रेहाना भाभी की चुदाई compleet

Discover endless Hindi sex story and novels. Browse hindi sex stories, adult stories ,erotic stories. Visit mz.skoda-avtoport.ru
rajaarkey
Platinum Member
Posts: 3125
Joined: 10 Oct 2014 04:39

Re: रेहाना भाभी की चुदाई

Unread post by rajaarkey » 07 Nov 2014 15:57

रेहाना डॉगी स्टाइल में हो गयी तो मैने रेहाना की गांद मारनी शुरू कर

दी. लाली आँखें फाडे मेरे लंड को रेहाना की गांद में अंदर बाहर

होते हुए देखती रही. मैं 2 बार लाली की चुदाई कर चुका था इस

लिए मैं जल्दी झाड़ नहीं पा रहा था. रेहाना सिसकारियाँ भरते हुए

मुझसे गांद मरवा रही थी. लाली रेहाना को गांद मरवाते हुए देख रही

थी. उसकी आँखों में भी जोश की झलक सॉफ दिख रही थी. मैने

लाली से पुछा, कैसा लग रहा है. वो बोली, बहुत ही अच्च्छा लग रहा

है, जीजू. मैने पुछा, गांद मरवावगी. वो बोली, फिर से दर्द होगा.

मैने कहा, गांद मरवाने में तो बहुत ही ज़्यादा दर्द होता है. वो

बोली, ना बाबा ना, मैं गांद नहीं मरवाउंगी. रेहाना ने कहा, लाली,

पहले तू खूब जम कर इनसे चुदवाने का मज़ा ले ले. उसके बाद एक बार

गांद भी मरवाने का मज़ा ले लेना. मैने लगभग 45 मिनट तक रेहाना की

गांद मारी और झाड़ गया.

मैने कयि दिनो तक लाली को खूब जम कर चोदा. उसे अब चुदवाने में

बहुत मज़ा आने लगा था. मुझे भी कुँवारी चूत को चोदने का मज़ा मिल

चुका था और मैं अब उसकी एक दम टाइट चूत को चोद रहा था. मैं

लाली की गांद भी मारना चाहता था लेकिन उसे मैं खूब तडपा तडपा

कर उसकी गांद मारना चाहता था. मैने काई बार लाली के सामने रेहाना की

गांद मारी तो एक दिन वो अपने आप को रोक नहीं पाई. वो मुझसे कहने

लगी, जीजू, एक बार मेरी भी गांद मार लो, मैं भी गांद मरवाने का

मज़ा लेना चाहती हूँ. मैने कहा, तुझे बहुत ज़्यादा तकलीफ़ होगी. वो

बोली, होने दो. मैने उस से कहा, तू नहीं जानती है कि मैने रेहाना की

गांद पहली पहली बार कैसे मारी थी. वो बोली, बताओगे तभी तो

जानूँगी. मैने कहा, तो सुन, तूने वो पिलर देखा है ना जो आँगन

में है. वो बोली, हां, देखा है. मैने कहा, मैने रेहाना को खड़ा

कर के उसी पिलर में कस कर बाँध दिया था. उसके बाद मैने इसके

मूह में कपड़ा तूस कर इसका मूह भी बाँध दिया था जिस से ये ज़्यादा

चिल्ला ना सके. उसके बाद ही मैं रेहाना की गांद मार पाया था. गांद

में लंड आसानी से नहीं घुसता है, बहुत मेहनत करनी पड़ती है और

दर्द भी बहुत होता है. गांद से बहुत ज़्यादा खून भी निकलता है.

वो बोली, चाहे जो भी हो आप मेरी गांद मार दो, मैं कुच्छ नहीं

जानती. मैने कहा, तू कयि दिनो तक बिस्तेर पर से उठ भी नहीं

पाएगी. वो बोली, जब दीदी ने आप से गांद मरवा लिया तो मैं क्यों

नहीं मरवा सकती. मैने कहा, सोच ले, बहुत दर्द होगा. तेरी गांद

भी फॅट सकती है. वो ज़िद करने लगी, मैं कुच्छ नहीं जानती, तुम

मेरी गांद मार दो बस. मैने कहा, अच्च्छा, कल मैं तेरी गांद मार

दूँगा. वो बोली, नहीं आज ही और अभी मेरी गांद मार दो.

रेहाना मेरी बात सुनकर मुस्कुरा रही थी. वो जानती थी कि मैं झूठ

बोल रहा हूँ. वो ये भी समझ गयी थी मैं उसकी गांद को बहुत ही

बुरी तरह से मारना चाहता हूँ. रेहाना ने लाली से कहा, चल आँगन

में. मैं रेहाना और लाली के साथ आँगन में आ गया. रेहाना कुच्छ

कपड़े और रस्सी ले आई. उसके बाद मैने लाली से कहा, तू पिलर को

ज़ोर से पकड़ कर खड़ी हो जा. वो पिलर को पकड़ कर खड़ी हो गयी.

उसके बाद मैने रस्सी से उसकी कमर को पिलर से बाँध दिया. उसके बाद

मैने दूसरी रस्सी ली और उसके पैर को भी फैला कर पिलर से बाँध

दिया. फिर मैने लाली के दोनो हाथ भी पिलर से बाँध दिए. वो बोली,

जीजू, आप ने तो मुझे ऐसे बाँध दिया है कि मैं ज़रा सा भी इधर

उधर नहीं हो सकती. मैने कहा, गांद मारने के लिए ऐसे ही बांधना

पड़ता है. उसके बाद मैने लाली के मूह में कपड़ा तूस दिया और उसके

मूह को बाँध दिया.

मैने रेहाना से कहा, अब तुम मेरे लंड को थोड़ा सा चूस लो जिस से ये

पूरी तरह से टाइट हो जाए. रेहाना ने मेरे लंड को चूसना शुरू कर

दिया तो थोड़ी ही देर में मेरा लंड पूरी तरह से टाइट हो गया.

मैने रेहाना के मूह से अपना लंड बाहर निकाला और लाली के पिछे आ

गया. मैने लाली की गांद के छेद पर अपने लंड का सूपड़ा रखा और

पूरी ताक़त के साथ ज़ोर का धक्का मारा. लाली दर्द के मारे तड़पने

लगी. वो अपना सिर इधर उधर करने लगी. उसका मूह बँधा हुआ था इस

लिए उसके मूह से केवल गूओ गूओ की आवाज़ ही निकल रही थी. एक धक्के

में ही मेरा लंड उसकी गांद को चीरता हुआ 2" तक घुस गया. उसकी

गांद से खून निकल आया. मैने दूसरा धक्का लगाया तो लाली के मूह

से बहुत ज़ोर ज़ोर से गूऊ गूऊ की आवाज़ निकलने लगी. मेरा लंड 4"

अंदर घुस गया. लाली की गांद से और ज़्यादा तेज़ी के साथ खून

निकलने लगा. मैने फिर से एक धक्का मारा तो मेरा लंड उसकी गांद

में 5" तक घुस गया. उसके बाद मैने एक ही झटके से अपना लंड उसकी

गांद से बाहर खीच लिया. पक की आवाज़ के साथ मेरा लंड लाली की

गांद से बाहर आ गया. लाली के मूह से अभी भी ज़ोर ज़ोर से गूओ गूओ

की आवाज़ निकल रही थी.

क्रमशः.................


rajaarkey
Platinum Member
Posts: 3125
Joined: 10 Oct 2014 04:39

Re: रेहाना भाभी की चुदाई

Unread post by rajaarkey » 07 Nov 2014 15:58

Rehana ki Bhabhi Chudai--7

gataank se aage...............

Thodi der ki chudayi ke baad Lali jhad gayi. Uski Choot aur mera Lund

ab ek dam geela ho chuka tha. Maine apni speed dheere dheere badhani

shur kar di. Lali poore josh mein aa chuki thi. Wo jor jor se

siskariyan bhar rahi thi. Maine har 4-6 dhakke ke baad ek dhakka thoda

jor se lagana shuru kar diya. Is se mera Lund thoda thoda kar ke uski

Choot mein aur jyada gahrayi tak ghusne laga. Jab main tej dhakka laga

deta tha to Lali kewal ek aah si bharti thi. Wo itne josh mein aa

chuki thi ki use ab jyada dard mahsoos nahin ho raha tha. Main isi

tarah se use Chodta raha.

Thodi der ki chudayi ke baad hi Lali phir se jhad gayi. Ab tak mera

Lund uski Choot mein 7" andar ghus chuka tha. Maine apni speed badhate

huye uski chudayi jari rakhi. Thodi hi der mein mera poora ka poora

Lund uski Choot mein sama gaya. Rehana ne jab dekha ki mera poora Lund

uski Choot mein ghus chuka hai to usne Lali se kaha, inka poora ka

poora Lund teri Choot ke andar ghus gaya hai. Ab tujhe kewal maza

aayega. Wo boli, mujhe vishwas nahin ho raha hai. Rehana ne kaha, agar

tujhe vishwas nahin ho raha hai to haath laga kar dekh le. Lali ne

haath laga kar dekha to boli, didi, ye poora andar kaise ghus gaya,

mujhe to kuchh pata hi nahin chala. Rehana ne kaha, jab tu thodi der ki

chudayi ke baad poore josh mein aa gayi thi tab ye beech beech mein

jor ka dhakka laga dete the. Jis se inka Lund thoda thoda kar ke teri

Choot ke andar ghusa jata tha. Tu josh mein thi is liye tujhe kuchh

pata hi nahin chala.

Maine apni speed aur tej kar di kyon ki ab main jhadne wala tha. 2 min

ke andar hi main jhad gaya to Lali bhi mere saath hi saath phir se

jhad gayi. Maine apna Lund uski Choot se bahar nikal kar Lali se

poochha, chatogi. Usne mera Lund dekha to us par juice ke saath thoda

khoon bhi laga hua tha. Wo boli, jiju, is par to khoon bhi laga hua

hai. Main agli baar chat loongi. Rehana ne kaha, teri Choot ka hi to

khoon hai aur ye pahli pahli baar nikla hai, chat le ise. Wo boli, tum

kahti ho to main chat leti hoon. Usne mera Lund chat chat kar saaf kar

diya. Rehana ne poochha, chudwane mein maza aaya. Wo boli, haan, maza to

aaya lekin jyada nahin. Rehana ne puchha, kyon. Wo boli, jab mujhe jyada

maza aana shuru hua to jiju jhad gaye. Rehana ne kaha, agli baar jyada

maza aayega. Is baar to inka saara waqt teri Choot mein rasta banane

mein hi lag gaya.

Main Lali ke bagal mein let gaya. Wo meri peeth ko shalate huye mujhe

choomti rahi. 10 min mein hi mera Lund phir se khada ho gaya. Maine

Lali ko doggy style mein kar diya aur uski chudayi shuru kar di. Use

is baar chudwane mein jyada maza aaya aur mujhe bhi. Usne is baar

poori masti ke saath khoob jam kar chudwaya. Maine bhi use poore josh

ke saath bahut hi jor jor ke dhakke lagate huye khoob jam kar Choda.

Is baar maine lagbhag 35 min tak uski chudayi ki. Lali is dauran 4

baar jhad gayi thi.

Main Lali ke bagal mein let gaya. Hum sab aapas mein batein karte

rahe. Lagbhag 1 ghante ke baad Rehana ne mujhse kaha, kyon ji, tum mujhe

aaj nahin Chodoge kya. Sali ki kunwari Choot ka maza pa kar mujhe bhool

gaye kya. Maine kaha, bhala main tumhein kaise bhool sakta hoon, tum

to meri biwi ho. Main roj roj ghar ka hi to khana khata hoon. Kabhi

kabhi hotel ke khane ka maza bhi le lena chahiye. Tum to mere liye

ghar ka khana ho aur Lali hotel ka. Aaj maine kunwari Choot ka maza

liya hai is liye main tumhari Choot ko aaj haath bhi nahin lagaunga.

Aaj to main tumhari Gaand marunga. Rehana boli, phir maro na. Lali boli,

jiju kya kah rahe ho. Maine kaha, theek hi kah raha hoon. Ye kabhi

kabhi mujhse Gaand bhi marwati hai. Gaand marwane mein bhi khoob maza

aata hai. Tum bhi marwaogi. Wo boli, pahle aap didi ki Gaand mar lo.

Jara main bhi to dekhoon ki didi aap ka itna lamba aur mota Lund apni

Gaand ke andar kaise leti hai.

Rehana doggy style mein ho gayi to maine Rehana ki Gaand marni shuru kar

di. Lali aankhein phade mere Lund ko Rehana ki Gaand mein andar bahar

hote huye dekhti rahi. Main 2 baar Lali ki chudayi kar chuka tha is

liye main jaldi jhad nahin pa raha tha. Rehana siskariyan bharte huye

mujhse Gaand marwa rahi thi. Lali Rehana ko Gaand marwate huye dekh rahi

thi. Uski aankhon mein bhi josh ki jhalak saaf dikh rahi thi. Maine

Lali se puchha, kaisa lag raha hai. Wo boli, bahut hi achchha lag raha

hai, jiju. Maine puchha, Gaand marwaogi. Wo boli, phir se dard hoga.

Maine kaha, Gaand marwane mein to bahut hi jyada dard hota hai. Wo

boli, na baba na, main Gaand nahin marwaungi. Rehana ne kaha, Lali,

pahle tu khoob jam kar inse chudwane ka maza le le. Uske baad ek baar

Gaand bhi marwane ka maza le lena. Maine Lagbhag 45 min tak Rehana ki

Gaand mari aur jhad gaya.

Maine kayi dino tak Lali ko khoob jam kar Choda. Use ab chudwane mein

bahut maza aane laga tha. Mujhe bhi kunwari Choot ko chone ka maza mil

chuka tha aur main ab uski ek dam tight Choot ko Chod raha tha. Main

Lali ki Gaand bhi marna chahta tha lekin use main khoob tadpa tadpa

kar uski Gaand marna chahta tha. Maine kayi baar Lali ke samne Rehana ki

Gaand mari to ek din wo apne aap ko rok nahin payi. Wo mujhse kahne

lagi, jiju, ek baar meri bhi Gaand mar lo, main bhi Gaand marwane ka

maza lena chahti hoon. Maine kaha, tujhe bahut jyada takleef hogi. Wo

boli, hone do. Maine us se kaha, tu nahin janti hai ki maine Rehana ki

Gaand pahli pahli baar kaise mari thi. Wo boli, bataoge tabhi to

janungi. Maine kaha, to sun, tune wo piller dekha hai na jo aangan

mein hai. Wo boli, haan, dekha hai. Maine kaha, maine Rehana ko khada

kar ke usi piller mein kas kar bandh diya tha. Uske baad maine iske

muh mein kapda thoos kar iska muh bhi bandh diya tha jis se ye jyada

chilla na sake. Uske baad hi main Raitu ki Gaand mar paya tha. Gaand

mein Lund aasani se nahin ghusta hai, bahut mehnat karni padti hai aur

dard bhi bahut hota hai. Gaand se bahut jyada khoon bhi nikalta hai.

Wo boli, chahe jo bhi ho aap meri Gaand mar do, main kuchh nahin

janti. Maine kaha, tu kayi dino tak bister par se uth bhi nahin

payegi. Wo boli, jab didi ne aap se Gaand marwa liya to main kyon

nahin marwa sakti. Maine kaha, soch le, bahut dard hoga. Teri Gaand

bhi phat sakti hai. Wo zid karne lagi, main kuchh nahin janti, tum

meri Gaand mar do bas. Maine kaha, achchha, kal main teri Gaand mar

doonga. Wo boli, nahin aaj hi aur abhi meri Gaand mar do.

Rehana meri baat sunkar muskura rahi thi. Wo janti thi ki main jhooth

bol raha hoon. Wo ye bhi samjah gayi thi main uski Gaand ko bahut hi

buri tarah se marna chahta hoon. Rehana ne Lali se kaha, chal aangan

mein. Main Rehana aur Lali ke saath aangan mein aa gaya. Rehana kuchh

kapde aur rassi le aayi. Uske baad maine Lali se kaha, tu piller ko

jor se pakad kar khadi ho ja. Wo piller ko pakad kar khadi ho gayi.

Uske baad maine rassi se uski kamar ko piller se bandh diya. Uske baad

maine doosri rassi li aur uske pair ko bhi phaila kar piller se bandh

diya. Phir maine Lali ke dono haath bhi piller se bandh diye. Wo boli,

jiju, aap ne to mujhe aise bandh diya hai ki main jara sa bhi idhar

udhar nahin ho sakti. Maine kaha, Gaand marne ke liye aise hi bandhna

padta hai. Uske baad maine Lali ke muh mein kapda thoos diya aur uske

muh ko bandh diya.

Maine Rehana se kaha, ab tum mere Lund ko thoda sa choos lo jis se ye

poori tarah se tight ho jaye. Rehana ne mere Lund ko choosna shuru kar

diya to thodi hi der mein mera Lund poori tarah se tight ho gaya.

Maine Rehana ke muh se apna Lund bahar nikala aur Lali ke pichhe aa

gaya. Maine Lali ki Gaand ke chhed par pane Lund ka supada rakha aur

poore takat ke saath jor ka dhakka mara. Lali dard ke mare tadapne

lagi. Wo apna sir idhar udhar kane lagi. Uska muh bandha hua tha is

liye uske muh se kewal gooo gooo ki aawaz hi nikal rahi thi. Ek dhakke

mein hi mera Lund uski Gaand ko cheerta hua 2" tak ghus gaya. Uski

Gaand se khoon nikal aaya. Maine doosra dhakka lagaya to Lali ke muh

se bahut jor jor se goooo goooo ki aawaz nikalne lagi. Mera Lund 4"

andar ghus gaya. Lali ki Gaand se aur jyada teji ke saath khoon

nikalne laga. Maine phir se ek dhakka mara to mera Lund uski Gaand

mein 5" tak ghus gaya. Uske baad maine ek hi jhatke se apna Lund uski

Gaand se bahar kheech liya. Puk ki aawaz ke saath mera Lund Lali ki

Gaand se bahar aa gaya. Lali ke muh se abhi bhi jor jor se gooo gooo

ki aawaz nikal rahi thi.

kramashah...............

rajaarkey
Platinum Member
Posts: 3125
Joined: 10 Oct 2014 04:39

Re: रेहाना भाभी की चुदाई

Unread post by rajaarkey » 07 Nov 2014 15:59

रेहाना भाभी की चुदाई --8

गतांक से आगे.........

मैने रेहाना को अपना लंड दिखाते हुए कहा, इसकी गांद तो बहुत ही

टाइट है. देखो कितना खून निकल आया है. रहना बोली, क्यों तड़पाते

हो बेचारी को. घुसा दो ना अपना पूरा लंड इसकी गांद में. मैने

कहा, ठीक है बाबा, घुसा देता हूँ. मैने लाली की गांद के छेद पर

फिर से अपने लंड का सूपड़ा रख दिया. उसकी गांद खून से भीगी हुई

थी. मैने बहुत ही ज़ोर का एक धक्का लगाया तो मेरा लंड उसकी गांद

में 5" तक घुस गया. उसके बाद मैने 2 धक्के और लगाए तो मेरा

लंड उसकी गांद में 7" तक अंदर घुस गया. लाली का सारा बदन

पसीने से भीग गया था. वो अपना सिर पिलर पर पटक रही थी. उसकी

आँखो से आँसू बह रहे थे. मुझे खूब मज़ा आ रहा था. मैं

लाली की गांद इसी तरह से मारना चाहता था. मेरी तमन्ना पूरी हो

रही थी. रेहाना आँखें फाडे मुझे देख रही थी. उसने कहा, रहम

करो इस बेचारी पर. क्यों तडपा रहे हो इसे. मैने 2 बहुत ही जोरदार

धक्के और लगाए तो मेरा पूरा का पूरा लंड लाली की गांद में समा

गया.

पूरा लंड घुसा देने के बाद भी मैं रुका नहीं, मैने तेज़ी के साथ

लाली की गांद मारनी शुरू कर दी. लाली के मूह से गूओ गूओ की आवाज़

निकल रही थी. उसकी गांद बहुत ही ज़्यादा टाइट थी इस लिए मेरा लंड

उसकी गांद में आसानी से पूरा अंदर बाहर नहीं हो पा रहा था.

मैने पूरी ताक़त के साथ धक्के लगा रहा था. 10 मिनट के बाद मेरा

लंड थोड़ा आसानी से अंदर बाहर होने लगा. लाली के मूह से भी ज़्यादा

आवाज़ नहीं निकल रही थी. मैने लाली से पुछा, मूह खोल दूं. उसने

अपना सिर हां में हिला दिया. मैने पुछा, चिल्लाओगी तो नहीं. उसने

अपना सिर ना में हिला दिया.

मैने लाली का मूह खोल दिया और उसके मूह से कपड़ा बाहर निकाल लिया. वो

रोते हुए बोली, जीजू, आप ने तो मुझे मार ही डाला. क्या इसी तरह से

गांद मारी जाती है. मैने कहा, हां, गांद इसी तरह से मारी जाती

है. अगर मैने तुम्हारा मूह बँधा नहीं होता तो तुम कितनी ज़ोर ज़ोर से

चिल्लाति, ये तुम अब समझ गयी होगी. वो बोली, आप सही कह रहे हो,

तब तो मैं बहुत चिल्लाती. मैने कहा, अगर मैने तुम्हें पिलर से

ना बाँधा होता तो अब तक कयि बार अपना चूतड़ इधर उधर करती और

मैं तुम्हारी गांद में अपना लंड नहीं घुसा पाता. वो बोली, जीजू, आप

एक दम सही कह रहे हो. मैने तो आप को धकेल ही दिया होता. मैने

कहा, अब तुम ही बताओ मैने सही किया या नहीं. वो बोली, आप ने बिल्कुल

ठीक किया. ऐसे ही करना चाहिए था. अब तो मुझे पिलर से खोल दो.

मैने कहा, पहले मैं तुम्हारी गांद तो मार लूँ फिर खोल दूँगा. वो

बोली, तो मारो ना. मैने पुछा, कुच्छ मज़ा आ रहा है. वो बोली, अभी

तो बहुत ही कम मज़ा आ रहा है.

मैने लाली की गांद मारनी शुरू कर दी. मैं पूरी ताक़त के साथ ज़ोर

ज़ोर के धक्के लगा रहा था. लाली को भी अब मज़ा आ रहा था. उसके मूह

से सिसकारियाँ निकल रही थी. 10 मिनट तक उसकी गांद मारने के बाद मैं

झाड़ गया. मैने अपना लंड लाली की गांद से बाहर निकाला और लाली को

दिखाते हुए कहा, देखो कितना खून निकला है तुम्हारी गांद से. वो

आँखें फाडे मेरे लंड को देखने लगी. वो बोली, जीजू, अब तो खोल दो

मुझे. मैने कहा, एक बार तुम्हारी गांद और मार लूँ फिर खोल दूँगा.

वो बोली, कमरे में मार लेना. मैने कहा, तुम फिर से चिल्लाओगी. वो

बोली, मैं अपना मूह बंद रखने की कोशिश करूँगी. मैने रेहाना से

कहा, खोल दो लाली को.

रेहाना ने लाली के हाथ पैर खोल दिए. लाली बाथरूम जाना चाहती थी

लेकिन वो बिल्कुल भी चल फिर नहीं पा रही थी. रेहाना उसे सहारा

देकर बाथरूम में ले गयी. लाली ने अपनी गांद और चूत को साबुन से

सॉफ किया. फिर रेहाना उसे कमरे में ले आई. मैं कमरे में आया तो

लाली बेड पर लेटी थी. मैं उसके बगल में लेट गया. 1 घंटे के बाद

मैने फिर से लाली की गांद मारनी शुरू की. वो थोड़ी देर तक चिल्लाई

फिर शांत हो गयी. उसके बाद उसे खूब मज़ा आया और मुझे भी. उसने

मुझसे खूब जम कर गांद मरवाई.