Chanchal choot चंचल चूत compleet

Discover endless Hindi sex story and novels. Browse hindi sex stories, adult stories ,erotic stories. Visit mz.skoda-avtoport.ru
raj..
Platinum Member
Posts: 3402
Joined: 10 Oct 2014 01:37

Re: Chanchal choot चंचल चूत

Unread post by raj.. » 23 Dec 2014 01:13

Chanchal ne choos choos ke mere lune mai se nikli hui cream ko khaya aur lund ko saaf kia aur apne muh utha ke mujhe dekh ke muskuraane lagi. Mai car se baher nikal aaya aur chanchal ko apni baho mai jakad lia. Meri aur uski height mai bohot ziada difference nahi tha to mera Lund uske pet ke neeche ke hisse se touch ho raha tha choot ke kareeb. Uske hath meri gand pe the dono ek doosre se embrace hote rahe. Thodi der ke baad ham car wapas le ke ghar ki taraf chal diye. Raaste mai mere hath Chanchal ki choot ka massage kar rahe the to kabhi uski wonderful chuchion ko masal rahe the aur uske hath mai mera lund tha. Abhi traffic shuru hone se pehle hi woh jhuki aur mere lund ko phir se apne muh me le ke choosne lagi aur daba ke boli ke Raja mai kal tak kaise wait karu aaj hi raat kuch karo na. mai ne kaha thoda sabar karo nahi to bana banaya khel bigad jayega to woh khamosh ho gai aur isi tarah ham ghar ko pohonch gaye.

Doosrey din mai aur chanchal ek doosre ko ajeeb nazron se dekhte rahi aise ke kisi ko bhi mehsoos na ho ke ham dono ke beech kuch daal mai kaala hai.

Shaam hote hote chanchal ne phir se kaha ke Raja chalo car nikalo mujhe driving sikhaane ke liye le chalo. Mai ne kaha ke pehle mummy se pooch to lo ke kahi woh baher to nahi ja rahi hai nahi to unko mushkil hogi. Chanchal ne mummy se poocha

to pata chala ke woh kahi nahi ja rahi hai kiyonke unke kuch friends unse milne ke liye ghar pe aa rahe hain.

Mai aur chanchal car le ke baher nikal gaye aur phir se usi sadak pe chalne lage. Town se baher nikal jaane ke baad jab traffice poori khatam ho gai aur hamari car ke siwa koi aur car sadak pe nahi rahi to chanchal phir se meri godi mei aa ke baith gai apne dono thighs ke mere dono thighs ke dono taraf kar ke jaise kal baithi thi. yeh kahani the great warrior ki likhi hui hai. Steering kia khaakh sambhaalti usne to mera lund pakadna tha jo woh pakdi hui thi aur lund se khel rahi thi kabhi daba deti kabhi massage karne lagti. Mera hath jab uski choot pe laga to pata chala ke usne aaj chaddi bhi nahi pehni hai bass skirt hi thoda sa lamba tha bina chaddi ke wow mera hath uski choot pe laga aur mai uski nangi choot ka massage karne lage. Uski choot mai se to ek hi minute mai juice nikal aaya.

Uski makkhan jaise chikni choot pe mai hath pher raha tha aur ungli choot ke soorakh mai ander baher kar raha tha. usne ek hath apni tangon ke beech mai daal ke mere lund ke supade ko pakad lia aur dabaane lagi. Choot mai se thodi hi der mai phir se pani niakalne laga aur chanchal shant ho gai.. ham car chalaate chalaate bohot door nikal gaye the yaha bohot bada ground tha jiske doosre corner mai kuch ghani jhaadia ( Thick Trees ) si thi. Car ko waha le gaye aur car aise rakh di ke sadak se kisi ko nazar na aye. Itni door aate aate bohot der bhi ho gai thi aur thoda thoda andhera bhi hone laga tha.


raj..
Platinum Member
Posts: 3402
Joined: 10 Oct 2014 01:37

Re: Chanchal choot चंचल चूत

Unread post by raj.. » 25 Dec 2014 11:49

चंचल चूत पार्ट---3



गतांक से आगे........................

कार को पार्क कर के दोनो बहेर निकल आए. चंचल ने कार मे से एक बेडशीट निकाल ली. मैं देख के हैरान रह गया के आज चंचल चुदवाने के लिए पूरी तय्यरी के साथ आई थी. मैं दिल मे खुश भी हुआ के चलो आज चंचल की ब्रांड न्यू चूत को चोद के उसकी सील तोड़ना है उसकी चूत को फाड़ना है यह सोच सोच के ही मेरा लंड ज़ोर से अकड़ने लगा और जोश मे हिलने लगा के बॅस अब कुछ ही देर मे एक नई चूत मिलेगी चोदने के लिए.

चंचल ने बेडशीट को नीचे बिछा दिया और कार की डिकी मे से एक पिल्लो भी निकाल लिया. दोनो बेडशीट पे एक दूसरे की तरफ मूह कर के लेट गये. मे उसके चुचिओ को दबाने लगा और उसने मेरा आकड़ा हुआ लंड अपने हाथ मे ले लिया और दबाने लगी. आज ऑलमोस्ट फुल मून था पर फिर भी कार का एक डोर खोल दिया तो अंदर की लाइट जल गई. धीर्मी लाइट मे पेड़ों के बीच मे से चंद्रमा की रोशनी मे यह जगह बोहोत ही रोमॅंटिक लग रही

थी और बोहोत अछा लग रहा था. धीमी धीमी हवा भी चल रही थी.

चंचल के ब्लाउस को निकाल दिया और स्कर्ट का हुक भी खोल दिया तो उसने भी मेरा बॉक्सर्स शॉर्ट्स निकाल दिया और टी-शर्ट भी. अब दोनो बेडशीट पे नंगे पड़े थे एक दूसरे के बदन से खेल रहे थे. मैं उसकी चुचिओ को दबा रहा था और वो मेरे लंड को दबा रही थी. मेरा एक हाथ उसके सर के नीचे था और उसको मैं ने अपनी तरफ खेच लिया तो दोनो के बदन आपस मे एक हो गये. मेरा लंड उसके बदन से टच होने लगा जिस्मै से प्री कम निकल रहा था और उसके पेट पे लग रहा था. मैं ने उसके चुचिओ को किस किया और उसके निपल को अपनी दाँत मे ले के धीरे से काटा तो उसके मूह से ऊऊओिईईईईईई की आवाज़ निकल गई और वो मेरे बदन मे जैसे घुस गई. चंचल ने अपने हाथो से मेरे सर को पकड़ा हुआ था और अपनी छातियाँ मेरे मूह मे घुसा रही थी और मैं अब उसकी पूरी चूची को मूह मे ले के चूस रहा था. कभी एक चूची कभी दूसरी चूची. चंचल के मूह से मज़े की सिसस्कारियाँ निकल रही थी आआहह ऊऊओिईई जैसे आवाज़ें निकल रही थी. मेरे सर पे से एक हाथ हटा के मेरे लंड को फिर से पकड़ के दबाना शुरू कर दिया. उसने अपनी एक टांग उठा के मेरे बॅक पे रख ली जिस से उसकी चूत खुल गई और मेरे लंड के सामने आ गई. उसने मेरे लंड को अपने हाथ से पकड़ा और अपनी चूत मे घिसने लगी. लंड से निकलता हुआ प्री कम उसकी गीली और चिकनी चूत को और स्लिपरी बना रहा था वो मस्ती मे आअहह ऊऊहह ईईहह जैसे आवाज़ें निकाल रही थी.

मैं ने चंचल को अपने हाथो से पलटा के उसको 69 पोज़िशन मे कर लिया. उसके दोनो टाँगें मेरे सर के दोनो तरफ थी और उसका मूह मेरे लंड के ऊपेर. उसने ऑटोमॅटिकली अपना मूह खोल के लंड को चूसना शुरू कर दिया जैसे एक ही दिन मे वो लंड चूसने मे पर्फेक्ट हो गई हो. और उसकी खुली ही अंदर से लाल लाल चूत मेरे मूह के सामने थी. उस मे से उठ ती हुई मधुर सुगंध मुझे और मेरे लंड को पागल कर रही थी. मेरा पागल लंड उसकी चूत मे घुस के चोदने को पागल हो रहा था. मेरा मूह जैसे ही चंचल की चूत से लगा उसको जैसे करेंट लगा और वो उछल पड़ी. मेरी जीभ उसकी चूत से टच होते ही उसने अपना चूतड़ उठा उठा के मेरे मूह पे अपनी चूत मारना शुरू कर दिया जैसे मेरे मूह को चोद रही हो.

मेरे दन्तो पे अपनी चूत को रगड़ने लगी. उसके मूह से मस्ती भरी पॅशनेट आवाज़ें निकलने लगी आअहह उउउउउह्ह्ह्ह राआआअजजजाआाआआआ बोहूऊओट मज़ाआअ है

राआाजजाआअ आआईयईईईई आईसीई शियैयीयी चूसू…. उफफफफफ्फ़ आईसीईए शियीयीयियी काटो हाआआ मेरी चूत को उउउउग्ग्घ्ह्ह्ह और एक ही मिनिट के अंदर अंदर उसकी चूत मे से मीठा मीठा जूस बहेर निकलने लगा और मैं सारा जूस पीने लगा और फिर वो शांत हो गई और मेरे मूह पे ही चूत रख के गहरी गहरी साँसें लेने लगी.

raj..
Platinum Member
Posts: 3402
Joined: 10 Oct 2014 01:37

Re: Chanchal choot चंचल चूत

Unread post by raj.. » 25 Dec 2014 11:50

मेरा आधा लंड अभी भी उसके मूह मे ही था. आधा इस लिए के उसके मूह मे मेरा इतना लंबा और मोटा लंड घुस ही नही पा रहा था फिर भी वो कोशिश कर के जितना पासिबल हो सकता था ले रही थी और ज़ोर ज़ोर से चूस रही थी. मेरी गंद ऑटोमॅटिकली उठ रही थी और लंड को उसके मूह मे घुसेड ने की कोशिश कर रहा था.. मेरा बदन भी अकड़ने लगा और मुझे लगा के मेरी क्रीम अब रेडी है शूट करने के लिए.. मैं ने उसके मूह को ज़ोर ज़ोर से चोदना शुरू किया कंटिन्यू लंड को उसके मूह मे अंदर बहेर करते करते लंड कुछ और उसके मूह मे घुसने लगा और फिर पूरा लंड उसके मूह मे घुस ही गया जिस से चंचल आअगग्घह उऊउगगघह की आवाज़ें निकालने लगी. लंड उसके थ्रोट तक घुस गया था और फिर सडन्ली मेरे लंड के सूराख मे से क्रीम का फव्वारा निकल पड़ा और डाइरेक्ट उसके थ्रोट मे घुसने लगा जिसे चंचल मज़े से पी गई अब उसको क्रीम निगलने की प्रॅक्टीस हो गई थी. लंड मे से क्रीम निकल रही थी और वो चूस रही थी. थोड़ी देर मे क्रीम निकल ना बंद हो गई पर वो जोश मे लंड को चूसे जा रही थी.

दोनो झाड़ चुके थे दोनो की क्रीम निकल चुकी थी दोनो का बदन शांत हो गया था. थोड़ी देर ऐसे ही लेटे रहे फिर मैं ने उसके चुचिओ के साथ खेलना शुरू किया और फिर चूसने लगा तो चंचल ने भी मेरे लंड को फिर से पकड़ के दबाना शुरू कर दिया तो वो इमीडीयेट्ली खड़ा होने लगा और एक ही मिनिट के अंदर पूरी तरह से अकड़ गया और चंचल की चूत को नमस्कार करने लगा. फिर दोनो एक दूसरे की तरफ मूह कर के लेट गये और अगेन वैसे ही चंचल ने मेरे लंड को अपने हाथ मे पकड़ के अपनी चूत मे रगड़ना चालू कर्दिआ. लंड मे से प्री कम निकल निकल के चंचल की गीली चूत को और गीला और स्लिपरी बना ने लगा. . मैं भी चंचल की चुचिओ को चूस रहा था और एक फिंगर से उसकी चूत की मालिश भी कर रहा था और चूत के दाने को रगड़ रहा था. उसकी चूत बोहोट गीली हो गई थी. मैं ने चंचल से पूछा के क्या वो रेडी है ? उसने कहा हा; तो मैं ने कहा के देखो फर्स्ट टाइम थोडा दरद तो होगा ही कियॉंके अभी तुम और तुम्हारी चूत बोहोत ही छोटी है और अभी कुँवारी है. उसने पूछा के कुँवारी क्या होती है तो मैने

बताया के जब तक चूत के अंदर एक झिल्ली सी होती है और जब तक वो नही टूट जाती लड़की कुँवारी कहलाई जाती है और जब कोई आदमी अपना लंड चूत के अंदर डाल के उस झिल्ली को तोड़ देता है तो उसका कुँवारा पन टूट जाता है इसी कुँवारी चूत को वर्जिन चूत भी कहते हैं.

मैं बताना भूल ही गया के यह मेरा भी फर्स्ट टाइम था. यह सब मैं ने सेक्स मूवीस मे देखा और वोही प्रॅक्टीस कर रहा था.

मैं चंचल की चूत को और गीला करना क़हहता था इसी लिए उस से कहा के वो थोड़ी देर के लिए मेरे फेस पे बैठ जाए और मैं उसकी चूत के अंदर अपनी जीभ डाल के उसकी चूत को और गीला कर दू. वो मेरे ऊपेर आ के बैठ गई और मैं ने फिर से उसकी चूत को चाटना शुरू कर दिया तो वो एक ही मिनिट मे पागल हो गई और बोली के बॅस राजा अब मुझ से और सहा नही जाता अब मैं और ज़ियादा बर्दाश्त नही कर सकती. अब तुम मुझे चोद ही दो. मैं ने कहा ठीक है .. ऐसे करो के तुम खुद ही मेरे लंड पे बैठ जाओ और देखो जितना तुम अंदर ले सकती हो आराम से ले लेना फिर बाद मे मैं खुद देख लूँगा.

ओके कह कर वो थोडा पीछे हटी और मेरे मिज़ाइल की तरह खड़े हुए लंड पे बैठने से पहले उसकने पहले मेरे लंड को किस किया और फिर अपने मूह मे ले के और गीला कर दिया और अपने दोनो पैर मेरे बदन के दोनो तरफ रख के मेरा लंड पकड़ के अपनी चूत के सूराख को मेरे लंड के हेड पे अड्जस्ट किया और उसपे धीरे धीरे बैठने लगी. आअहह इतना मज़ा आता है जब टाइट चूत ऐसे लंड पे स्लिप होती है तो लगता है जैसे कोई टाइट सी चीज़ लंड को रगड़ते हुए नीचे जा रही है आहह.

अभी लंड का सूपड़ा भी पूरी तरह से अंदर नही गया था के वो उछल पड़ी और चिल्लाई ऊओिइ माआअ चूत को लंड से बहेर निकाल के लंड की तरफ हैरत से आँखें फाड़ के देखने लगी तो मैं ने कहा धीरे से चंचल डरो नही फिर से ट्राइ करो और उसको झुकाया और उसके चुचिओ को चूसने लगा. उसकी पोज़िशन ऐसी थी जैसी हॉर्स रेसिंग के टाइम जॉकी की होती है जब वो रेस मे होता है.