Hindi Sex Stories By raj sharma

Discover endless Hindi sex story and novels. Browse hindi sex stories, adult stories ,erotic stories. Visit mz.skoda-avtoport.ru
raj..
Platinum Member
Posts: 3402
Joined: 10 Oct 2014 01:37

Re: Hindi Sex Stories By raj sharma

Unread post by raj.. » 12 Oct 2014 13:18

स्वीटी== मोनू ये तो पूरी तराह तैयार है
मोनू== अभी कहाँ तैयार है जान अभी तो इसको तुम्हे तैयार करना है इसको सहला कर इसको चूस कर
स्वीटी=== क्या कहा…? चूस्कर…?
मोनू === हां मेरी रानी इसको चूस्कर ही तो तैयार किया जाता है
स्वीटी== प्ल्स मुझे घिंन आती है मैं इसको मूह मे नही लूँगी
मोनू==- अर्रे तुम पहले इसे सहलाओ तो
स्वीटी उसके लंड को सहलाने लगी उधर सपना अपनी चूत को अपने हाथ से कुरेद रही थी तभी उसके दिमाग़ मे 1 और कमीनेपन का ख्याल आया उसने सोचा क्यों ना इस छिनाल को पहली बार ही 2 लॉडो से 1 साथ चुदवा डाला जाए साली पनाह माँग जाएगी जब 2 लंड 1 साथ इसकी नाज़ुक सी चूत मे जाएँगे पर उसके लिए अपने बेटे सोनू को कैसे तैयार करूँ वो बेचारा तो सो रहा होगा और मैं भला उससे कैसे कहूँ कि तेरा भाई बगल के रूम मे मज़े मार रहा है तू भी ऐसा कर बहुत सोचने के बाद आख़िर सपना को 1 राह नज़र आ ही गयी वो सोनू के रूम मे गयी अंदर सोनू नंगे बदन सिर्फ़ लूँगी पहने बेड पर सो रहा था हवा की वजा से या जवानी की प्यास की वजा से वो अपनी लूँगी हटाए हुए था और अंडरवेर के उपर से अपने लंड पर हाथ रख कर बेसूध पड़ा सो रहा था उसको इस हालत मे मोम ने पहले कभी नही देखा था और इस वक़्त तो वो वैसे ही 2 जवान लोगों को चुदाई की तैयारी करता देख कर गरम हो रही थी पर 1 मा होने क नाते अपने जज़्बात पर काबू रखते हुए उसने पहले सोनू को आवाज़ दी 2…3 आवाज़ मे जब वो नही उठा तो सपना ने उसको हिला कर जगाया वो हड़बड़ा कर उठ गया और सामने मोम को देख कर फिर अपनी हालत को देख कर सकपका गया
सोनू=== क्या हुआ मम्मी इतनी रात को आप यहाँ सब ठीक तो है…?
सपना== बेटा स्वीटी के रूम से कुछ आवाज़ आ रही है ख़तर…पाटर की पता नही कौन है कहीं कोई चोर तो नही मैने सोचा तुझे साथ ले लूँ फिर देखूं कौन है…?
दोनो स्वीटी के रूम की तरफ गये सोनू आवाज़ देने ही जा रहा था कि मोम ने टोका
सपना== अर्रे पागल ऐसे चीखेगा तो कोई भी भाग जाएगा
सोनू== तब…?
सपना== इधर आ इधर 1 खिड़की है उसमे से देख
और जब सोनू ने अंदर देखा तो उसके पैर के नीचे से ज़मीन ही निकल गयी अंदर का नज़ारा बहुत गरम था अंदर मोनू का लॉडा स्वीटी अपने मूह मे ले चुकी थी और मोनू बेड क नीचे खड़ा उसके बाल पकड़े बहुत प्यार से अपने लंड को आगे पीछे कर रहा था
सपना== क्या हुआ…?
सोनू== क्कूक कुछ नही मम्मी अंदर ऐसा सीसी…कुछ भी नही है
सोनू घबडाते हुए बोला जिसे सपना समझ रही थी पर फिर ज़ोर देकर बोली क्या कुछ दिख नही रहा…?
सोनू=== न नही मम्मी चलिए अंदर ऐसा कुछ भी नही है तब ही अंदर से स्वीटी की मादक सिसकारी की आवाज़ सुनाई दी जिसे सोनू और सपना दोनो ने सुना
सपना== ये आवाज़ कैसी है तू बता क्यों नही रहा अंदर क्या हो रहा है क्या स्वीटी को कोई मार रहा है चल हट मुझे देखने दे और सोनू को पीछे हटा कर खुद खिड़के से आँखे लगा कर देखने लगी
सपना की हालत तो पहले से ही खराब थी पर इस वक़्त अंदर का नज़ारा बहुत ही गरम था अंदर स्वीटी अपने मूह को जल्दी …2 आगे…पीछे कर रही थी और मोनू का बदन अकड़ रहा था ऐसा लग रहा था वो झड़ने ही वाला है और देखते ही देखते 1 मादक सिसकारी के साथ मोनू ने अपने लंड का रस स्वीटी के मूह मे बरसाना सुरू कर दिया जिसको स्वीटी अपने मूह को हटाने की कोसिस करते हुए अपने मूह मे जाने से रोकना चाहती थी पर मोनू क मज़बूत हाथों ने उसके चेहरे को जकड़ा हुआ था और अपना रस उसके मूह मे आख़िर उडेल ही डाला
सपना=== हाई राआअम सोनू अंदर तो अनर्थ हो रहा है ययए कमीना लड़का मेरी सहेली की नाज़ुक बच्ची के साथ अफ हे भगवान अब क्या होगा…?
और खिड़की से हट कर अपना सर पकड़ कर 1 तरफ बैठ गयी जैसे उससे बहुत दुख हुआ हो और सोनू जिसे अपनी मम्मी की वजा से बहुत गुस्सा आ रहा था कि बहन की लॉडी ना खुद देख रही है और ना ही मुझे देखने दे रही है इतनी सेक्सी चुदाई सीन क्रियेट होने जा रहा है अभी और ये मेरी मा अपनी मा चुदा रही है बहन की लॉडी यक़ीनन यही जज़्बात रहे होंगे सोनू के है ना…?
और सोनू ही क्या कोई भी जवान लड़का वहाँ होता तो यही सोचता और इस चीज़ का पता सपना को बहुत अच्छी तराह था वो यहाँ तक तो कामयाब हो गयी थी पर अब वो ऐसा जाहिर भी नही होने देना चाहती थी कि उसने जानबूझ कर सोनू को अंदर भेजा है तब ही उसने 1 और हल सोचा
सपना==== बेटा आओ देखते है ये जो अंदर हो रहा है उसमे कौन गुनाहगार है क्या पता वो लड़की ही ऐसी हो जो मेरे बेटे को फुसला कर अंदर अपने रूम मे ले गयी हो और….


क्रमशः.............................

raj..
Platinum Member
Posts: 3402
Joined: 10 Oct 2014 01:37

Re: Hindi Sex Stories By raj sharma

Unread post by raj.. » 12 Oct 2014 13:19

सपना का बदला--3

गतान्क से आगे.............
मोनू और स्वीटी को अंदर उस हालत मे देखने के बाद मम्मी ने सोनू से कहा कि हम लोग कुछ देर यही खड़े होकर अंदर का जाएजा लेते है और किसीकि ग़लती है ये देखते है और फिर दोनो लोग अंदर देखने लगे जहाँ स्वीटी की चूत को मोनू मज़े से चटखारे ले कर चूम चाट रहा था स्वीटी को इस गाल मे देख कर सोनू को अपनी मा के लिए यही ख्याल आ रहा था कि काश ये यहाँ अपनी मा ना चुदा रही होती तो अभी अंदर जा कर मज़े लेता पर अब यहाँ लॉडा पकड़ कर खड़ा होना पड़ेगा मज़बूरी है और सपना भी उसके दिल का हाल समझ रही थी तब वो बोली
सपना== बेटा सोनू मैं तो सोने जा रही हूँ तू अंदर जाकर इन लोगों को समझा दे रात बहुत हो गयी है अब चुप चाप सो जाए ओके
सोनू== जी मोम ठीक है पर सपना जानती थी कि सोनू और मोनू ही क्या कोई भी मर्द इस तराह किसी लड़की को इस हाल मे बिना चोदे नही छोड़ेगा और उसके दोनो बेटे मिल कर उसकी सौतन की बेटी को चोदे तो उसकी चूत की मुराद पूरी हो जाती यही सोच कर उसने ये चाल चली थी जब सोनू ने दरवाज़ा खटकताया तो अंदर दोनो लोग संभाल गये और मोनू बोला कौन….?
सोनू== भाई जी मैं हूँ प्ल्स दरवाज़ा खोलो मम्मी और मैने तुम दोनो को देख लिया है अब तो स्वीटी और मोनू की गांद ही फट गयी मोनू ने अपना निक्कर चढ़ाते हुए दरवाज़ा खोला और अंदर स्वीटी चादर लपेटे सहमी सी पड़ी थी
सोनू== वाआआः भाई इतनी मक्खन ऐसी लड़की से अकेले….अकेले मज़ा ले रहे थे ?
मोनू== यार यहाँ गांद फटी जा रही है और तुझे मज़ाक़ सूझ रहा है बता मा ने क्या देखा और क्या कह रही थी…?
सोनू== वो तो बोली है कि इन दोनो को समझा दो रात बहुत हो गयी है अब सो जाए पर मुझे लगता है कि वो नाराज़ तो नही ही थी वरना उनका गुस्सा तो तू जानता ही है और अब तो वो सोने भी चली गयी है पर मुझे अब तुम दोनो को समझाना तो पड़ेगा ही और ये कह कर उसने स्वीटी की चादर खीच ली और अंदर से स्वीटी फिर से पहले वाली हालत यानी की पूरी तराह से नंगी हो गयी और सोनू चढ़ पड़ा उसकी चूचियों पर लगा दबाने ज़ोर…ज़ोर से और उसके होठ अपने होठों मे भर कर चूसने लगा मोनू वहीं जॉइंट टाय्लेट मे जाकर मूतने लगा और दरवाज़ा भी बंद नही किया था उसको मूत ता हुआ देख कर सोनू बोला साले डोर तो बंद कर लेता हरामी मोनू-=-== आब्बी साले अब जब हम लोग पहले साथ…साथ चुदाई कर भी चुके है तो भला तुज़से क्या शरमाना और रही स्वीटी की बात तो ये तो अभी इसको अपनी चूत मे लेने ही वाली है और उन लोगों को ये नही पता था कि उनकी मा बाहर खिड़की से सिर्फ़ देख ही नही रही बल्कि उनकी बाते भी सुन रही थी और आज सपना को अपने बेटों की हक़ीकत पता चली कि ये लोग रणडिबाज़ी भी करते है तो एक बारगी तो उसका दिल डर गया कि बाहर चूत चोदने के चक्कर मे कहीं मदर्चोद एड्स ना करवा ले फिर उनकी जवानी का ख्याल आया इस एज मे भला रंडी नही चोदेन्गे तो क्या करेंगे पर अब उसने ठान लिया था कि कैसे भी हो इनको घर मे ही चूत के मज़े दिल्वाउन्गि अगर आज इन लोगों ने स्वीटी को चोद लिया तो कहीं और मूह भी नही मारेंगे और अंदर का नज़ारा देख कर सपना भी मस्त होती जा रही थी क्योंकि अब मोनू मूत कर वापस आया और अपना लॉडा आते ही उसने स्वीटी के मूह मे डाल दिया जिसे वो लोल्यपोप की तराह चूस रही थी और सोनू उसकी नाज़ुक सी चूत को फैला कर अपना मूह घुसाए उसकी चूत के अंदर जीभ डाले पड़ा था कुछ देर ऐसा ही चलता रहा तब मोनू बोला यार अब मेरा लॉडा तैयार हो गया है अब इससे चोदा जाए
सोनू== हां तो बहन के लॉड चोद ना मना किसने किया है
मोनू== ओयएए मदर्चोद मैं सोच रहा हूँ कौन से स्टाइल से चोदु इसको…?
स्वीटी== याआआआआर तुम लोग गालियाँ क्यों दे रहे हो 1 दूसरे को..?
मोनू=== ओयएए चूत्मरानि तुझे क्या पता गालिया दे कर और गंदी बाते करते हुए सेक्स करने मे कितना मज़ा आता है गंदी…गंदी बाते करते हुए अगर किसी बूढ़ी पर भी चढ़ाई की जाए तो उसको भी अपनी जवानी याद आ जाती है क्यों मैं सही कह रहा हूँ ना सोनू…?
सोनू== हां भदवे याद है तुझे वो काम वाली बाई याद हैजिसे हम लोग बूढ़ी समझ कर घास नही डालते थे और जब किसी रंडी का इंतज़ाम नही हो पाया तो घर आकर जब उसको चारा डाला तो साली ने जोश मे आकर अच्छी…अच्छी रंडियों की मा….बहन चोद डाली थी हम दोनो को 1 साथ ऐसे संभाला था जैसे वो 42 साल की घरेलू औरत ना होकर कोई पेसेवर रंडी हो जब ये बात बाहर खड़ी सपना ने सुनी तो उसके तो उसको उनकी बातों मे मज़ा तो आ ही रहा था पर जब बेटों का करेक्टर पता चला तो वो बहुत नार्वेस हो गयी पर फिर सारी बाते भुला कर अपनी चूत पर साड़ी के उपर से ही हाथ ले जाकर सहलाने लगी और अंदर का नज़ारा लेने लगी जहाँ आज उसकी दिली मुराद पूरी होने जा रही थी यानी कि उसकी सौतन की लड़की की पहली चुदाई होने जा रही थी और वो भी 2जवान कड़ियल लंड के साथ जिसे वो लाइव देखने वाली थी

raj..
Platinum Member
Posts: 3402
Joined: 10 Oct 2014 01:37

Re: Hindi Sex Stories By raj sharma

Unread post by raj.. » 12 Oct 2014 13:20

उस दिन जब सपना ने ठान ही लिया कि सोनू को भी अंदर भेज कर इस कुतिया की भोसड़ी फेड्वा ही देनी है और अब तक अंदर का नज़ारा देख कर सोनू भी गरमा गया था
मोम== सोनू अंदर जा कर अपने हरामी भाई को समझा वरना वो इस बेचारी मासूम सी लड़की को आज चोद कर ही छोड़ेगा और हां अंदर जा कर तू भी सुरू ना हो जाना
पर अंदर जाते ही सोनू ने अपने रंग दिखाने सुरू कर दिए उसको देख कर मोनू की गांद ही फट गयी
मोनू=== अर्रे तू अभी तक जाग रहा है
(दोनो भाई बहुत बड़े हरामी थे कलाज मे साथ…साथ हरामी पना करते थे और लड़की को भी कई बार साथ साथ ही चोद चुके थे पर मा को ये सब नही पता था साले बहुत चोदु थे दोनो भाई )
सोनू== वाह हरामी इतना बढ़िया माल और अकेले ही हाथ सॉफ करने मे लगा था भाई को भूल ही गया तुम दोनो का हरामीपना मोम ने देखा है और अब वो अपने रूम मे सोने गयी है मुझे बोला है कि अपने चोदु भाई को समझा की इस लड़की की चूत ना मारे पर मोम को क्या पता कि हम कितने बड़े वाले कमीने है चल स्वीटी अब तू मुझसे सर्माना बंद कर और खुल कर 2 लंड्का मज़ा ले मोम तो अपने कमरे मे गयी अब डरने की कोई बात नही है
मोनू== यार ये बात ग़लत है तेरी पहले मैं मारूँगा इसकी तू बाद मे मारना
सोनू– अर्रे भाई ये पहले और बाद का चक्कर छोड़ साथ साथ ही करते है ना और सोनू ने अपनी लिंगी और कच्ची भी उतार डाली और नंगा हो गया उसका लंड भी 8″ का था पर अभी तना नही था वो अपने लॉड को हाथ से सहलाते हुए बेड पर चढ़ आया और उधर बाहर सपना फिर से खिड़की पर आ गयी थी क्योंकि उसको अपनी सौत की बेटी की चूत मे दो लंड घुसने का मौका फिर नही मिलने वाला था और आज वो अपने लड़कों की हक़ीकत भी जान गयी थी कि कितने चोदु है उसके बेटे जिनको वो बहुत ही सीधा समझती थी
स्वीटी== मोनू अब प्लज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़ मैं बहुत चुदासी हो चुकी हूँ तुम्हारा लंड भी चूस लिया और अपनी चूत भी तुमको चटवा चुकी हूँ अब रहा नही जा रहा अब बस डाल दो अपना लॉडा मेरी कुँवारी चूत मे फाड़ डालो मेरी चूत को आज कुछ भी हो जाए
सोनू== अर्रे ऐसे कैसे काम चलेगा अभी पहले मेरा तो लो मूह मे सरमाओ मत हम लोग तुमको आज पूरा मज़ा देंगे
स्वीटी ने सोनू का लंड पकड़ कर मूह मे डाल लिया और चूसने लगी और पीछे से मोनू उसकी चुतड़ों को चट रहा था उधर बाहर सपना की हालत खराब हो रही थी वो अपनी चूचियाँ ब्लाउस के उपर से ही मसले जा रही थी और फिर मोनू ने अपने हाथ से स्वीटी की गांद की दरार फैला कर अपनी जीभ उसके अंदर डाल दी और उधर स्वीटी सोनू का लॉडा मूह मे डाले चूसे जा रही थी और मोनू उसकी गांद मे अपनी जीभ डाल कर उसकी गांद चुसाई का मज़ा ले रहा था आख़िर सोनू का लंड खड़ा हो ही गया और अब वो स्वीटी के बाल पकड़ कर अपना लंड उसके मूह मे अंदर तक घुसेड रहा था
सोनू=== आआअहह स्वीटी और तेज़ झड़ने ही वाला हूँ आआआहह आआआआहह और झरझारा कर स्वीटी के मूह मे ढेर सारा रस उडेल दिया उसने स्वीटी ने अपना मूह हटाने की कोसिस भी की थी पर सोनू हरामी ने उसके बॉल पकड़ कर जड़ तक अंदर गुस्सा दिया था और 1 1 बूँद जब तक उसके रस की निकल नही गयी तब तक उसके होठ अपने लंड पर दबाए रहा आख़िर झड़ने के बाद सोनू बेड पर लूड़क गया और मोनू ने स्वीटी को पकड़ लिया और बाहर मोम अपने बेटों की करतूत देख रही थी और अंदर ही अंदर खुश भी हो रही थी कि आज उसकी सौत की बेटी की खैर नही मोनू बेड से उतर कर नीचे खड़ा हो गया और उसका लॉडा भी पूरे 9″ का डंडे की तराह खड़ा था अपने बेटे का तना हुआ लॉडा देख कर सपना भी सिहर गयी थी कि इतना बड़ा तो इसके बाप का भी नही था अनिल का लॉडा 7″ का ही था पर सपना सोच रही थी कि ये किस आसन से चोदेगा स्वीटी को…..मोनू ने स्वीटी को बेड पे खड़ा किया और उसकी चूत से अपने तने हुए लॉड का सेंटर मिला कर उसकी चूत पर रगड़ने लगा तो पीछे से सोनू बोला मोनू क्या तू इसको खड़े होकर अपने लंड पर बैठा कर झूला आसन से चोदेगा…?


मोनू— हां यार इस तराह बहुत मज़ा आता है लड़कियों को और सोनू को आँख मार दी
(क्योंकि किसी भी कुँवारी लड़की के लिए सबसे दर्दनाक यही आसन होता है इस आसान को बड़ी बड़ी चुड़दकड़ औरतें नही झेल पाती है) और सपना ने जब मोनू को इस आसान की तैयारी करते देखा तो वो भी मन ही मन अपने बेटे को दुआएँ देने लगी वो तो यही चाहती ही थी कि जितनी ज़्यादा से ज़्यादा तकलीफ़ मिले स्वीटी को उसको उतनी ही खुशी होगी मोनू ने अपने लंड को स्वीटी की चूत के मुहाने से लगा कर बेड से उठा लिया उसको और 1 झटके के साथ उसका लंड स्वीटी की चूत मे हल्की सी जगाह बना पाया पर स्वीटी के मूह से निकलने वाली चीख इतनी तेज़ थी कि मोनू और सोनू दोनो की गांद फट गयी सोनू बेड से उठा कर तुरंत उसके मूह पर हाथ रख कर बोला बहन की लॉडी मरवाएगी क्या अभी मोम आ जाएँगी तेरी चीख सुनकर और हम दोनो की वाट लगा देंगी
स्वीटी==== प्लज़्ज़्ज़्ज़्ज़ मुझे नीचे उतारो बहुत दुख रहा है प्लज़्ज़्ज़्ज़ आआआअहह मर जाउन्गि मैं प्लज़्ज़्ज़्ज़्ज़
मोनू ने अपने लंड को थोड़ा और अंदर करा और बेड की तरफ घूम गया उसका इसारा सोनू समझ गया और बेड पर लेट कर स्वीटी की चूत को चूमने लगा जिससे कि उसकी चूत थोड़ी गीली हो जाए और मोनू अपना काम आसानी से कर सके आख़िर दोनो ही उस्ताद थे और बाहर खड़ी सपना अपनी साँसे और अपने हाथ चूत पर रख कर अंदर का नज़ारा देख रही थी
स्वीटी== आआहह प्लज़्ज़्ज़्ज़्ज़ भगवान के लिए छोड़ दो बहुत दर्द हो रहा है उउउफफफफफ्फ़ माआआ आआआअहह मोनू अपना लंड और अंदर करता जा रहा था और स्वीटी की कराहते और बढ़ती जा रही थी उसकी आँख से आँसू बह रहे थे पर मोनू पे कोई फ़र्क नही पड़ रहा था और पहले तो सपना को भी बहुत मज़ा आ रहा था कि उसकी सौत की बेटी की चूत फाडी जा रही पर जब उसने देखा कि स्वीटी की हालत खराब होती जा रही है और मोनू रुकने का नाम नही ले रहा तो वो भी घबदाने लगी कि अब क्या करे कहीं कुछ गड़बड़ ना हो जाए और इधर स्वीटी की हालत खराब होती जा रही थी वो पूरी तराह से सिसकियाँ ले कर रोने लगी थी प्लज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़ मुझे छोड़ दो आआआहह माआआ बहुत दर्द हो रहा है अब और अंदर ना डाआलो प्लज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़ आआआआआहह मर गयीईई ऊऊऊपप्प्प्प्प्प्सससस आआआयययययीीई और मोनू अपने लंड को 1 झटके के साथ पूरा का पूरा अंदर डालने मे कामयाब हो ही गया और 1 जोरदार चीख के साथ ही स्वीटी बेहोश हो गयी पर मोनू को कोई फ़र्क नही पड़ा वो उसको उसी तराह बाहों मे ले कर उछालता जा रहा था और स्वीटी की गर्दन 1 तरफ लूड़क चुकी थी जब ये सपना ने देखा तो उसकी गांद फट गयी और वो फटाफट मोनू के रूम की तरफ भागी भड़ाक से दरवाजा खोल कर गुस्से मे बोली
सपना— कमीने हरामजादे क्या मार कर ही निकालेगा अपना बाहर बहन के लॉड देख नही रहा उसकी गर्दन लुढ़क गयी है बेचारी बेहोश हो चुकी है और भोसड़ी के सोनू मैने तुझे भेजा था कि जा कर अपने भाई को समझा और तू खुद ही यहाँ चूत के चक्क्कर मे लग गया आने दो अपने बाप को गांद फड़वाती हूँ तुम दोनो की उतार नीचे बच्ची को हरामी
मोम को इतने गुस्से मे और अपने को इस हाल मे देख कर दोनो की गांद फट चुकी थी
मोनू ने धीरे से स्वीटी को बेड पर लिटाया और उसकी चूत से अपना लॉडा जब बाहर निकाला तो खून से सना हुआ था उसका लॉडा और स्वीटी की चूत भी खून से सनी थी
सपना– चल बाथ रूम मे जाकर धोकर आ देख क्या हाल कर दिया बच्ची का
कुछ देर बाद सपना अपने दोनो बेटों के साथ वहीं बेड पर बैठी थी और स्वीटी अभी भी बेहोश थी और अभी भी सपना ने उसके जिस्म पर कपड़े नही डाले थे उसकी चूत पर पानी गर्म करके सिकाई कर रही थी और दोनो बेटे देख रहे थे कुछ ही दर्द मे स्वीटी को होश आ गया और सपना को देखते ही वो चिपेट गयी उससे

स्वीटी== आंटी प्लज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़ मुझे बचा लीजिए प्लज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़ आंटी बचा लीजिए मुझे वरना ये मोनू मार डालेगा मुझे प्लज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़ बहुत दर्द हो रहा है मुझे
सपना=== बेटी घबरा मत अब मैं हूँ यहाँ और तू आराम से लेट जा अब कोई कुछ नही कहेगा तुझे अभी तेरी चूत की मालिश कर देती हूँ तब आराम मिल जाएगा
हां तो दोस्तों इसके बाद थोड़ी मालिश के बाद खुद सपना ने अपनी मौजूदगी मे ही स्वीटी को अपने बेटों से चुदवाया
तो देखा दोस्तो इंसान की फितरत कैसी होती है दोस्तो फिर मिलेंगे किसी नई कहानी के साथ आपका दोस्त राज शर्मा समाप्त--------