माअररर ड्ड्ड्डययाऑल अयेप्प्प्नन्नियियीई र्रर्राआंन्न्ँद्दद्डिईइ क्क्कीईइ व्व्वियैर्र्ग्ग्जियीयिन्न्न गयेन्न्न्ड्ड्ड मेरे धक्के कंटिन्यू चल रहे थे और अब वो मस्ती मे अपनी गंद मरवा रही थी तो मैं ने उषा से पूछा के उषा तेरी गंद इतनी टाइट है अभी तक तेरे पति ने तेरी गंद नही मारी क्या तो उषा झटके से बोल पड़ी वो साले भॅडव मदेर्चोद को चूत मारना नही आता तो गंद क्या मारेगा. उसके बूब्स लटके डॅन्स कर रहे थे तो मैं हाथ बढ़ा कर उनको पकड़ के मसल्ने लगा. वाह क्या बताउ दोस्तो उसकी टाइट वर्जिन गंद मारने का कितना मज़ा आ रहा था. आशा अपने बहेन की फटी गंद को देख रही थी जहा से थोड़ा थोड़ा खून भी निकल रहा था और जब मेरा लंड उसकी गंद से बहेर निकलता तो उसकी गंद इंग्लीश के “ओ” की तरह से खुली लग रही थी. दोस्तो किसी भी औरत की या लड़की की अचानक गंद मारने का भी एक अनोखा अनुभव है बोहोत मज़ा आता है बिना बताए बिना तय्यार किए उसकी गंद के पूरा अंदर तक लंड को घुसेड दिया जाए तो मज़े का क्या पूछना. कभी ट्राइ करके देखना दोस्तो कितना मज़ा आता है.

मेरी मलाई तो अभी निकलने वाली नही थी और यह बात उषा को अछी तरह से मालूम थी और इसी लिए उसने आशा को पहले चुदने दिया ता के मैं उसके मूह मे और उसकी चूत को चोद चोद कर अपनी मलाई निकाल दू और उसके बाद उषा को चोदु तो मेरी मलाई उतनी जल्दी नही निकलेगी और वो अपनी चूत को अछी तरह से चुदवा सकेगी. अब मैने पोज़िशन चेंज किया और मैं ने उसको बेड के ऊपेर पीठ के बल सीधा लिटा दिया तो उसकी टाँगें ऊपेर उठ गयी और मैं और फॉरन ही उसके टांगो के बीच आ गया और उसके ऊपेर झुक गया और लंड को उसकी गीली चूत मे पेल दिया तो उसने अपनी टाँगें खोल के मेरे लंड का स्वागत किया और मेरे गर्दन को पकड़ के अपने ऊपेर झुका लिया और किस करने लगी. अब पोज़िशन ऐसी थी के हमारे पैर बेड के हेड बोर्ड की तरफ थे. मैं ने अपने पैर पीछे को बेड की वुडन प्लांक के साथ लगा दिए और एक बार फिर से पूरी ताक़त से चोदने लगा. पैरो को

वुडन प्लांक की ग्रिप मिल रही थी और मैं ने उषा को टाइट पकड़ा हुआ था और इसी के चलते फुल पवर से चोद रहा था और उसकी चूत मे मेरा लंड पूरी ताक़त से घुस रहा था और उसकी बचे दानी के मूह मे लंड का सूपड़ा घुस रहा था. बड़ी बे दरदी से चोद रहा था और वो भी आहे भर भर के मस्ती मे चुदवा रही थी. मेरे एक एक झटके से उसका पूरा बदन हिल जाता था और चुचियाँ डॅन्स करने लगती थी. मैने उसके डॅन्स करती चुचिओ को पकड़ के अपने मूह मे भर लिया और चूसने लगा. बेड मेरे झटको की वजह से ऐसे हिल रहा था जैसे एअर्थ क्वेक आ गया हो और इतनी ज़ोर से हिल रहा था ऐसा लगता था जैसे अब टूट जाएगा. अब इतनी बेदर्दी से उसकी चूत को चोद्ते चोद्ते मेरी मलाई भी मेरे बॉल्स मे उबल ने लगी थी और मेरी स्पीड और तेज़ हो गयी और फिर मैने उषा को एक बार फिर बोहोत टाइट पकड़ लिया और लंड को पूरा हेड तक उसकी गीली चूत से बहेर खेच लिया और इतनी ताक़त से झटका मारा के वो एक बार फिर चिल्ला पड़ी हहाआईए म्‍म्माआरररर ड्ड्ड्डययाऑल्ल्लआयाआया ससॉयाललेयेयी द्द्धहीएररररीई न्न्न्नाअह्ह्हीइ कक्चहूओद्द सस्साआक्कककत्त्त्ताअ सीक्कियीयया और मैने उसकी चूत मे पूरा अंदर तक अपने लंड को घुसेड दिया जो शाएद उसकी बचे दानी के मूह के अंदर तक घुस्स गया और फिर मेरे लंड से क्रीम की गाढ़ी गाढ़ी गरम गरम मोटी मोटी धारिया ऐसे निकलने लगी जैसे पिस्टल से बुलेट और डाइरेक्ट बचे दानी को हिट किया और बचे दानी के खुले मूह मे गिरने लगी और उसकी बचे दानी मेरी मलाई से भर गयी. मेरी मलाई को अपनी बचे दानी मे महसूस कर ते ही उषा की चूत का बाँध एक बार और टूट गया और उसकी चूत से जूस बहने लगा. उषा को ऐसे लगा जैसे उसके सर मे लाखो पटकखे फूट रहे हो और बिजलियाँ चमक रही हो सर मे जैसे कोई बॉम्ब शेल गिरके फूट गया हो और जैसे उसको दिन मे तारे दिखाई देने लगे. मैं उसके ऊपेर गहरी गहरी साँसें लेता हुआ ढेर हो गया. उषा भी बोहोत ही गहरी गहरी साँसें ले रही थी. हम दोनो के बदन पसीने मे भरे हुए थे. मेरी आँखें भी बहेर निकल आई थी मैं इधर उधर ऐसे देख रहा था जैसा के मेरी समझ मे नही आ रहा था के क्या हो रहा है. और आशा अपनी कुर्सी से उठी और अपनी बहेन के सर मे हाथ फेरने लगी. मैं तो उषा के बदन पे ही ढेर हो गया था फिर मुझे पता नही के हम दोनो इसी तरह से कितनी देर पड़े रहे. फिर मैं कब उसके बदन के ऊपेर से उसके साइड मे लुढ़क के सो गया पता ही नही चला.

आँख खुली तो मैं और उषा नंगे बेड पे पड़े थे. उषा अभी सोई पड़ी थी और आशा वाहा नही थी. मैं उठ के कमरे से बहेर आया तो देखा के आशा खाना बना रही थी और इस समय रात के 11 बज चुके थे. मैं आशा के करीब आ गया और नमस्ते

बोला तो वो मुस्कुरा दी और नमस्ते बोली और बोली के तुम ने देखा राजा तो मैं ने पूछा क्या देखा तो उसने बोला के बेडशीट को नही देखा तो मैं ने बोला के नही क्यों क्या हुआ बेडशीट को तो उसने बोला के जाओ और खुद देख लो तो मैं कमरे मे वापस आया और कमरे की लाइट खोल दिया और लाइट के खुलते ही उषा की आँख भी खुल गयी और वो मेरी तरफ मुस्कुरा के देखने लगी तो मैं उसके करीब आ गया तो उषा ने मेरे गर्दन मे अपनी बाहें डाल के मुझे झुका लिया और किस किया और बोला के राजा क्या मस्त लंड है यार तुम्हारा और आज तो ऐसा मज़ा आया के मैं क्या बताउ ज़िंदगी मे ऐसा मज़ा कभी भी नही आया था तो मैं मुस्कुरा दिया. उषा बोली के राजा मेरी एक बात मनोगे तो मैं ने बोला के हा बोलो ना तो उसने बोला के राजा प्लीज़ मुझे कम से कम हफ्ते मे एक या दो टाइम चोदना. जब भी मेरा पति बहेर जाएगा मैं तुमको फोन कर्दुगि और तुम मेरे घर आ के मुझे चोद जाना तो मैं ने बोला के कोई बात नही तो उसने फिर बोला के एक बात और मनोगे क्या प्लीज़ तो मैं ने बोला के ठीक है बोलो और क्या चाहिए तुम्है तो उसने बोला के राजा मुझे तुम्हारा एक बच्चा चाहिए तो मैं मुस्कुरा दिया और बोला के तुम्हारे पति को शक होगया तो क्या होगा तो उसने बोला के तुम उसकी फिकर ना करो बॅस मेरी कोख मे अपना बच्चा डाल दो तो मैं ने बोला के ठीक है चलो वो भी मान लिया तो वो मुस्कुरा दी और मुझे एक बड़ा ज़बरदस्त चुम्मन दिया और अपने जगह से उठ गयी तो मैं ने देखा के उसकी चूत के पंखाड़िया सूज के मोटे और लाल हो गये थे बेडशीट पे उसकी चूत से निकला खून का पूल बना हुआ था और खून सूख के उसकी गंद और चूत पे लगा हुआ था तो वो बोली के हा मुझे आशा ने बताया था के कैसे तुम ने वो शादी शुदा औरत की चूत से खून निकाल दिया था होटेल मे तो मैं ने यकीन नही किया था पर अब मुझे यकीन हो गया के इस प्यारे और शानदार लंड मे इतनी ताक़त है के किसी भी चूत या गंद से काफ़ी हद तक खून निकाल दे.

मैं और उषा नंगे ही बाथरूम मे चले गये. उसके नंगे बदन को देख कर मेरा लंड फिर से खड़ा हो चुका था. हम दोनो शोवर्र के नीचे आ गये. उषा नीचे बैठ गयी और मेरे लंड को अपने मूह मे ले के चूसने लगी और इतनी ज़ोर ज़ोर से चूसने लगी के थोड़ी ही देर मैं मेरी मलाई निकलने लगी जिसे उसने बड़े मज़े ले ले के चूस लिया और एक ज़बरदस्त डकार मारी और बोली के मेरा नाश्ता तो हो गया तो फिर हम दोनो हस्ने लगे.

शवर ले के दोनो बहेर आए. मैं ने आशा से बोला के तुम्हारी गंद उधार रही फिर कभी मारूँगा तो उसने बोला के घर आए मेहमान को हम ऐसे अनसेटाइसफाइ किए वापस नही जाने देते. आ जाओ मेरे राजा मैं तय्यार हू अपनी वर्जिन गंद को तुम्हारे मूसल पे क़ुरबान करने के लिए तो उषा ने बोला के हा राजा चलो

मेरी गंद मारते तो उसने देखा अब मुझे भी देखना है के आशा की गंद कैसे फॅट ती है तो मैं ने बोला के ठीक है आ जाओ. उसको ले के मैं बेडरूम मे आ गया और बोला के कोनसि स्टाइल मे गंद मरवाना पसंद करोगी. . बेड पे डॉगी स्टाइल मे या यही नीचे जैसे उषा की गंद मारी थी तो वो कुछ देर सोच मे पड़ गयी और बोली के लैकिन एक शर्त है राजा तो मैं ने बोला के वो क्या तो उसने बोला के जैसे उषा की गंद फाडी थी उसी तरह से फाड़ना. मैं ने देखा जब उषा की गंद मे तुम्हारा मूसल घुसा था तो मेरे बदन मे करेंट दौड़ गया था तो मैं ने बोला के ठीक है और फिर उसको भी उसी स्टाइल मे फ्लोर पे डॉगी स्टाइल मे खड़ा किया और उसकी चूत मे लंड डाल दिया और चोदने लगा और उसकी गंद मे अपना थोड़ा थोड़ा थूक डालने लगा. एक बार फिर से वो मस्ती मे चुदवाने लगी और एग्ज़ॅक्ट्ली वैसे ही पोज़िशन मे अपने लंड के बेस को पकड़ लिया जो उसको नही मालूम हुआ और अपने लंड को पकड़ के उसकी चूत मे घुसेड रहा था और फिर लंड बोहोत ही गीला हो रहा था. इस बीच मैं ने उषा को बुलाया और जहा पहले आशा बैठी थी वाहा उसको बैठ ने को बोला तो वो वाहा बैठ गयी और चुदाई देखने लगी. और फिर एग्ज़ॅक्ट्ली वैसे ही आशा भी उषा की तरह से अपनी गंद को आगे पीछे कर के धक्के लगवा रही थी और फिर सच दोस्तो पूरी पोज़िशन और सिचुयेशन वैसे ही बनती चली गयी और मैं ने अपना लंड पूरा बहेर निकाल लिया और उसी दंम चूत के बजाए उसकी गंद के अंदर घुसेड दिया. वो भी वैसे ही चिल्ल्लायईी पर उसने गालियाँ नही निकाली. वो रो रही थी तकलीफ़ से उसका चेहरा लाल हो गया था. मैं उसकी गंद मार रहा था ज़ोर ज़ोर से लंड को पूरा जड़ तक घुसा के गंद मार रहा था वो तकलीफ़ से बेड पे गिर गयी उसके पैर अभी भी फ्लोर पे ही थे और वो पेट के बल बेड पे गिर पड़ी. मैं भी उसके ऊपेर झुक गया अब मैं भी दीवाना हो गया था और उसकी गंद को बड़ी बे दरदी से मार रहा था. जैसे उसके मूह से आवाज़े निकल रही थी लगता था के वो बोहोत तकलीफ़ मे है और उसकी गंद मे दरद हो रहा है. मैं बोहोत ज़ोर ज़ोर से गंद मार रहा था मेरे बॉल्स उसकी चूत के पंखदिओं से टकरा रहे थे जिस से उसकी चूत मे से जूस निकलने लगा और फिर एक इतनी ज़ोर का झटका मारा के वो बिलबिलने लगी और चीलाई आआहह म्‍म्माआआआररर्र्ररर गग्ग्गाआऐईई र्र्र्र्र्रररीईईईईई उउउउउउउउउउउउउउफ्फ्फ्फ्फ्फ्फ्फ्फ्फ्फ्फ और मैने उसको बोहोत ही टाइट पकड़ के लंड को उसकी गंद के बोहोत अंदर तक घुसेड दिया और उसकी गंद के अंदर ही अपने क्रीम निकालने लगा. मेरे लंड से फव्वारा निकल रहा था पर मेरे झटके कम नही हुए थे और हर झटके से मलाई निकल रही थी. और फिर लंड को उसकी गंद के अंदर ही रखे रखे मैं भी उसकी पीठ के ऊपेर ढेर हो गया.

आशा को बोला के मेरी आशा रानी तुम्हारी गंद और चूत बोहोत ही टाइट है मुझे बोहोत मज़ा आया तुम्है चोद के और गंद मार के तो उसने बोल के राजा यह चूत और गंद तुम्हारी ही है. मैं अभी और एक मोन्थ के लिए यही हू और हमारे घर मे तुम्हारा हर वक़्त स्वागत है तुम कभी भी आओ मैं और दीदी दोनो तुम्हारे शानदार लंड से चुदवाने को हमेशा तय्यार मिलेगे तो मैं हंस दिया और बोला के हा तुम दोनो को चोदने के लिए आया करूगा.

रात का खाना रेडी हो गया था तो हम तीनो ने खाना खाया और फिर मैं अपनी बाइक निकल के जाने लगा तो देखा आशा और उषा की आँखो मे आँसू थे तो मैं ने बोला के अरे पागल हो गये हो क्या तुम लोग, रो क्यों रहे हो तो बोले के नही राजा यह तो खुशी के आँसू है हम दोनो तुम से प्यार करने लगे है और अब यह घर तुम्हारा है और हम दोनो के ऊपेर तुम्हारा हक़्क़ सब से पहले है तो मैं ने अपने हाथो से दोनो के आंससू पूछे और बोला के तुम लोग रो नही मैं वादा करता हू के मैं तुम्हारे घर को रेग्युलर आउन्गा और तुम दोनो को सॅटिस्फाइ करुँगा. आशा और उषा दोनो मुस्कुरा दिए और मैं अपनी बाइक पे बैठ के वाहा से बाइक को अपने घर की तरफ मोड़ के चला गया.

रास्ते मैं ही था के पूजा आंटी का फोन आया बोली के मुबारक हो राजा तुम एक और लड़के के बाप बनने वाले हो. डॉक्टर कविट ने कन्फर्म कर दिया है के पायल प्रेग्नेंट है तो मैं बोहोत खुश हो गया और बोला के आंटी मैं आपके और आपके परिवार के लिए कुछ भी कर सकता हू तो आंटी दूसरी तरफ रोने लगी और बोली के थॅंक्स मेरे राजा तुमने हमारे परिवार पर बोहोत बड़ा उपकर किया है जिसे मैं ज़िंदगी भर उतार नही पाउन्गी तो मैं ने बोला के अरे मेरी आंटी जान ऐसे क्यों बोल रही हो आप. आपने अपनी चूत और गंद मुझे दे दी इस से बढ़ के और क्या लू आपसे तो आंटी बोहोत ही धीरे से बोली के वो तो अभी भी तुम्हारी ही है तुम जब चाहो तुम्है मिल जाएगी तो मैं फोन पे किस करने लगा तो आंटी भी किस करने लगी और मुझे लगा जैसे आंटी मेरे से बात कर ते कर ते रो पड़ी हो.

पहले पिंकी को बेटा हुआ और उसके 4 महीने के बाद पायल ने भी एक बोहोत ही क्यूट से बेटे को जनम दिया. अब मेरे दो बेटे दो मारवाड़ी परिवार मे पल रहे थे. दोनो परिवार बोहोत ही खुश थे. उधर लाला भी बोहोत एग्ज़ाइटेड था और इधर शांति भी ख़ुसी से उछलने लगा था और मेरा शुक्रिया अदा करते नही थकता था.

दोस्तो इसी तरह से मेरी ज़िंदगी गुज़रने लगी मुझे लग रहा था जैसे मैं एक प्लेबाय टाइप का जिगलो बन गया हू और मेरी

ज़िंदगी मे 5 शादी शुदा औरतें पूजा आंटी, सुनीता आंटी, पिंकी, पायल और उषा थी जिन्है मैं अभी भी चोद्ता हू और 2 कुँवारी लड़कियों की चूत मेरे लिए हमेशा ही रेडी रहती. लक्ष्मी और आशा की चूते मैं जब भी मौका मिलता देता चोद देता हू.

--

साधू सा आलाप कर लेता हूँ ,

मंदिर जाकर जाप भी कर लेता हूँ ..

मानव से देव ना बन जाऊं कहीं,,,,

बस यही सोचकर थोडा सा पाप भी कर लेता हूँ

आपका दोस्त

राज शर्मा

(¨`·.·´¨) ऑल्वेज़

`·.¸(¨`·.·´¨) कीप लविंग &

(¨`·.·´¨)¸.·´ कीप स्माइलिंग !

`·.¸.·´ -- राज

Mast Marwari Malaai ( MMM )--paart--30

Har thodi der mai Usha ka badan akad jata, wo kaampne lagti, aur jhadti chali jati. Pata nahi wo ab tak kitne time jhad chuki thi. Uski choot be inteha geeli ho gayee thi aur ab mera Lund uski choot mai araam se ander baher ho raha tha. Wo to jhadti hi chali ja rahi thi par meri malayee nikalne ka naam hi nahi le rahi thi. Mujhe aisa lag raha tha jaise aaj meri malayee nikalne wali nahi par Lund ka erection tha ke badhta hi ja raha tha aur harr minute uski sakhti bhi badh rahi thi aur ab wo kisi steel ke rod ki tarah se ho gaya tha. Ab mai apne Lund ke base ko apne hath se pakad ke Usha ki choot mai ghused raha tha wo full masti mai gand hila hila ke aur peeche jhatke maar maar ke chudwa rahi thi. Mai poora Lund uski choot se baher nikal nikal ke choot ke ander ghused raha tha. Uski gand pe meri nazar padi to socha ke yehi sahi time hai uski gand bhi mar di jaye aur yeh sochte hi mai uski gand mai Lund ko ghused ne ke mood mai aa gaya. Mera Lund to full geela ho chuka tha aur Usha ki aankhein masti mai band thi. Mai kareeb baithi Asha ko dekha aur shararat se Usha ki gand ki taraf ishara kar ke aankh mar dia to wo muskura di aur bass usi time pe mai ne apne Lund ko poora supade tak baher khech lia aur jaise hi Usha ki gaand peeche ki taraf poori takat se jhatka mari to mai apne Lund ka nishana uski gand ki or kar dia aur geela Lund uski tight gand ke relaxed muscles ko phadta hua ek hi jhatke mai uski gand ke poora ander jadd tak ghuss gaya wo machal gayee aur galiya dene lagi mmmmaaarrrr ddddaaaalllllaaaa hhhhhaaaaaeeee rrrrreeeeee mmmmeerrrrriiiii ggggaaannndddd ppphhhhhaaaatttt gggaaayyeeee rrrreeee saaalleee bbbhhhhaaadddwwweeee ttteerrriiii mmmaaaa kkkuuu ccchhhoooddduuuuu. Mujhe pata tha ke wo gand ke ander Lund ghuste hi wo uchalne ki koshish karegi aur apni gand se mera Lund nikalne ki koshishs karegi

isi ke chalte mai usko shoulders se tight pakad chuka tha taa ke wo aage ko nikal na sake aur Lund ko uski gand ke ander ghused ke rakha. Uski gand ek dum se tight thi lagta tha ke virgin gand thi ab tak uske husband ne uski gand nahi mari thi. Uski gand mere Lund pe bohot tight baithi thi. Wo boli ssaaallleeeee mmmaaaddddeeerrrrrrccccchhhhooodddd nnnniiiiikkkkaaaaallllllll tttteeerrriiiiii maaaa kkkiiii gggaaannnnddddd maaaarrrrr sssaaalleeee haaaeeee rrreeee mmeeerrrriiii ggggaaannnndddd ppphhhhaaattttiiiii ooooiiiii mmmmaaa par mai in galion ko suni an suni kar ke uski gand mai ab apne Lund ko ander baher kar ke uski gand mar raha tha. Thodi der mai jab uski gand mere Lund ki motayee se adjust ho gayee to ab wo masti mai bol rahi thi aaaahhhhhh rrrrraaaajjjjjj mmmaaarrr ddddaaaalllll aaaappppnnniiii rrrraaaannnnddddiiii kkkiiii vvviiiirrrgggiiiinnn gggaaaannnddd mere dhakke continue chal rahe the aur ab wo masti mai apni gand marwa rahi thi to mai ne Usha se poocha ke Usha teri gand itni tight hai abhi tak tere pati ne teri gand nahi mari kia to Usha jhatke se bol padi wo sale bhadwe maderchod ko choot marna nahi aata to gand kia marega. Uske boobs latke dance kar rahe the to mai hath badha kar unko pakad ke masalne laga. Wah kia batau dosto uski tight virgin gand marne ka kitna maza aa raha tha. Asha apne behen ki phati gand ko dekh rahi thi jaha se thoda thoda khoon bhi nikla raha tha aur jab mera Lund uski gand se baher nikalta to uski gand English ke “O” ki tarah se khuli lag rahi thi. Dosto kisi bhi aurat ki ya ladki ki achanak gand marne ka bhi ek anokha anubhav hai bohot maza aata hai bina bataye bina tayyar kiye uski gand ke poora ander tak Lund ko ghused dia jaye to maze ka kia poochna. Kabhi try karke dekhna dosto kitna maza aata hai.

Meri malayee to abhi nikalne wali nahi thi aur yeh bat Usha ko achi tarah se malum thi aur isi liye usne Asha ko pehle chudne dia taa ke mai uske muh mai aur uski choot ko chod chod kar apni malayee nikal du aur uske bad Usha ko chodu to meri malayee utni jaldi nahi niklegi aur wo apni choot ko achi tarah se chudwa sakegi. Ab mai position change kia aur mai ne usko bed ke ooper peeth ke bal seedha lita dia to uski tangein ooper uth gayee aur mai aur foran hi uske tango ke beech aa gya aur uske ooper jhuk gaya aur Lund ko uski geeli choot mai pel dia to usne apni tangein khol ke mere Lund ka swagat kia aur mere gardan ko pakad ke apne ooper jhuka lia aur kiss karne lagi. Ab position aisi thi ke hamare pair bed ke head board ki taraf the. Mai ne apne pair peeche ko bed ki wooden plank ke sath laga diye aur ek bar phir se poori takat se chodne laga. Pairo ko

wooden plank ki grip mil rahi thi aur mai ne Usha ko tight pakda hua tha aur isi ke chalte full power se chod raha tha aur uski choot mai mera Lund poori takat se ghus raha tha aur uski bache dani ke muh mai Lund ka supada ghus raha tha. Badi be dardi se chod raha tha aur wo bhi aahain bhar bhar ke masti mai chudwa rahi thi. Mere ek ek jhatke se uska poora badan hil jata tha aur chuchian dance karne lagte the. Mai uske dance karte chuchion ko pakad ke apne muh mai bhar lia aur choosne laga. Bed mere jhatko ki wajah se aise hil raha tha jaise earth quake aa gaya ho aur itni zor se hil raha tha aisa lagta tha jaise ab toot jayega. Ab itni bedardi se uski choot ko chodte chodte meri malayee bhi mere balls mai ubal ne lagi thi aur meri speed aur tez ho gayee aur phir mai Usha ko ek bar phir bohot tight pakad lia aur Lund ko poora head tak uski geeli choot se baher khech lia aur itni taakat se jhatka mara ke wo ek bar phir chilla padi hhhhaaaaeee mmmaaaarrrr ddddaaaalllllaaaaa ssssaaallllleeeee dddhhhheeerrrreeee nnnnaaahhhiii ccchhhooodd sssaaaakkkkttttaaa kkkiiiaaa aur mai uski choot me poora ander tak apne Lund ko ghused dia jo shaed uski bache dani ke muh ke ander tak ghuss gaya aur phir mere Lund se cream ki gaadhi gaadhi garam garam moti moti dhariya aise nikalne lagi jaise pistol se bullet aur direct bache dani ko hit kia aur bache dani ke khule muh mai girne lagi aur uski bache dani meri malayee se bhar gayee. Meri malayee ko apni bache dani mei mehsoos kar te hi Usha ki choot ka baandh ek bar aur toot gaya aur uski choot se juice behne laga. Usha ko aise laga jaise uske sar mai laakho patkakhe phoot rahe ho aur bijliyan chamak rahi ho sar mai jaise koi bomb shell girke phoot gaya ho aur jaise usko din mai taare dikhayee dene lage. Mai uske ooper gehri gehri saansein leta hua dher ho gaya. Usha bhi bohot hi gehri gehri saansein le rahi thi. Ham dono ke badan paseene mai bhare hue the. Meri aankhein bhi baher nikal ayi thi mai idhar udhar aise dekh raha tha jaisa ke meri samajh mai nahi aa raha tha ke kia ho raha hai. Aur Asha apni kursi se uthi aur apne behen ke sar mai hath pherne lagi. Mai to Usha ke badan pe hi dher ho gaya tha phir mujhe pata nahi ke ham dono isi tarah se kitni der pade rahe. Phir mai kab uske badan ke ooper se uske side mai ludhak ke so gaya pata hi nahi chala.

Aankh khuli to mai aur Usha nange bed pe pade the. Usha abhi soyi padi thi aur Asha waha nahi thi. Mai uth ke kamre se baher aaya to dekha ke Asha khana bana rahi thi aur iss samay raat ke 11 baj chuke the. Mai Asha ke kareeb aa gaya aur namaste

bola to wo muskura di aur namaste boli aur boli ke tum ne dekha raja to mai ne poocha kia dekha to usne bola ke bedsheet ko nahi dekha to mai ne bola ke nahi kyon kia hua bedsheet ko to usne bola ke jao aur khud dekh lo to mai kamre mai wapas aaya aur kamre ki light khol dia aur light ke khulte hi Usha ki aankh bhi khul gayee aur wo meri taraf muskura ke dekhne lagi to mai uske kareeb aa gaya to Usha ne mere gardan mai apni bahein dal ke mujhe jhuka lia aur kiss kia aur bola ke raja kia mast Lund hai yaar tumhara aur aaj to aisa maza aaya ke mai kia batau zindagi mai aisa maza kabhi bhi nahi aaya tha to mai muskura dia. Usha boli ke raja meri ek baat manoge to mai ne bola ke haa bolo na to usne bola ke raja please mujhe kam se kam hafte mai ek ya do time chodna. Jab bhi mera pati baher jayega mai tumko phone kardugi aur tum mere ghar aa ke mujhe chod jana to mai ne bola ke koi bat nahi to usne phir bola ke ek baat aur manoge kia please to mai ne bola ke theek hai bolo aur kia chahiye tumhai to usne bola ke raja mujhe tumhara ek bacha chahiye to mai muskura dia aur bola ke tumhare pati ko shak hogaya to kia hoga to usne bola ke tum uski fikar na karo bass meri kokh mai apna bacha dal do to mai ne bola ke theek hai chalo wo bhi man lia to wo muskura di aur mujhe ek bada zabardast chumman dia aur apne jagah se uth gayee to mai ne dekha ke uski choot ke pankhadiya sooj ke mote aur laal ho gaye the bedsheet pe uski choot se nikla khoon ka pool bna hua tha aur khoon sookh ke uski gand aur choot pe laga hua tha to wo boli ke haa mujhe Asha ne bataya tha ke kaise tum ne wo shadi shuda aurat ki choot se khoon nikal dia tha hotel mai to mai ne yakeen nahi kia tha par ab mujhe yakeen ho gaya ke iss pyare aur shandar Lund mai itni takat hai ke kisi bhi choot ya gand kop had ke khoon nikal de.

Mai aur Usha nange hi bathroom mai chale gaye. Uske nange badan ko dekh kar mera Lund phir se khada ho chuka tha. Ham dono shoer ke neeceh aa gaye. Usha neeceh baith gayee aur mere Lund ko apne muh mai le ke choosne lagi aur itni zor zor se choosne lagi ke thodi hi der mai meri malayee nikalne lagi jise usne bade maze le le ke choos lia aur ek zabardast Dakar mari aur boli ke mera nashta to ho gaya to phir ham dono hasne lage.

Shower le ke dono baher aye. Mai ne Asha se bola ke tumhari gand udhar rahi phir kabhi marunga to usne bola ke ghar aye mehmaan ko ham aise unsatisfy kiye ke wapas nahi jane dete. Aa jao mere raja mai tayyar hu apni virgin gand ko tumhare Musal pe qurban karne ke liye to Usha ne bola ke haa raja chalo

meri gand marte to usne dekha ab mujhe bhi dekhna hai ke Asha ki gand kaise phat ti hai to mai ne bola ke theek hai aa jao. Usko le ke mai bedroom mai aa gaya aur bola ke kia style mai gand marwana pasand karogi. . Bed pe doggy style mai ya yahi neeche jaise Usha ki gand mari thi to wo kuch der soch mai pad gayee aur boli ke laikin ek shart hai raja to mai ne bola ke wo kia to usne bola ke jaise Usha ki gand phadi thi usi tarah se phadna. Mai ne dekha jab Usha ki gand mai tumhara musal ghusa tha to mere badan mai current doud gaya tha to mai ne bola ke theek hai aur phir usko bhi usi style mai floor pe doggy style mai khada kia aur uski choot mai Lund dal dia aur chodne laga aur uski gand mai apna thoda thoda thook dalne laga. Ek bar phir se wo masti mai chudwane lagi aur exactly waise hi position mai apne Lund ke base ko pakad lia jo usko nahi malum hua aur apne Lund ko pakad ke uski choot mai ghused raha tha aur phir Lund bohot hi geela ho raha tha. Iss beeche mai ne Usha ko bulaya aur jaha pehle Asha baithi thi waha usko baith ne ko bola to wo waha baith gayee aur chudai dekhne lagi. Aur phir exactly waise hi Asha bhi Usha ki tarah se apni gand ko aage peeche kar ke dhakke lagwa rahi thi aur phir sach dosto poori position aur situation waise hi banti chali gayee aur mai ne apna Lund poora baher nikal lia aur usi damm choot ke bajaye uski gand ke ander ghused dia. Wo bhi waise hi chilllayyee par usne galiyan nahi nikali. Wo ro rahi thi takleef se uska chehra laal ho gaya tha. Mai uski gand mar raha tha zor zor se Lund ko poora jad tak ghusa ke gand mar raha tha wo takleef se bed pe gir gayee uske pair abhi bhi floor pe hi the aur wo pet ke bal bed pe gir padi. Mai bhi uske ooper jhuk gaya ab mai bhi deewana ho gaya tha aur uski gand ko badi be dardi se mar raha tha. Jaise uske muh se awazin nikal rahi thi lagta tha ke wo bohot takleef mai hai aur uski gand mai darad ho raha hai. Mai bohot zor zro se gand mar raha tha mere balls uski choot ke pankhadion se takra rahe the jis se uski choot mai se juice nikalne laga aur phir ek itni zor ka jhatka uski mara ke wo bilbilane lagi aur chilayee aaaahhhhhhhhh mmmaaaaaaaarrrrrrr ggggaaaaaeeee rrrrrrrreeeeeeeeeeeee uuuuuuuuuuuuuuffffffffffff aur mai usko bohot hi tught pakad ke Lund ko uski gand ke bohot ander tak ghused dia aur uski gand ke ander hi apne cream nikalne laga. Mere Lund se fawwara nikal raha tha par mere jhatke kam nahi hue the aur har jhatke se malayee nikal rahi thi. Aur phir Lund ko uski gand ke ander hi rakhe rakhe mai bhi uski peeth ke ooper dher ho gaya.

Asha ko bol ke meri Asha rani tumhari gand aur choot bohot hi tight hai mujhe bohot maza aaya tumhai chod ke aur gand mar ke to usne bol ke raja yeh choot aur gand tumhari hi hai. Mai abhi aur ek month ke liye yahi hu aur hamare ghar mai tumhara har waqt swagat hai tum kabhi bhi ao mai aur didi dono tumhare shandar Lund se chudwane ko hamesha tayyar milege to mai hans dia aur bola ke haa tum dono ko chodne ke liye aaya karuga.

Raat ka khana ready ho gaya tha to ham teeno ne khana khaya aur phir mai apni bike nikal ke jane laga to dekha Asha aur Usha ki aankho mai aansoo the to mai ne bola ke arey pagal ho gaye ho kia tum log, ro kyon rahe ho to bole ke nahi raja yeh to khushi ke aansoo hai ham dono tum se pyar karne lage hai aur ab yeh ghar tumhar hai aur ham dono ke ooper tumhara haqq sab se pehle hai to mai ne apne hatho se dono ke aanssoo pooche aur bola ke tum log rou nahi mai wada karta hu ke mai tumhare ghar ko regular aunga aur tum dono ko satisfy karung. Asha aur Usha dono muskur diye aur mai apne bike pe baith ke waha se bike ko apne ghar ki taraf mod ke chala gaya.

Raste mai hi tha ke Pooja aunty ka phone aaya boli ke mubarak ho raja tum ek aur ladke ke baap banne wale ho. Doctor Kavit ne confirm kar dia hai ke Payal pregnant hai to mai bohot khush ho gaya aur bola ke aunty mai aapke aur aapke parivar ke liye kuch bhi kar sakta hu to aunty doosri taraf rone lagi aur boli ke thanks mere raja tumne hamare parivar par bohot bad upkar kia hai jise mai zindagi bahi utar nahi paugi to mai ne bola ke are meri aunty jaan aise kyon bol rahi ho aap. Aapne apne choot aur gand mujhe de di iss se badh ke aur kia lu aapse to aunty bohot hi dheere se boli ke wo to abhi bhi tumhari hi hai tum jab chaho tumhai mil jayegi to mai phone pe kiss karne laga to aunty bhi kiss karne lagi aur mujhe laga jaise aunty mere se baat kar te kar te ro padi ho.

Pehle Pinky ko beta hua aur uske 4 mahine ke bad Payal ne bhi ek bohot hi cute se bete ko janam dia. Ab mere do bete do marwari parivar mai pal rahe the. Dono parivar bohot hi khush the. Udhar Lala bhi bohot excited tha aur idhar Shanti bhi khusi se uchalne laga tha aur mers shukriya ada karte nahi thakta tha.

Dosto isi tarah se meri zindagi guzarne lagi mujhe lag raha tha jaise mai ek playboy type ke gigolo ban gaya hu aur meri

zindagi mai 5 shadi shuda aurtein Pooja Aunty, Sunita Aunty, Pinky, Payal aur Usha thi jinhai mei abhi bhi chodta hu aur 2 kunwari ladkiyon ki choot mere liye hamesha hi ready rehti. Laxmi aur Asha ki chootein mai jab bhi mouka milta chod deta hu.
samaapt